Wednesday, July 28, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनराम-रावण वाली बात पर सैफ अली खान ने माँगी माफी, माँ सीता पर घटिया...

राम-रावण वाली बात पर सैफ अली खान ने माँगी माफी, माँ सीता पर घटिया टिप्पणी पर अभी भी खामोश

"मैं हर किसी से माफी माँगना और अपना बयान वापस लेना चाहूँगा। भगवान राम, मेरे लिए हमेशा धार्मिकता और वीरता के प्रतीक रहे हैं।" सैफ अली खान ने यह तो कहा लेकिन रावण द्वारा सीता के अपहरण को सही ठहराने पर...

सैफ अली खान अपनी आने वाली फिल्म आदिपुरुष को लेकर चर्चा का विषय बने हुए हैं। हाल ही में उन्होंने फिल्म में अपने किरदार के बारे में बात करते हुए एक ऐसा बयान दे दिया है, जिसके कारण लोगों की भावनाएँ आहत हो गईं और सैफ लोगों के निशाने पर आए गए। वहीं अब सैफ अली खान ने अपने बयान के लिए माफी माँगी है। हालाँकि माँ सीता पर दिए गए आपत्तिजनक बयान को लेकर उन्होंने कोई सफाई नहीं पेश की है।

बता दें कि सैफ ने एक इंटरव्यू के दौरान फिल्म में रावण द्वारा सीता के अपहरण को सही ठहराने, रावण की बहन सूर्पणखा के साथ लक्ष्मण का व्यवहार, सीताहरण और लंकापति रावण के अच्छे पहलू यानी मानवीय रूप के बारे में बात की थी। इसके चलते उन्हें सोशल मीडिया पर काफी तीखी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। उनकी टिप्पणी कई नेटिज़न्स को अच्छी नहीं लगी और सोशल मीडिया पर आलोचना के साथ ‘बॉयकाट आदिपुरुष’ का ट्रेंड शुरू हो गया।

अब सैफ अली खान ने सोशल मीडिया पर लोगों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए अपने बयान पर लीपापोती करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा:

“मुझे पता चला है कि एक साक्षात्कार के दौरान मेरे एक बयान ने विवाद पैदा कर दिया है और लोगों की भावनाओं को आहत किया है। यह मेरा इरादा कभी नहीं था या इस तरह का मतलब नहीं था। मैं ईमानदारी से हर किसी से माफी माँगना और अपना बयान वापस लेना चाहूँगा। भगवान राम, मेरे लिए हमेशा धार्मिकता और वीरता के प्रतीक रहे हैं। आदिपुरुष बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाने के बारे में है और पूरी टीम मिलकर काम कर रही है ताकि महाकाव्य को बिना किसी विकृतियों के प्रस्तुत किया जा सके।”

उनका माफीनामा भी नेटीज़न्स को कुछ रास नहीं आया है।

सैफ की माफ़ी के बाद भाजपा नेता राम कदम ने उन पर तंज कसा है। कदम ने ट्वीट कर कहा, “हर कलाकार, फिल्म निर्माता-निर्देशक के प्रति हमें आदर तथा सम्मान है अपितु किसी भी धर्म की भावनाएँ आहत करने का अधिकार किसी को भी नहीं है। देर पर दुरुस्त। प्यार से बोलो जय श्रीराम…”

बता दें कि अन्य लोगों की ही तरह भाजपा नेता राम कदम ने भी सैफ अली खान के बयान पर अपनी नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने कहा था, “अभिनेता सैफ अली खान आदिपुरुष नाम की फ़िल्म में रावण की भूमिका निभाने वाले हैं। सैफ अली खान, रावण के रोल को हीरो की तरह पेश करने की बात करते हैं, रावण के दुष्कृत्य को फ़िल्म के जरिए न्याय देंगे? यह कैसे संभव है?”

उन्होंने यह भी कहा, “प्रभु श्रीराम धर्म को स्थापित करते हैं। श्रीराम और रावण के बीच युद्ध धर्म और अधर्म की लड़ाई है। फ़िल्म निर्माता तथा निर्देशक हिन्दू आस्थाओं का सम्मान करते हुए फ़िल्म बनाएँ। जिस प्रकार से Omraut जी नें Tanaji फिल्म में समस्त हिन्दुओं का तथा मराठों का सम्मान किया था, उसी तरह इस फिल्म में भी हिन्दुओं की आस्था और श्रद्धा का सम्मान हो। हमारी आस्था को आँच और ठेस पहुँचे, ऐसा कृत हिन्दू समाज कताई सहन नहीं करेगा।”

गौरतलब है कि मुंबई मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक सैफ अली खान ने अपने किरदार के बारे में बोलते हुए कहा था, “एक राक्षस राजा का किरदार निभाना काफी दिलचस्प है, लेकिन ये इतना भी क्रूर नहीं है। हम इसे काफी मनोरंजक बनाने वाले हैं। सीता का अपहरण और राम के साथ हुए युद्ध को हम उसकी बहन के लिए बदले की भावना से जोड़कर दिखाने वाले हैं, जिसकी नाक लक्ष्मण ने काट दी थी।”

‘आदिपुरुष’ में भगवान राम के किरदार में प्रभास और सीता के किरदार में कृति सेनन नज़र आने वाली हैं। सैफ अली खान ने ये भी बताया था कि प्रभास और उनके बीच जो एक्शन सीक्वेंस होंगे, उन्हें काफी बड़े स्तर पर फिल्माया जाएगा। इस फिल्म का बजट 400 करोड़ रुपए से अधिक होगा और इसके लिए शीर्ष तकनीकी विशेषज्ञों को लगाया जा रहा है। जनवरी 2021 से इसकी शूटिंग प्रारंभ होने वाली है।

इससे पहले सैफ ने कहा था कि फिल्म की स्क्रिप्ट पर बिलकुल भरोसा नहीं था, क्योंकि उसका भारतीय इतिहास से कोई संबंध नहीं था। भारत के बहुसंख्यक रामायण में विश्वास करते हैं, वह रामायण को भारत के इतिहास की तरह ही देखते हैं। इसलिए लोगों के लिए यह बात हजम करना मुश्किल है जो इंसान अंग्रेज़ों के आने से पहले भारत की अवधारणा में भरोसा नहीं रखता था, वह लंकेश का किरदार निभा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,571FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe