Wednesday, April 17, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक₹6000 इनाम दे रहा भारतीय रेलवे... देना होगा सिर्फ 4 सवालों का जवाब: वायरल...

₹6000 इनाम दे रहा भारतीय रेलवे… देना होगा सिर्फ 4 सवालों का जवाब: वायरल है यह मैसेज, जानें सच्चाई

साथ में एक तस्वीर लगी है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ट्रेन को हरी झंडी दिखा रहे हैं। चार सवालों में से पहला सवाल है...

सोशल मीडिया पर भारतीय रेलवे को लेकर कुछ दावे वायरल हो रहे हैं, जिसे लेकर आधिकारिक रूप से सफाई दी गई है। दरअसल, लोगों को एक वेबसाइट से इनाम जीतने के मैसेज आ रहे हैं, जो देखने में भारतीय रेलवे की ही वेबसाइट लगती है। इसमें भारतीय रेलवे का ही लोगों और टैगलाइन लगा हुआ है। साथ ही एक तरफ तारीख़ लिखी रहती है। ऊपर ‘इंडियन रेलवेज गवर्नमेंट ट्रांसपोर्ट सब्सिडी’ लिखा हुआ आ रहा है। व्हाट्सएप्प फॉरवर्ड में भी इस तरह की चीजें वायरल हो रही हैं।

साथ ही बड़े-बड़े अक्षरों में ‘Congratulations’ लिखा हुआ आ रहा है। इसमें बताया गया है कि कुछ प्रश्नों के सही-सही जवाब देने के बाद आपके पास 6000 रुपए जीतने का मौका होगा। साथ में एक तस्वीर लगी है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ट्रेन को हरी झंडी दिखा रहे हैं। चार सवालों में से पहला सवाल है – “क्या आप भारतोय रेलवे को जानते हैं?” साथ ही ‘Yes’ और ‘No’ के विकल्प दिए गए हैं। आइए, आपको बताते हैं इसकी सच्चाई क्या है। हमारे कुछ पाठकों ने ही इसके विवरण भेज कर हमसे इसकी सच्चाई जानने की कोशिश की, जिसके बाद हमने इसकी पड़ताल की।

दरअसल, भारतीय रेलवे ने खुद इसका स्क्रीनशॉट शेयर कर के बताया है कि ये एकदम फेक है। भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट ‘https://indianrailways.gov.in‘ है और इसके अलावा ‘https://www.irctc.co.in‘ से टिकट की बुकिंग होती है। आधिकारिक या सरकारी वेबसाइट्स से जो भी चीजें आती हैं, केवल वही प्रमाणित हैं। इसीलिए, ऐसे मैसेज जिस साइट पर आ रहे हैं उन्हें अच्छे से चेक कर लें।

केंद्रीय रेल मंत्रालय ने कहा है कि लोग फेक वेबसाइटों से सतर्क और सावधान रहें। मंत्रालय ने कहा, “इन कपटपूर्ण वेबसाइटों से सावधान रहें, जो भारतीय रेलवे की तरफ से सब्सिडी और इनाम में रुपए ऑफर कर रहे हैं। पुष्ट जानकारी केवल हमारी आधिकारिक वेबसाइट से ही मिलेगी।” बता दें कि अक्सर व्हाट्सएप्प वगैरह के जरिए इस तरह के सन्देश वायरल होते रहते हैं। PIB ने भी इसे फेक लॉटरी मैसेज बताते हुए स्कैम करार दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe