Sunday, July 14, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'द कश्मीर फाइल्स कचरा, ये ऑस्कर में गई तो शर्मिंदा होगा भारत': कनाडा के...

‘द कश्मीर फाइल्स कचरा, ये ऑस्कर में गई तो शर्मिंदा होगा भारत’: कनाडा के फिल्मकार ने कहा- यह नफरत फैलाने वाली फिल्म है

“यह नफरत फैलाने वाली फिल्म है, जिसमें कलात्मक योग्यता के नाम पर कचरा है। अगर यह फिल्म 'न्यूट्रल' बोर्ड द्वारा 'चयनित' की जाती है, तो यह भारत के लिए एक और शर्मिंदगी होगी।"

बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप के बाद अब कनाडा के एक फिल्मकार ने कहा है कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ को ऑस्कर के लिए नहीं भेजा जाना चाहिए। इस फिल्मकार का नाम है- डायलन मोहन ग्रे (Dylon Mohan Gray)। ग्रे ने इसे नफरत फैलाने वाली फिल्म बताते हुए कहा है कि इसे ऑस्कर में भेजने पर भारत को शर्मिंदगी झेलनी पड़ेगी। वैसे कश्मीरी हिंदुओं की पीड़ा को पर्दे पर उभारने वाली ‘The Kashmir Files’ के लिए गिरोह विशेष की ये नफरत नई नहीं है।

मार्च में रिलीज हुई विवेक अग्निहोत्री की ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने रिकॉर्ड तोड़ कमाई की थी। देश-विदेश में चर्चा का विषय रही इस फिल्म को आम लोगों ने भी काफी सराहा था। लेकिन कनाडा के फिल्ममेकर डायलन ग्रे ने इस फिल्म को कचरा बताया है

बुधवार (17 अगस्त 2022) को डायलन ग्रे ने ट्वीट कर कहा, “यह नफरत फैलाने वाली फिल्म है, जिसमें कलात्मक योग्यता के नाम पर कचरा है। अगर यह फिल्म ‘न्यूट्रल’ बोर्ड द्वारा ‘चयनित’ की जाती है, तो यह भारत के लिए एक और शर्मिंदगी होगी। अनुराग कश्यप तो बस उसे बचाने की कोशिश कर रहे हैं, जो देश के नाम पर कुछ अच्छा बचा है।” अपने इस ट्वीट में उन्होंने हैशटैग ‘यू आर वेलकम’ और ‘द कश्मीर फाइल्स’ का इस्तेमाल किया। 

डायलन ग्रे ने यह बात विवेक अग्निहोत्री के उस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कही जो उन्होंने अनुराग कश्यप के रिएक्शन के बाद जवाब देते हुए किया था। विवेक अग्निहोत्री ने इस ट्वीट में कहा था, “नरसंहार को नकारने वाले बॉलीवुड का दुष्ट गिरोह ने ‘दोबारा’ के निर्माता के नेतृत्व में ‘द कश्मीर फाइल्स’ को ऑस्कर में भेजे जाने के खिलाफ अपना अभियान शुरू कर दिया है।”

अनुराग कश्यप ने ‘दोबारा’ के प्रमोशन के दौरान कहा था कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ को ऑस्कर एंट्री के लिए नहीं भेजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि भारत अगर ‘RRR’ को ऑस्कर के लिए आधिकारिक एंट्री के रूप में भेजता है तो ‘बेस्ट इंटरनेशनल फीचर’ कैटेगरी में नॉमिनेशन सुरक्षित करने के चांसेज काफी ज्यादा हैं। साथ ही यह भी कहा था कि एसएस राजामौली द्वारा निर्देशित इस फिल्म के वो कोई बड़े फैन नहीं हैं। अनुराग कश्यप की ही लाइन पर बोलते हुए डायलन ग्रे ने ‘आरआरआर’ को निम्न स्तर का बताया। बता दें कि डायलन मोहन ग्रे ने बाद में अपना यह ट्वीट डिलीट कर दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -