Thursday, July 7, 2022
Homeविविध विषयमनोरंजनTMC सांसद नुसरत जहां की तीज पर भड़के इस्लामी कट्टरपंथी

TMC सांसद नुसरत जहां की तीज पर भड़के इस्लामी कट्टरपंथी

मुफ़्ती शरीफ खान ने तो नुसरत को इस्लाम से ही खरिज करते हुए कह दिया कि केवल नाम रखने से कोई ..

तृणमूल सांसद और बांग्ला अभिनेत्री नुसरत जहाँ को एक बार फिर कट्टरपंथियों की असहिष्णुता का शिकार होना पड़ा है। इस बार निशाने पर उनका सिंधारा (हरियाली) तीज मनाना है, जिसके लिए मजहबी कट्टरपंथियों ने उन्हें आड़े हाथों लिया और जम कर खरी-खोटी सुनाई।

इंस्टाग्राम फोटो पर बवाल

नुसरत जहां ने जैन धर्मावलम्बी और कोलकाता के बड़े कपड़ा व्यापारी निखिल जैन से हाल ही में शादी की है। 19 जून को हुई इस शादी के बाद वे अपने ससुराल के कई रीति-रिवाज निभा रही हैं। इसी शृंखला में उन्होंने कल (3 अगस्त, 2019) को हुई सिंधारा तीज, जिसे हरियाली तीज भी कहते हैं, पर यह त्यौहार मनाते हुए अपनी और अपने पति की तस्वीर इंस्टाग्राम पर शेयर कीं।

इससे भड़के इस्लामी कट्टरपंथियों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। किसी ने पूछा कि वे हिन्दू हैं या कुछ और, तो किसी ने कहा कि वो हिन्दुओं की तरह सिन्दूर लगाती हैं, इसलिए उसे (यूज़र को) नुसरत पर शर्म आती है। किसी ने पूछा कि वे इस्लाम का पैगाम भूल गईं क्या?

साभार: NBT गाज़ियाबाद संस्करण, 4 अगस्त 2019

मुफ़्ती शरीफ खान ने तो उन्हें इस्लाम से ही खरिज करते हुए कह दिया कि केवल नाम रखने से कोई इस्लाम का अनुयायी नहीं हो जाता है। इसके पहले भी बरेलवी मसलक के उलेमा बशीरहाट की सांसद नुसरत जहां को इस्लाम से ख़ारिज कर चुके हैं

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मैं ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती…’: देवी काली का अपमान करने के बाद धौंस दिखा रही TMC सांसद महुआ मोइत्रा, कहा- करो FIR,...

देवी काली पर अपमानजनक बयान देने वाली TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा है कि वह मरते दम तक अपने कहे पर डटी रहेंगी।

PFI की जिस रैली में लगे थे भड़काऊ नारे, उस मामले में 31 को केरल हाई कोर्ट ने दी जमानत: हिंदुओं की हत्या की...

कट्टरपंथी संगठन PFI की रैली में भड़काऊ नारे लगाने के 31 आरोपितों को केरल हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है। यह रैली इसी साल मई में अलाप्पुझा जिले में हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,273FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe