Tuesday, October 19, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनरैपर बादशाह से मुंबई पुलिस ने पूछे 238 सवाल, 175 सितारों ने पैसे देकर...

रैपर बादशाह से मुंबई पुलिस ने पूछे 238 सवाल, 175 सितारों ने पैसे देकर बनाए फेक फॉलोवर्स: 50 कंपनी फर्जीवाड़े में शामिल

कुछ समय पहले ही मुंबई पुलिस ने सोशल मीडिया पर फर्जी फॉलोवर उपलब्‍ध कराने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया था। इसके बाद कई सेलेब्रिटीज़ द्वारा फर्जी फॉलोवर्स खरीदने का पर्दाफाश हुआ था। पुलिस ने फर्जी फॉलोवर्स बढ़ाने के इस खेल में 50 से अधिक फर्म्स कंपनियों का पता लगाया था।

फेक फॉलोवर्स घोटाले में शुक्रवार को मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रैपर बादशाह से पूछताछ की। उनसे करीब 238 सवाल ​किए गए। सोशल मीडिया पर फेक फॉलोवर्स बनाने के इस मामले में क्राइम ब्रांच ने गुरुवार (6 अगस्त, 2020) को भी बादशाह को तलब किया था।

बादशाह बॉलीवुड के पहले सेलिब्रिटी हैं जिनसे इस घोटाले को लेकर पूछताछ की गई है। संयोग से इसी समय सोशल मीडिया पर बादशाह को ‘अनफॉलो’ (Unfollow) करने वालों की संख्‍या में तेजी से इजाफा हुआ है। इसे देखते हुए क्राइम ब्रांच ने रैपर से उनके सभी फॉलोवर्स की सूची माँगी है।

हालाँकि बादशाह के रैप बेहद लोकप्रिय हैं। यूट्यूब पर उनके वीडियो लाखों लोग देखते हैं। लेकिन अजीब बात है कि इन गानों पर बहुत ही कम कमेंट किए गए है। मुंबई पुलिस ने उनसे इस संबंध में भी पूछताछ की है।

कथित तौर पर रैपर ने दावा किया था कि उनके गाने ‘पागल’ को एक दिन में 75 मिलियन यानी कि 7.5 करोड़ बार देखा गया था। हालाँकि यह दावा अब गूगल ने खारिज कर दिया है।

क्राइम ब्रांच अब उनके दावों के साथ-साथ व्यूज और कमेंट्स के बीच असमानता के कारणों की भी जाँच करेगी। इसके अलावा 175 अन्य हाई-प्रोफाइल सितारे हैं जिन्होंने कथित तौर पर सोशल मीडिया पर पैसे देकर फर्जी फॉलोवर्स बढ़ाए हैं।

गौरतलब है कि यह मामला तब सामने आया जब बॉलीवुड सिंगर भूमि त्रिवेदी ने सोशल मीडिया पर अपनी फर्जी प्रोफाइल मामले को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी।

उल्लेखनीय है कि कुछ समय पहले ही मुंबई पुलिस ने सोशल मीडिया पर फर्जी फॉलोवर उपलब्‍ध कराने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया था। इसके बाद कई सेलेब्रिटीज़ द्वारा फर्जी फॉलोवर्स खरीदने का पर्दाफाश हुआ था। पुलिस ने फर्जी फॉलोवर्स बढ़ाने के इस खेल में 50 से अधिक फर्म्स कंपनियों का पता लगाया था। ये सोशल मीडिया पर फॉलोवर्स, लाइक और कमेंट बेचने के धंधे में शामिल थे।

क्राइम ब्रांच की सेंट्रल इंटेलिजेंस यूनिट (CIU) ने 14 जुलाई को अभिषेक दावडे को गिरफ्तार किया था, जो इसी तरह की सर्विस लोगों को देता था। 21 वर्षीय अभिषेक अपने ग्राहकों की सोशल मीडिया अकाउंट पर इंगेजमेंट बढ़ाने के लिए बॉट्स (bots) या फर्जी प्रोफाइल का उपयोग कर रहा था। दावडे इन सब कामों के लिए 170 से ज्यादा अकाउंट्स का इस्तेमाल करता था। इन अकाउंट्स को ओरिजनल दिखाने के लिए अभिषेक ने इनमें पाँच लाख से ज्यादा फॉलोवर्स जोड़ रखे थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रतिकार का आरंभ: 8 महीने से सूरत में लाउडस्पीकर पर सुबह-शाम बजती है हनुमान चालीसा, सत्संग भी हर शनिवार

स्थानीयों का कहना कि अन्य मजहब के लोग प्रार्थना समय में लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करते हैं और किसी भी उठने वाली आपत्ति का मजाक बनाकर उसे नीचा दिखाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe