Thursday, August 5, 2021
Homeविविध विषयअन्यमशहूर बांग्ला अभिनेत्री को बताया कॉल गर्ल, चिपकाए पोस्टर: लिखा - फोन करो और...

मशहूर बांग्ला अभिनेत्री को बताया कॉल गर्ल, चिपकाए पोस्टर: लिखा – फोन करो और कमाओ ₹2000

बृष्टि रॉय के पोस्टर सिर्फ़ सियालदह-लक्ष्मीकांतपुर में नहीं बल्कि टॉलीगंज, जादवपुर और सोनारपुर के विभिन्‍न स्‍थानों के दीवारों पर भी लगे हुए हैं। पश्चिम बंगाल पुलिस इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है और...

‘तुमै अमै मिले’, ‘सुबर्णलता’ और ‘भूमिकन्या’ जैसे बांग्ला टीवी सीरियल्स में काम करके अपनी पहचान बनाने वाली बृष्टि रॉय इन दिनों काफ़ी परेशान चल रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पिछले कुछ दिनों से उन्हें बंगाल के अलग-अलग इलाकों से पुरुषों की कॉल आ रही हैं जो उनसे फोन पर भद्दी बातें करते हैं और ज्यादातर एस्कॉर्ट सर्विस के बारे में पूछते हैं।

बृष्टि के मुताबिक सबसे पहले उन्हें 24 अगस्त को शाम 4:30 बजे कॉल आया था। शुरू में उन्हें लगा कि कोई स्पैम कॉल होगा,लेकिन कुछ देर बाद उनके फोन पर लगातार कॉल आने लगे। उन्होंने परेशान होकर इन फोन नंबर्स को ब्लैक लिस्ट में डालना शुरू कर दिया। लेकिन तब भी सिलसिला रुका नहीं।

उनके मुताबिक इस घटना के बाद उनके एक दोस्त ने बताया कि उसने बृष्टि के पोस्टर सियालदाह-लक्ष्मीकांतपुर लोकल में देखें, जिसे देखकर वो हैरान रह गया।

इन पोस्टर्स पर बृष्टि का नाम, उनका फोन नंबर लिखा था और साथ ही ये भी लिखा था कि अकेले लोग रात को इस नंबर पर बात करें। फोन करने वाला 2000 तक कमा सकता है।

पोस्टर्स की जानकारी मिलते ही बृष्टि ने थाने में मामला दर्ज करवाया और बताया कि उन्हें रोज लगभग 250-300 ऐसे ही कॉल आ रहे हैं। जो उनसे घिनौनी बातें करते हैं।

जानकारी के मुताबिक उनके यह पोस्टर सिर्फ़ सियालदह-लक्ष्मीकांतपुर में नहीं बल्कि टॉलीगंज, जादवपुर और सोनारपुर के विभिन्‍न स्‍थानों के दीवारों पर भी लगे हुए हैं। जिनके आधार पर मामले को थाने में दर्ज कर लिया गया है। लेकिन, फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है, पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। कहा जा रहा है कि इसके पीछे किसी रैकेट का हाथ हो सकता है। जिसका उद्देश्य बृष्टि को बदनाम करना है।

मीडिया से बातचीत में बृष्टि ने इस मामले पर बताया है, “मैंने फोन नंबर चेंज करने के बारे में सोचा, लेकिन अभी नहीं कर सकती क्योंकि पुलिस जाँच जारी है। उन्हें यह नंबर चाहिए क्योंकि यह पोस्टर पर छपा हुआ है। मेरे सारे जरूरी नंबर इसी में हैं और मैं रातोंरात इसे नहीं बदल सकती। मैं हालात से जूझ रही हूँ। मैं जानती हूँ कि मैं निर्दोष हूँ। और यह किसी की मुझे तंग करने की शरारत है। लेकिन मैं आसानी से हार नहीं मानने वाली। मुझे भरोसा है कि दोषियों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,145FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe