Monday, June 24, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेकराम मंदिर के पुजारी मोहित पांडे की महिला के साथ 'गंदी' फोटो, कॉन्ग्रेसी नेता...

राम मंदिर के पुजारी मोहित पांडे की महिला के साथ ‘गंदी’ फोटो, कॉन्ग्रेसी नेता ने फैलाई… वायरल कर रहे वामपंथी: जानिए सच, एक्शन में अयोध्या पुलिस

गुजरात कॉन्ग्रेस के अनुसूचित मोर्चा के मुखिया हितेन पिठादिया ने आपत्तिजनक फोटो डालते हुए लिखा, "इसको अयोध्या राम मंदिर का पुजारी बना रहे हैं?"

अयोध्या में बन रहे रामलला के मंदिर के लिए गाजियाबाद के मोहित पांडे को मंदिर का पुजारी नियुक्त किया गया है। उनके पुजारी नियुक्त किए जाने के बाद से लगातार उनके खिलाफ घृणा अभियान चलाया जा रहा है। कुछ ट्विटर हैंडल्स उनके नाम पर फर्जी फोटो भी वायरल कर रहे हैं। मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए कुख्यात कॉन्ग्रेस पार्टी के नेता ने भी हिंदू-घृणा दिखाते हुए पुजारी मोहित पांडे की ‘गंदी’ और फर्जी फोटो शेयर की।

गुजरात कॉन्ग्रेस के अनुसूचित मोर्चा के मुखिया हितेन पिठादिया वो कॉन्ग्रेसी नेता हैं, जिन्होंने राम मंदिर के नवनियुक्त पुजारी मोहित पांडे को लेकर गंदा और फर्जी ट्वीट किया। इस ट्वीट में एक व्यक्ति एक महिला के साथ आपत्तिजनक हालत में है। हितेन ने दावा किया कि यह व्यक्ति नवनियुक्त पुजारी मोहित पांडे हैं।

हितेन ने आपत्तिजनक फोटो डालते हुए लिखा, “इसको अयोध्या राम मंदिर का पुजारी बना रहे हैं?” हितेन द्वारा डाले गए फोटो में माथे पर तिलक और चन्दन लगाए हुए एक व्यक्ति एक महिला के साथ आपत्तिजनक हालात में है। एक अन्य फोटो में दोनों एक दूसरे से चिपके हुए दिखाई देते हैं।

हितेन पिठादिया का मोहित पांडे के विषय में ट्वीट
हितेन पिठादिया का ट्वीट

दरअसल, अयोध्या के नवनियुक्त पुजारी मोहित पांडे की भी जो फोटो सामने आई है, उसमें भी वह तिलक और चन्दन लगाए हुए दिखते हैं। ऐसे में जो फोटो वायरल किया जा रहा है, उसमें मात्र तिलक-चन्दन लगाने के आधार पर दोनों में समानताएँ बताकर अफवाह फैलाने का प्रयास किया गया कि यह नवनियुक्त पुजारी मोहित पांडे हैं।

इस फोटो को अन्य कई हैंडल भी नवनिर्मित राम मंदिर और हिन्दुओं को ठेस पहुँचाने के लिए लगातार ट्वीट कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर हिंदू-घृणा से सने अन्य कुछ हैंडल के स्क्रीनशॉट नीचे लगाए गए हैं। सब के सब पुजारी मोहित पांडे के बारे में द्वेषपूर्ण जानकारी फैलाते पाए गए हैं।

हितेन पिठादिया का मोहित पांडे के विषय में ट्वीट

राम मंदिर के पुजारी मोहित पांडे और अश्लील फोटो: क्या है सच

दोनों फोटो को देखने पर ही पता चल जाता है कि कॉन्ग्रेस नेता हितेन पिठादिया द्वारा डाले गए फोटो में दिखने वाला व्यक्ति कोई और है। स्पष्ट अंतर के बावजूद हितेन ने केवल श्रीराम मंदिर और नवनियुक्त पुजारी मोहित पांडे के खिलाफ दुर्भावना के चलते ही जानबूझ फर्जी फोटो को शेयर किया। इस तरह के फोटो का फैक्ट चेक करने के लिए खुली आँख और प्रोपेगेंडा-रहित दिमाग होना चाहिए। इसमें नासा-टाइप न तो टेक्नॉलजी की जरूरत है न ही गूगल के रिवर्स-इमेजिंग की।

इस फर्जी फोटो पर कड़े विरोध के बाद कॉन्ग्रेस नेता हितेन पिठादिया ने अपना ट्वीट डिलीट कर लिया है। लेकिन जो काम उसे करना था, वो हो गया – राम मंदिर को लेकर अफवाह फैल गई, हिंदू-घृणा के कारण उसके मुख्य पुजारी को टारगेट कर दिया गया। अब अयोध्या पुलिस ने इस मामले में जाँच के आदेश दे दिए हैं। अयोध्या पुलिस ने ट्विटर पर सूचित किया है कि उनका साइबर विभाग इस मामले में जाँच और आवश्यक कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।

कौन हैं पुजारी मोहित पांडे?

रामलला के मंदिर के लिए मुख्य पुजारी नियुक्त किए गए मोहित पांडे को कड़ी परीक्षा के बाद यहाँ पुजारी नियुक्त किया गया है। मोहित पांडे ने गाजियाबाद के दूधेश्वर वेद विद्यापीठ में सात साल तक अध्ययन किया है।

मोहित पांडे ने तिरुपति स्थित तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम से संबद्ध श्री वेंकटेश्वर वैदिक विश्वविद्यालय से शास्त्री (स्नातक) की उपाधि हासिल की। इसी साल (2023 में ही) उन्होंने सामवेद का अध्ययन करते हुए मास्टर डिग्री हासिल की। वह रामानंदीय परंपरा के विद्वान भी हैं और उन्हें वेद, शास्त्र और संस्कृत में विशेषज्ञता भी प्राप्त है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार में EOU ने राख से खोजे NEET के सवाल, परीक्षा से पहले ही मोबाइल पर आ गया था उत्तर: पटना के एक स्कूल...

पटना के रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल छपरा स्थित लर्न बॉयज हॉस्टल एन्ड प्ले स्कूल में आंशिक रूप से जले हुए कागज़ात भी मिले हैं।

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -