Saturday, June 15, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनअपहरण, यौन हिंसा, जबरन इस्लामीकरण: डॉक्यूमेंट्री 'स्टेटलेस' दिखाती है, पाकिस्तान में हिन्दुओं का भयावह...

अपहरण, यौन हिंसा, जबरन इस्लामीकरण: डॉक्यूमेंट्री ‘स्टेटलेस’ दिखाती है, पाकिस्तान में हिन्दुओं का भयावह जीवन

अभिनेता अनुपम खेर 11 जुलाई 2021 को ‘Stateless: Story of India’s returning children’ नामक डॉक्यूमेंट्री जारी करेंगे। इसमें इस बात को दर्शाया जाएगा कि इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान में एक हिंदू का जीवन कैसा होता है।

अभिनेता अनुपम खेर 11 जुलाई 2021 को ‘Stateless: Story of India’s returning children’ नामक डॉक्यूमेंट्री जारी करेंगे। इसमें इस बात को दर्शाया जाएगा कि इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान में एक हिंदू का जीवन कैसा होता है।

दिसंबर 2019 में, भारत सरकार ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) पारित किया, जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान तीन पड़ोसी इस्लामिक देशों में सताए गए धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए भारतीय नागरिकता की प्रक्रिया को तेज करता है। ये सताए गए धार्मिक अल्पसंख्यक हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसी हैं, जिन्हें इन तीन इस्लामी देशों में केवल उनके धर्म के कारण निशाना बनाया जा रहा है। इस उत्पीड़न में जबरन धर्म परिवर्तन, बलात्कार, घरों को नष्ट करना, हत्या और अन्य प्रकार की हिंसा शामिल है, लेकिन यह यहीं तक सीमित नहीं है।

ये सताए हुए लोग अक्सर ऐसी जगह शरण लेने के लिए भारत भाग गए हैं जहाँ गैर-इस्लामिक धर्मों के सभी लोग खुद का घर कह सकते हैं। हालाँकि, उनकी कहानियों को या तो बताया नहीं जाता है या विरोध प्रदर्शनों से दबा दिया जाता है। अधिनियम पारित होने के तुरंत बाद, लाखों मुसलमानों ने नए संशोधित कानून के विरोध में सड़क पर उतर आए। उनका सवाल था कि मुस्लिम राष्ट्रों के मुसलमानों को अलग क्यों किया गया। इन देशों के मुसलमान जो भारतीय नागरिकता चाहते हैं, सामान्य प्रावधान के अनुसार ऐसा कर सकते हैं। लेकिन यह अधिनियम विशेष रूप से इन तीन देशों के सताए गए धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए था।

यही कारण है कि फिल्म निर्माता निखिल सिंह राजपूत ने मानवेंद्र सिंह शेखावत के साथ मिलकर दुनिया को उन कहानियों को बताया जो अभी तक नहीं बताई गई हैं। इसी का ऑनलाइन प्रीमियर 11 जुलाई, 2021 को अनुपम खेर के साथ indicdialogue.org की पहल के तहत मुख्य अतिथि के रूप में होगा। आप यहाँ स्क्रीनिंग और बाद की चर्चा के लिए पंजीकरण कर सकते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

दिल्ली-NCR में इस साल आग का कहर, नोएडा-गाजियाबाद में भी तबाही: अकेले राजधानी में हर दिन 200 कॉल, कैसे बदलेंगे हालात?

दिल्ली-एनसीआर में आगजनी की घटनाओं में तेजी आई है। कई मामलों में भारी नुकसान उठाना पड़ा है। बड़ी संख्या में लोगों की जान भी जा चुकी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -