Monday, August 2, 2021
Homeफ़ैक्ट चेकराजदीप सरदेसाई ने गोवा में पर्यटकों की संख्या को लेकर दिए गलत आँकड़े

राजदीप सरदेसाई ने गोवा में पर्यटकों की संख्या को लेकर दिए गलत आँकड़े

गोवा पर्यटन विभाग के आंकड़ों के अनुसार साल 2017 में 2016 के मुकाबले 23 प्रतिशत ज्यादा पर्यटक आए।

अपने आप को ‘गिद्ध’ बताने वाले पत्रकार राजदीप सरदेसाई सच्चाई को तोड़-मरोड़ कर पेश करने और सही डाटा में छेड़-छाड़ करने के लिए जाने जाते हैं। इस बार भी उन्होंने कुछ ऐसा ही किया है। राजदीप सरदेसाई ने एक झूठा आंकड़ा देते हुए बताया है कि गोवा में पर्यटकों की संख्या घट रही है।

राजदीप सरदेसाई ने बिना किसी सोर्स के जिक्र किये एक आंकड़े को ट्वीट किया जिसमे उन्होंने कहा है कि गोवा में इस साल पर्यटकों की संख्या 30 प्रतिशत घट गई है। वो यही नहीं रुके बल्कि उन्होंने आगे इसके लिए केंद्र सरकार को दोष देते हुए कहा की नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा होटल सर्विस पर जीएसटी के दर बढ़ाने और हवाई यात्रा के किराए में वृद्धि करने के कारण पर्यटक अब गोवा में नहीं आ रहे। हाँ, उन्होंने अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप अपनी इस बात को भी साबित करने के लिए ना तो किसी डाटा का जिक्र किया ना ही किसी सोर्स का।

इसके बाद संजीव कपूर जो कि विस्तारा एयरलाइन्स के मुख्य स्ट्रेटेजी और कमर्शियल अधिकारी हैं, ने राजदीप सरदेसाई को को अपनी कंपनी की प्रगति के बारे में बता कर करारा जवाब दिया। संजीव कपूर ने कहा कि हमारे फ्लाइट से गोवा आने वाले यात्रियों में कोई कमी नहीं आई है। उन्होंने ये भी कहा की सरदेसाई के दावे के उलट उन्हें इस साल पर्यटकों की संख्या को देखते हुए अपने विमानों की वृद्धि करनी पड़ी।

गोवा के पर्यटन विभाग के आंकड़े भी राजदीप सरदेसाई के झूठे दावों की पोल खोलते हैं। गोवा पर्यटन विभाग के आंकड़ों के अनुसार पिछले साल गोवा आने वाले पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। इन आंकड़ों में बताया गया है कि साल 2016 में गोवा पहुँचने वाले पर्यटकों की संख्या 63.3 लाख थी जबकि 2017 में ये आंकड़ा 23 प्रतिशत बढ़ कर 78 लाख हो गया। अगर हम 2018 के पहले पांच महीने के आंकड़ों को देखें तो पता चलता है कि 31 लाख पर्यटकों ने गोवा में कदम रखा जो की पिछले साल के आंकड़ों के सामान ही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वीर सावरकर के नाम पर फिर बिलबिलाए कॉन्ग्रेसी; कभी इसी कारण से पं हृदयनाथ को करवाया था AIR से बाहर

पंडित हृदयनाथ अपनी बहनों के संग, वीर सावरकर द्वारा लिखित कविता को संगीतबद्ध कर रहे थे, लेकिन कॉन्ग्रेस पार्टी को ये अच्छा नहीं लगा और उन्हें AIR से निकलवा दिया गया।

‘किताब खरीद घोटाला, 1 दिन में 36 संदिग्ध नियुक्तियाँ’: MGCUB कुलपति की रेस में नया नाम, शिक्षा मंत्रालय तक पहुँची शिकायत

MGCUB कुलपति की रेस में शामिल प्रोफेसर शील सिंधु पांडे विक्रम विश्वविद्यालय में कुलपति थे। वहाँ पर वो किताब खरीद घोटाले के आरोपित रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,635FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe