Wednesday, December 1, 2021
Homeदेश-समाजदिल्ली में छठ प्रतिबंध को तोड़ श्रद्धालुओं को BJP ने कराई घाट पर एंट्री:...

दिल्ली में छठ प्रतिबंध को तोड़ श्रद्धालुओं को BJP ने कराई घाट पर एंट्री: केजरीवाल सरकार को लोगों ने दी बद्दुआएँ

दिल्ली के भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा, "यमुना में नाले का गंदा पानी डाला जाता है जिसको साफ करने के प्लांट को लगाने के लिए केंद्र सरकार ने 2,419 करोड़ रुपए दिल्ली सरकार को दिए हैं। लेकिन दिल्ली सरकार ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की और वो पैसा कहाँ गया किसी को नहीं पता।"

हर साल छठ का महापर्व दिल्ली में कितनी धूमधाम से मनता है ये किसी से छिपा नही है, लेकिन इस बार दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने श्रद्धालुओं को यमुना नदी के घाट पर छठ पूजा करने से मना कर दिया और घाट पर बैरिकेडिंग कर दी गई। हर श्रद्धालु निराश होकर घाट से थोड़ी दूर बैठ अनुमति का इंतजार कर रहा था। लेकिन शाम तक सुनवाई न होने पर भारतीय जनता पार्टी ने ये बैरिकेडिंग तोड़ने का फैसला किया और घाट के पास पहुँच कर सभी भक्तों को अंदर पहुँचाया।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) के आदेश के मुताबिक यमुना नदी के घाट पर छठ पूजा करने की अनुमति नहीं है। ऐसे में बैरिकेडिंग हटने से पहले की तस्वीरों में देख सकते हैं कि सभी श्रद्धालु आस लगाए इंतजार कर रहे हैं। वहीं कुछ सोच रहे हैं कि ये सब क्या हो रहा है।

शाम को आई तस्वीरों में दिख रहा है कि बीजेपी के नेता परवेश साहिब सिंह ने आईटीओ यमुना घाट पर लगे छठ पूजा प्रतिबंध तोड़कर श्रद्धालुओं का घाट के पास स्वागत किया। इस दौरान नारे लग रहे हैं, “छठी मैया के सम्मान में परवेश भैया मैदान में।”

वीडियो को भाजपा नेता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने भी शेयर किया है। वहीं, यमुना घाट पर छठ पूजा मनाने को लेकर भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा, “हम उस प्रतिबंध को नहीं मानते और हम इस प्रतिबंध को तोड़ रहे हैं। हम जाएँगे (सोनिया विहार यमुना घाट) और जो रोकने वाले होंगे हम उन लोगों से जूझेंगे।”

दिल्ली के भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने यमुना सफाई के लिए केजरीवाल सरकार पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा, “यमुना में नाले का गंदा पानी डाला जाता है जिसको साफ करने के प्लांट को लगाने के लिए केंद्र सरकार ने 2,419 करोड़ रुपए दिल्ली सरकार को दिए हैं। लेकिन दिल्ली सरकार ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की और वो पैसा कहाँ गया किसी को नहीं पता।”

बता दें कि आज अरविंद केजरीवाल ने वीडियो संदेश के साथ हर किसी को छठ महापर्व की शुभकामनाएँ दी थीं। उनकी इस वीडियो के नीचे लोग उन्हें उनके पिछले वादे याद दिला रहे हैं जिसमें उन्होंने कहा था कि बस 5 साल दीजिए, यमुना को इतनी सुंदर बना देंगे कि वहाँ लोग बच्चों के साथ पिकनिक मनाने जाएँगे।

कुछ लोगों ने केजरीवाल सरकार को छठ पर्व मनाने पर बैन लगाने के कारण बद्दुआएँ भी दीं। दीपक चंद्रवंशी ने कहा, “विनाश काले विपरीत बुद्धि। तेरा सत्यानाश हो केजरीवाल। छठी मैया तुझे कभी माफ नहीं करेंगी और पूर्वांचल वासी भी तुझे कभी माफ नहीं करेंगे। तूने जो इस महान पर्व के साथ खिलवाड़ किया है। तू दर-दर ठोकरें खाता फिरेगा लेकिन तेरा स्थाई जगह कहीं नहीं मिलेगा। जय छठी मैया इस इंसान को सद्बुद्धि देना।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe