Saturday, February 27, 2021
Home विविध विषय मनोरंजन 'हिंसा की वजह (कुरान जलाना?) का उल्लेख क्यों नहीं' - जावेद जाफरी ने शब्दों...

‘हिंसा की वजह (कुरान जलाना?) का उल्लेख क्यों नहीं’ – जावेद जाफरी ने शब्दों से खेल कर की स्वीडन दंगों की वकालत

“सारी हिंसा (न कि विरोध) निंदनीय है। लेकिन हम में से किसी ने हिंसा की वजह का उल्लेख क्यों नहीं किया? हैरानी की बात है अगर आप वजह को भूल गए हों।"

हाल ही में स्वीडन के मोल्मो शहर में उग्र इस्लामी भीड़ ने हिंसा और दंगे किए। कट्टर इस्लामी भीड़ ने अल्लाह-हू-अकबर के नारों के साथ जम कर पत्थरबाजी की थी। हैरानी की बात यह है कि हमारे देश में कई लोग दंगों की वकालत कर रहे हैं। बॉलीवुड कलाकार जावेद जाफ़री ने स्वीडन के मोल्मो शहर में हुए दंगों का पक्ष लेते हुए कई सवाल खड़े किए।    

जावेद जाफ़री ने ट्वीट करते हुए स्वीडन के दंगों की वकालत की। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “यह तस्वीरें देखने के बाद हम अमेरिका की नागरिकता लेने पर विचार कर रहे हैं। सारी हिंसा (न कि विरोध) निंदनीय है। लेकिन हम में से किसी ने हिंसा की वजह का उल्लेख क्यों नहीं किया? हैरानी की बात है अगर आप वजह को भूल गए हों।”

शब्दों के साथ खेलते हुए जावेद जाफ़री ने स्वीडन में हुई हिंसा का समर्थन किया। जिस वजह के उल्लेख पर जाफरी साब ने जोर दिया, एक बार वो वजह भी जान लिया जाए। वजह है – संप्रदाय विशेष की भीड़ ने स्वीडन के दक्षिणपंथियों द्वारा ‘कुरान जलाओ रैली’ आयोजित करने के विरोध में दंगों को अंजाम दिया। मतलब जाफरी साब ने क्रिया की प्रतिक्रिया पर बल दिया। क्रिया की प्रतिक्रिया कानूनी रूप से हो, इस पर से ध्यान हटा दिया।

दंगों के दौरान कट्टर इस्लामी भीड़ ने पुलिस पर पत्थर चलाए, सार्वजनिक और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुँचाया। इसमें कई निर्दोष लोग घायल हुए। इन सारी बातों को जानने और समझने के बावजूद जावेद जाफ़री स्वीडन में हुई हिंसा की वजह तलाश रहे हैं। इसके अलावा जावेद जाफ़री ने विरोध प्रदर्शन की सूरत में हुई हिंसा का पक्ष भी लिया। जिससे सिर्फ कुछ ही देर में स्वीडन के मोल्मो शहर का बुनियादी ढाँचा ही बिगड़ गया।

स्वीडन में दंगे और बाद के हालात

स्वीडन में सैकड़ों की संख्या में संप्रदाय विशेष की भीड़ ने सड़क पर उतर कर हिंसा की। ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारों के साथ भीड़ ने पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी की। टायर जलाकर आगजनी की और सड़क को जाम करने की कोशिश की। रात के समय अचानक से जुटे दंगाइयों ने मजहबी नारों के साथ हिंसा शुरू कर दी। उनकी संख्या 300 के करीब बताई जा रही। 

स्वीडन के मोल्मो शहर में हिंसा और आगजनी के अगले दिन शनिवार (30 अगस्त, 2020) को संप्रदाय विशेष के कट्टरपंथियों ने नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में भी इस तरह दंगे को अंजाम दिया। स्‍टॉप इस्‍लामाइजेशन ऑफ नॉर्वे (SIAN) की रैली के प्रदर्शनकारियों से संप्रदाय विशेष की भीड़ के टकराव के कारण यह हालात पैदा हुए। 

रिपोर्ट के अनुसार, ओस्लो में शनिवार को संसद भवन के पास एक इस्लाम विरोधी रैली का आयोजन किया गया था। लेकिन इन प्रदर्शनकारियों की भिड़ंत इस रैली के जवाब में संप्रदाय विशेष के लोगों के प्रदर्शन से हो गई। SIAN की रैली के दौरान, संप्रदाय विशेष की भीड़ ओस्लो की सड़कों पर जमा होकर ड्रम बजाने, गाने और नारे लगाने लगी। संप्रदाय विशेष की भीड़ में शामिल कुछ लोग पुलिस वैन को लात मारते और गाड़ी के ऊपर चढ़ते हुए भी देखे गए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोर्ट के कुरान बाँटने के आदेश को ठुकराने वाली ऋचा भारती के पिता की गोली मार कर हत्या, शव को कुएँ में फेंका

शिकायत के अनुसार, वो अपने खेत के पास ही थे कि तभी आठ बदमाशों ने कन्धों पर रायफल रखकर उन्हें घेर लिया और फायरिंग करने लगे।

दिल्ली: बहन से छेड़खानी का विरोध करने पर युवक की चाकू गोद कर हत्या, तीनों आरोपित फरार

इस घटना में घायल युवक को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया। वहाँ उसे मृत घोषित कर दिया गया।

बंगाल: TMC के गुंडों ने BJP की प्रचार वैन तोड़ीं, गोदाम में घुस कर LED बल्ब भी चुरा ले गए

TMC के गुंडों ने कडापारा स्थित गोदाम में घुसकर BJP की प्रचार वैन को तोड़ दिया और कीमती सामान चुरा लिए। BJP ने इस तोड़फोड़ और चोरी को लेकर FIR दर्ज कराई है।

चैरिटी समूहों के नाम पर मदरसों-मस्जिदों का निर्माण और जिहादी ट्रेनिंग: भारत की सीमा से लगे नेपाली कस्बों में पैठ बना रहा तुर्की का...

तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोआँ की सरकार द्वारा IHH को उसके लिए ज़रूरी सभी संसाधन और वित्त मुहैया कराए जा रहे हैं। तुर्की में पहले भी इसके खिलाफ कई बार जाँच हो चुकी हैं।

बच्चे का रेप के बाद हत्या कर शव को बोरे में बाँध तालाब में फेंका: मुबारक और साथी गिरफ्तार

यौन शोषण के बाद गला दबा कर बालक की हत्या कर दी गई। फिर रात को ही शव को बोरे में भर कर खेत में फेंक दिया गया। पुलिस ने दोनों ही अभियुक्तों को जेल भेज दिया है।

नाबालिग को बुर्का पहनाकर अगवा करने वाले 6 बच्चों के बाप मेहताब की बीवी-भाभी गिरफ्तार, भाई को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू

पुलिस ने अपहरणकर्ता मेहताब की पत्नी और उसकी दो भाभियों को गिरफ्तार किया है, जबकि आरोपित के एक भाई को हिरासत में लिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

आमिर खान की बेटी इरा अपने संघी हिन्दू नौकर के साथ फरार.. अब होगा न्याय: Fact Check से जानिए क्या है हकीकत

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि आमिर खान की बेटी इरा अपने हिन्दू नौकर के साथ भाग गई हैं। तस्वीर में इरा एक तिलक लगाए हुए युवक के साथ देखी जा सकती हैं।

‘अंकित शर्मा ने किया हिंसक भीड़ का नेतृत्व, ताहिर हुसैन कर रहा था खुद का बचाव’: ‘द लल्लनटॉप’ ने जमकर परोसा प्रोपेगेंडा

हमारे पास अंकित के परिवार के कुछ शब्द हैं, जिन्हें पढ़कर आज लगता है कि उन्हें पहले से पता था कि आखिर में न्याय तो मिलेगा नहीं लेकिन उसके बदले अंकित को दंगाई घोषित जरूर कर दिया जाएगा।

सतीश बनकर हिंदू युवती से शादी कर रहा था 2 बच्चों का बाप टीपू: मंडप पर नहीं बता सका गोत्र, ट्रू कॉलर ने पकड़ाया

ग्रामीणों ने जब सतीश राय बने हुए टीपू सुल्तान से उसके गोत्र के बारे में पूछा तो वह इसका जवाब नहीं दे पाया, चुप रह गया। ट्रू कॉलर ऐप में भी उसका नाम टीपू ही था।

शैतान की आजादी के लिए पड़ोसी के दिल को आलू के साथ पकाया, खिलाने के बाद अंकल-ऑन्टी को भी बेरहमी से मारा

मृत पड़ोसी के दिल को लेकर एंडरसन अपने अंकल के घर गया जहाँ उसने इस दिल को पकाया। फिर अपने अंकल और उनकी पत्नी को इसे सर्व किया।

मस्जिद में सुबह की अजान के लिए जलीस ने काटा इमाम का गला, यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में नागलिया आकिल मस्जिद में अजान देने वाले 62 वर्षीय इमाम की गर्दन काटकर हत्या कर दी गई। इमाम की चीख सुन कर बचाने आए तो एक और मौलवी पर हमलावर ने हमला बोला।

राजदीप सरदेसाई की ‘चापलूसी’ में लगा इंडिया टुडे, ‘दलाल’ लिखा तो कर दिए जाएँगे ब्लॉक: लोग ले रहे मजे

एक सोशल मीडिया अकॉउटं से जब राजदीप को 'दलाल' लिखा गया तो इंडिया टुडे का आधिकारिक हैंडल बचाव में आया और लोगों को ब्लॉक करने लगा।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,062FansLike
81,832FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe