Saturday, June 25, 2022
Homeदेश-समाजपहलाज निहलानी मेरे साथ सॉफ़्ट पॉर्न बनाना चाहते थे: कंगना रनौत

पहलाज निहलानी मेरे साथ सॉफ़्ट पॉर्न बनाना चाहते थे: कंगना रनौत

कंगना ने कहा कि फिल्म में मेरा रोल एक जवान लड़की का था, जो अपने उम्रदराज बॉस को रिझाती है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपने बेबाक बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहती हैं। हाल ही में उन्होंने सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी पर आरोप लगाया। कंगना ने कहा कि पहलाज निहलानी ने मुझे एक फिल्म ऑफर की थी, जिसमें मुझे एक साटिन रोब में बिना अंडरगार्मेंट्स के फोटोशूट करवाने के लिए कहा गया था।

एक इंटरव्यू में कंगना ने बताया, “पहलाज निहलानी ने मुझे आई लव यू बॉस नाम की फिल्म ऑफर की। उन्होंने मुझे एक साटिन का रोब दिया जिसको मुझे बिना अंडरगार्मेंट्स के पहनना था और उस रोब में से पैर बाहर रखना था। फिल्म में मेरा रोल एक जवान लड़की का था, जो अपने उम्रदराज बॉस को रिझाती है।”

कंगना ने कहा कि उन्हें लड़की के पोज़ में अपने बॉस को खुश करने का रोल करना था जो वासना से भरी है। यह सॉफ्ट पोर्न जैसा किरदार था। उन्होंने ये फोटोशूट करवा लिया था, लेकिन फिर उन्हें लगा कि वो ये फिल्म नहीं कर सकतीं, इसलिए उन्होंने फिल्म को बीच में ही छोड़ दिया और गायब हो गई। इसके बाद कंगना ने अपना मोबाइल नंबर तक बदल दिया।

कंगना के इस बयान पर पहलाज निहलानी ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा, “आई लव यू बॉस कभी सॉफ्ट पॉर्न नहीं थी। मैंने उस पिक्चर ऐड पर डेढ़ करोड़ रुपये खर्च किए और तीन गाने शूट किए। लेकिन मेरे पोस्टर और ऐड के साथ ही उन्हें महेश भट्ट की फिल्म गैंग्स्टर मिल गई। क्योंकि हमने तीन फिल्मों की डील की हुई थी, इसलिए कंगना ने मुझसे निवेदन किया कि मैं उन्हें गैंगस्टर करने दूँ। उन्हें (कंगना को) मेरे साथ नहीं खेलना चाहिए क्योंकि मेरे पास उनके साथ खेलने के लिए बहुत कुछ है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गर्भवती का भ्रूण आग में फेंकने से लेकर चूल्हे से गोधरा ट्रेन में आग तक: गुजरात दंगों पर वो 5 झूठ, जो नरेंद्र मोदी...

गुजरात दंगों के बाद नरेंद्र मोदी को बदनाम करने के लिए कई हथकंडे आजमाए गए। यहाँ जानें ऐसे 5 झूठ जो फैलाए गए। साथ ही क्या है उनकी सच्चाई।

झूठे साक्ष्य गढ़े, निर्दोष को फँसाने की कोशिश: तीस्ता सीतलवाड़ के साथ-साथ RB श्रीकुमार और संजीव भट्ट पर भी FIR, गुजरात दंगा मामला

संजीव भट्ट फ़िलहाल पालनपुर जेल में कैद। राज्य सरकार का पक्ष रखते हुए दर्ज FIR में शुक्रवार (24 जून, 2022) को आए सुप्रीम कोर्ट का हवाला दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,266FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe