Saturday, October 16, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजन'कहाँ से निकला ये कॉकरोच, लाओ मेरी चप्पल': कंगना ने 'राधे माँ' पर विक्रांत...

‘कहाँ से निकला ये कॉकरोच, लाओ मेरी चप्पल’: कंगना ने ‘राधे माँ’ पर विक्रांत मैसी को दिया जवाब

कंगना का ये रिप्लाई अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। कुछ लोग कंगना की तरफ से अपनी बात रख रहे हैं। वहीं कुछ विक्रांत को कॉकरोच कहे जाने पर अपना गुस्सा दिखा रहे हैं।

फिल्म निर्माता आदित्य धर के साथ होमटाउन हिमाचल प्रदेश में पारंपरिक तरीके से शादी करने के बाद बॉलीवुड एक्ट्रेस यामी गौतम लगातार सोशल मीडिया पर चर्चा में बनी हुई हैं। सादे अंदाज में उनके फोटोज ने लोगों का दिल जीत लिया है। बॉलीवुड सितारों से लेकर आम लोग तक उन्हें शुभकामनाएँ दे रहे हैं। इस बीच एक तस्वीर पर एक्टर विक्रांत मैसी के कमेंट पर अभिनेत्री कंगना रनौत का जवाब चर्चा में है।

दरअसल, यामी ने अपनी शादी के कार्यक्रमों की जो तस्वीर शेयर की, उनमें से एक में वह गहरे लाल रंग की साड़ी और कलीरों के साथ नजर आईं। इसे देख कंगना उनकी खूबसूरती की तुलना देवी तक से करने से नहीं चूँकी। इसी तस्वीर पर विक्रांत मैसी का भी कमेंट आया था।

कंगना ने जहाँ यामी की तस्वीर पर लिखा था, “हिमाचली दुल्हनें सबसे सुंदर होती हैं, बिलकुल देवी की तरह दिव्य लग रही हो।” वहीं विक्रांत मैसी ने इस फोटो पर कमेंट किया, “राधे माँ जैसी।”

विक्रांत को जवाब देते हुए कंगना ने लिखा, “कहाँ से निकला ये कॉकरोच… लाओ मेरी चप्पल।”

यामी गौतम की तस्वीर पर कंगना और विक्रांत के ट्वीट

कंगना का ये रिप्लाई अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। कुछ लोग कंगना की तरफ से अपनी बात रख रहे हैं। वहीं कुछ विक्रांत को कॉकरोच कहे जाने पर अपना गुस्सा दिखा रहे हैं।

लोगों का कहना है कि यामी गौतम और विक्रांत दोस्त हैं तो वह आपस में ऐसी बातें कर सकते हैं, जबकि कंगना के समर्थकों का कहना है कि बात दोस्ती की तो है नहीं, विक्रांत ने राधे माँ की तुलना एक हिमाचली दुल्हन से करके हिमाचल की संस्कृति और परंपरा पर हमला बोला है।

बता दें कि कंगना रनौत, यामी गौतम के हिमाचली लुक से इतनी अभिभूत हुईं कि उन्होंने रिप्लाई में जो तारीफ की वो तो की। अपनी स्टोरी पर उनकी फोटो लगाकर भी लिखा, “ट्रेडिशन और वक्त से भी पुरानी बात है। एक पहाड़ी लड़की के दुल्हन बनने से ज्यादा दिव्य और कुछ नहीं हो सकता।” वहीं आयुष्मान खुराना ने कमेंट में लिखा,  “जय माता दी वाला एहसास हो रहा है। आप दोनों ज्वाला जी गए थे क्या?”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

खुले में सड़क पर नमाज पढ़ने से परेशान हिंदू, गुरुग्राम में लगातार चौथे सप्ताह भजन-कीर्तन कर किया विरोध प्रदर्शन

गुरुग्राम के लोगों का कहना है कि यह सब प्रशासन की रजामंदी से हो रहा है। वहीं, एसीपी अमन यादव का कहना है कि नमाज के लिए वैकल्पिक जगह तलाशने समेत समाधान के प्रयास जारी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe