Sunday, October 17, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजन'जिसने भी जीता ऑस्कर, बॉलीवुड में उन सब का करियर खत्म' - सबसे बड़े...

‘जिसने भी जीता ऑस्कर, बॉलीवुड में उन सब का करियर खत्म’ – सबसे बड़े अवॉर्ड विजेता ने खोली पोल

"आप मुझसे पूछिए। मैं लगभग टूट गया था क्योंकि ऑस्कर जीतने के बाद हिंदी सिनेमा इंडस्ट्री में कोई मुझे काम नहीं दे रहा था जबकि क्षेत्रीय सिनेमा मुझे थामे हुए था।"

सुशांत सिंह राजपूत की मौत (आत्महत्या) के बाद बॉलीवुड के स्याह राज खुलते जा रहे हैं। लॉबी, माफिया, नेपोटिजम (वंशवाद या भाई-भताजीवाद) से लेकर अब यह ऑस्कर विजेता और उनके टैलेंट तक पहुँच गया है। अब ताज़ा प्रकरण में बेस्ट साउंड डिजाइन के लिए ऑस्कर जीतने वाले रेसुल पुकूट्टी ने नया खुलासा किया है।

हुआ यह कि एआर रहमान ने बॉलीवुड में काम न मिलने को लेकर एक ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने एक मुख्य कारण बताया, जिसके अनुसार एक खास गैंग का उनके खिलाफ लॉबी करना बताया गया।

एआर रहमान बड़ी हस्ती हैं। उनका यह आरोप तुरंत खबर बना। चर्चा शुरू हुई। इस चर्चा को एक स्तर आगे ले गए शेखर कपूर। सुशांत की मौत से आहत शेखर पहले से ही बॉलीवुड कल्चर को निशाने पर लेकर ट्वीट करते रहे हैं।

शेखर कपूर ने एआर रहमान की खबर को ट्वीट करते हुए लिखा – “रहमान तुम्हारी सबसे बड़ी दिक्कत है कि तुमने ऑस्कर जीत लिया है। बॉलीवुड में ऑस्कर ताबूत की ऑखिरी कील होती है। इससे साबित होता है कि तुम में उतनी क्षमता है, जितनी बॉलीवुड पचा ही नहीं सकता।”

बात इतने पर रुकी नहीं। इस चर्चा में फिर कूदे रेसूल पुकूट्टी (Resul Pookutty)। नाम से परिचित न हों तो याद करा दें कि यह भी ऑस्कर विजेता हैं। गूगल कीजिए तो पता चल जाएगा इनके बारे में और इनका काम भी याद आ जाएगा।

रेसुल ने शेखर कपूर के ट्वीट पर जवाब देते हुए अपना दर्द साझा किया। उन्होंने लिखा:

“शेखर कपूर, आप मुझसे पूछिए। मैं लगभग टूट गया था क्योंकि ऑस्कर जीतने के बाद हिंदी सिनेमा इंडस्ट्री में कोई मुझे काम नहीं दे रहा था जबकि क्षेत्रीय सिनेमा मुझे थामे हुए था। कुछ प्रोडक्शन हाउस ने तो मेरे मुँह पर कहा था – हमें तुम्हारी कोई जरूरत नहीं है। लेकिन इन सब के बावजूद मैं इंडस्ट्री से प्यार करता हूँ…”

इससे पहले रेडियो मिर्ची को दिए एक इंटरव्यू में रहमान ने कहा था,

“मैं अच्छी फिल्मों को मना नहीं करता, लेकिन मुझे लगता है कि कोई गैंग है जो गलतफहमी के चलते गलत खबरें फैला रहा है। मुकेश छाबड़ा मेरे पास आए थे और मैंने उन्हें दो दिन में गाना तैयार करके दिया। उन्होंने मुझसे कहा- सर ना जाने कितने लोगों ने कहा है कि मत जाइए, मत जाइए उनके पास और उन्होंने मुझे कहानियों पर कहानियाँ सुनाई हैं।” रहमान ने कहा कि मैंने उनकी बातें सुनीं और सोचा कि ठीक है अब मैं समझ गया हूँ कि मुझे कम काम क्यों मिल रहा है और अच्छी फिल्में मेरे पास तक क्यों नहीं आ पाती हैं।”

गौरतलब है कि सुशांत की आत्महत्या ने बॉलीवुड के पर्दे के पीछे की सच्चाई को सामने ला दिया हैं। कई बड़े एक्टर, फेमस सेलेब्रिटीज़ से जुड़ी कई बातें सामने आ रही हैं। आए दिन लोग नेपोटिज्म को लेकर भी खुलकर बात कर रहे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,107FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe