Friday, July 30, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनसुशांत को धोनी की सफलता का घमंड हो गया था: अनुराग कश्यप ने दिवंगत...

सुशांत को धोनी की सफलता का घमंड हो गया था: अनुराग कश्यप ने दिवंगत अभिनेता को बताया गैर पेशेवर

"सुशांत को बड़े बैनर के नीचे अपनी पहचान बनानी थी। मैं जो फिल्म कर रहा था उसे छोड़कर ड्राइव फिल्म करने की वजह यही थी कि उन्हें धर्मा के साथ काम करना ज्यादा पसंद था। अब लोग उसकी मौत का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि हर किसी को नीचा दिखा सके।"

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की दुखद मौत के बाद उनकी आखिरी फ़िल्म ‘दिल बेचारा’ पॉपुलर ओवर द टॉप (OTT) मीडिया प्लेटफार्म पर रिलीज होने वाली है। इस फ़िल्म के रिलीज से पहले फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप ने सुशांत सिंह पर निशाना साधते हुए उनके खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्हें गैर पेशेवर बताया है।

कश्यप ने बॉलीवुड के टैबलॉयड फिल्मफेयर को दिए इंटरव्यू में आरोप लगाया कि सुशांत सिंह राजपूत को फिल्म “एमएस धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी” की शानदार सफलता का घमंड हो गया था। कश्यप ने दावा किया कि उन्होंने एमएस धोनी की रिलीज़ से पहले सुशांत को “मुक्काबाज़” की कहानी सुनाई थी, लेकिन धोनी के सुपरहिट होने के बाद, सुशांत ने कभी फोन नहीं किया। इसके बाद उन्हें उनके बिना “मुक्काबाज़” करना पड़ा।

फिल्मफेयर ने अनुराग के हवाले से कहा, “कुछ साल बाद 2016 में MS Dhoni: The Untold Story की रिलीज़ से पहले मैंने एक स्क्रिप्ट लिखी थी। उसे लेकर मुकेश ने सुशांत से जाकर कहा कि अनुराग ने एक स्क्रिप्ट लिखी है और वह एक ऐसे ऐक्टर की तलाश कर रहे हैं जो यूपी बेस्ड किरदार को निभा सके। सुशांत ने स्क्रिप्ट सुनी। फिर धोनी रिलीज़ हुई और सफल भी रही, लेकिन उन्होंने कभी फोन नहीं किया। मैं अपसेट नहीं था, आगे बढ़ा और फिर मैंने मुक्काबाज की। यह किसी को परेशान करने जैसा नहीं है। मुझे इसकी आदत है।”

अनुराग ने आगे कहा कि आउटसाइडर हमेशा बड़े बैनर की फिल्मों की तरफ आकर्षित रहते हैं और सुशांत भी ऐसे ही थे। उन्होंने दावा किया कि राजपूत ने उनकी फिल्म ‘हंसी तो फंसी’ को छोड़कर YRF की फिल्म ‘शुद्ध देसी रोमांस’ के लिए हाँ कर दिया था।

कश्यप ने कहा, “मुकेश छाबड़ा उस वक्त मेरे ऑफिस से काम करते थे। हम ‘हंसी तो फंसी’ को लेकर चर्चा कर रहे थे। हमने सुशांत सिंह राजपूत के साथ शुरुआत की और फिर परिणीति चोपड़ा से संपर्क किया। लेकिन सुशांत ने हमारी फिल्म छोड़ YRF की शुद्ध देसी रोमांस के साथ काम करने की डील पक्की कर ली। हंसी तो फंसी एक आउटसाइडर की फिल्म थी और सुशांत को YRF की फिल्म चाहिए थी।”

कश्यप ने आगे कहा, “सुशांत को बड़े बैनर के नीचे अपनी पहचान बनानी थी। मैं जो फिल्म कर रहा था उसे छोड़कर ड्राइव फिल्म करने की वजह यही थी कि उन्हें धर्मा के साथ काम करना ज्यादा पसंद था। अब लोग उसकी मौत का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि हर किसी को नीचा दिखा सके।”

गौरतलब है कि सुशांत की आत्महत्या ने बॉलीवुड के पर्दे के पीछे की सच्चाई को सामने ला दिया हैं। कई बड़े एक्टर, फेमस सेलेब्रिटीज़ से जुड़ी कई बातें सामने आ रही हैं। आए दिन लोग नेपोटिज्म को लेकर भी खुलकर बात कर रहे हैं। उनकी अचानक मौत से उनके प्रशंसकों और कंगना रनौत जैसी अन्य हस्तियों में नाराजगी फैल गई, जिन्होंने आरोप लगाया कि बॉलीवुड के दिग्गजों की इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद को बढ़ावा देने के कारण सुशांत सिंह राजपूत ने अपना जीवन समाप्त करने का इतना कठोर निर्णय लिया।

उल्लेखनीय है कि बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने रविवार (जून 14, 2020) को मुंबई के अपने घर में आत्महत्या कर ली थी। उनकी मौत उनके साथियों व प्रशंसकों के लिए किसी सदमे से कम नहीं है। आज भी सुशांत की आत्महत्या से हर कोई हैरान, स्तब्ध है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘2 से अधिक बच्चे तो छीन लें आरक्षण और वोटिंग का अधिकार’: UP के जनसंख्या नियंत्रण कानून के पक्ष में 97% लोग

जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर उत्तर प्रदेश विधि आयोग को मिले सुझाव में से ज्यादातर में सख्त कानून का समर्थन किया गया है।

रोज के ₹300, शराब के साथ शबाब भी: देह व्यापार का अड्डा बना टिकरी बॉर्डर, टेंट में नंगे पड़े रहते हैं ‘किसान’

किसान आंदोलन के नाम पर फर्जी किसान टीकरी बॉर्डर शराब और लड़कियों के साथ झाड़ियों के पीछे अय्याशी करते देखे जा सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,980FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe