Wednesday, May 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनआर्यन खान को बॉम्बे हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, अब हर शुक्रवार को...

आर्यन खान को बॉम्बे हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, अब हर शुक्रवार को NCB के दफ्तर में नहीं लगानी होगी हाजिरी

क्रूज ड्रग्स केस की जाँच अब दिल्ली एनसीबी के पास है। ऐसे में कोर्ट (Bombay High Court) के आदेशानुसार, आर्यन से पूछताछ और जाँच में सहयोग की जरूरत होने पर अधिकारी उसे 72 घंटे पहले नोटिस देकर बुला सकते हैं।

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान (Shah rukh Khan) के बेटे आर्यन खान को मुंबई ड्रग्स केस (Mumbai Drugs Case) में बॉम्बे हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। अब आर्यन खान (Aryan Khan) को हर हफ्ते शुक्रवार को एनसीबी ऑफिस (NCB Office) में हाजिरी के लिए पेश होने की आवश्यकता नहीं होगी। इस संबंध में आर्यन खान ने बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी, याचिका पर सुनवाई के दौरान अदालत ने यह आदेश दिया है।

क्रूज ड्रग्स केस की जाँच अब दिल्ली एनसीबी के पास है। ऐसे में कोर्ट (Bombay High Court) के आदेशानुसार, आर्यन से पूछताछ और जाँच में सहयोग की जरूरत होने पर अधिकारी उसे 72 घंटे पहले नोटिस देकर बुला सकते हैं।

क्रूज शिप ड्रग मामले के मुख्य आरोपित आर्यन खान ने जमानत की शर्तों में छूट के लिए 10 दिसंबर को बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। आर्यन ने कोर्ट में कहा था कि वे हर शुक्रवार को NCB के ऑफिस में हाजिरी लगाने के लिए पेश हुए हैं, इसी शर्त पर उनकी जमानत की शर्त में ढील दी जाए।

बता दें कि शाहरुख खान के बेटे ने याचिका दायर कर कहा था कि ड्रग्स मामले की जाँच अब दिल्ली NCB की खास टीम को सौंप दी गई है। इसीलिए उन्हें अब मुंबई NCB ऑफिस में पेश होने की शर्त में ढील दी जाए, क्योंकि एनसीबी ऑफिस (NCB Office) के बाहर बड़ी संख्या में मीडियाकर्मियों की मौजूदगी में उन्हें पुलिस के साथ एनसीबी ऑफिस जाना पड़ता है। इस दौरान उनके बड़ी संख्या में फोटो खींचे जाते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -