Friday, October 7, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजन'गंगूबाई काठियावाड़ी': जिस महिला पर बना रहे हैं फिल्म, उसके ही परिजनों ने भंसाली...

‘गंगूबाई काठियावाड़ी’: जिस महिला पर बना रहे हैं फिल्म, उसके ही परिजनों ने भंसाली और आलिया पर किया मुकदमा

ये मुकदमा मंगलवार को गंगूबाई के परिजनों ने दर्ज करवाया। कोर्ट ने दोनों फ़िल्मी हस्तियों से कहा है कि वो जनवरी 7, 2021 तक जवाब दें। इस फिल्म को हुसैन जैदी की पुस्तक 'माफिया क्वींस ऑफ मुंबई' के आधार पर बनाया जा रहा है।

संजय लीला भंसाली की अगली फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ विवादों में फँस गई है। इस फिल्म में आलिया भट्ट मुख्य किरदार में हैं। बॉम्बे सिविल कोर्ट में इन दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जिस पर ये फिल्म बन रही है, उसके ही परिवार वालों ने निर्देशक और अभिनेत्री को मुकदमे में घसीटा है। गंगूबाई काठियावाड़ी के परिवार वालों ने फिल्म की कहानी पर आपत्ति जताते हुए इसे बदलने की माँग की है।

ये मुकदमा मंगलवार (दिसंबर 22, 2020) को गंगूबाई के परिजनों ने दर्ज करवाया। कोर्ट ने दोनों फ़िल्मी हस्तियों से कहा है कि वो जनवरी 7, 2021 तक जवाब दें। इस फिल्म को हुसैन जैदी की पुस्तक ‘माफिया क्वींस ऑफ मुंबई’ के आधार पर बनाया जा रहा है। फ़िलहाल फिल्म की शूटिंग भी चल रही है, ऐसे में ये नया विवाद निर्माताओं की परेशानी बढ़ा सकता है। इसके निर्माता भी संजय लीला भंसाली ही हैं।

गंगूबाई काठियावाड़ी 60 के दशक में मुंबई के अपराध जगत में एक बहुत बड़ा नाम थी। कहा जाता है कि उनके पति ने उन्हें मात्र 500 रुपए के लिए बेच डाला था। इसके बाद वो वेश्यावृत्ति में लिप्त हो गई थी। कहा जाता है कि उन्होंने मजबूर लड़कियों के लिए भी काफी अच्छे काम किए थे। फिल्म में उनके किरदार में आलिया भट्ट को रखा गया है। पहली बार गैंगस्टर का किरदार निभा रहीं आलिया की संजय लीला भंसाली के साथ भी ये पहली फिल्म है।

इस फिल्म में अजय देवगन भी मेहमान भूमिका में नजर आएँगे। फिल्म को दो हिस्सों में विभाजित किया गया है, जिसमें से एक हिस्सा विभाजन से पहले का होगा और एक हिस्सा उसके बाद का। इसमें आठवें दशक तक की खाने दिखाई जानी है। ये फिल्म सितम्बर 2020 में ही रिलीज होने वाली थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण अब ये 2021 में आएगी। हाल ही में भंसाली के साथ 3 फ़िल्में कर चुकीं दीपिका पादुकोण भी इस फिल्म के सेट पर उनसे मिलने गई थीं।

इससे पहले ‘पद्मावती’ के निर्माण के दौरान भी संजय लीला भंसाली विवादों में फँसे थे। तब ‘करणी सेना’ के कार्यकर्ताओं ने उनकी पिटाई भी की थी। सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या के बाद भी फिल्म निर्माताओं आदित्य चोपड़ा और संजय लीला भंसाली के बयान लिए गए थे। जिसके बाद दोनों के बयान में अंतर देखने को मिला था। संजय लीला भंसाली से मुंबई पुलिस ने पूछताछ भी की थी। तब सुशांत के पिता ने पटना में केस दायर नहीं किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिन वीर सावरकर को ‘देशद्रोही’ बुलाते रहे राहुल गाँधी, उनके पोस्टर ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में फिर दिखे: कॉन्ग्रेस ने पल्ला झाड़ा, अज्ञात लोगों पर...

कर्नाटक के मांड्या जिले में कॉन्ग्रेस की 'भारत जोड़ो' यात्रा के पोस्टर में वीर सावरकर की फोटो लगाई गई है। इससे पहले ऐसे पोस्टर केरल में भी दिखे थे।

नहीं मानूँगा राम-कृष्ण को भगवान, न पिंडदान करूँगा… दिल्ली में 10 हजार हिन्दुओं का धर्मांतरण, केजरीवाल के मंत्री ने भी मंच पर चढ़कर ली...

जय भीम मिशन कार्यक्रम में 10 हजार लोगों को शपथ दिलाई गई कि वे हिन्दू देवी-देवताओं की पूजा नहीं करेंगे और न ही उन्हें भगवान मानेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,825FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe