Friday, October 7, 2022
Homeविविध विषयअन्य51.72 करोड़ रुपए का मामला: एमनेस्टी इंटरनेशनल को प्रवर्तन निदेशालय ने भेजा नोटिस

51.72 करोड़ रुपए का मामला: एमनेस्टी इंटरनेशनल को प्रवर्तन निदेशालय ने भेजा नोटिस

एमनेस्टी पर विदेशी मुद्रा कानून (फेमा) के तहत 51.72 करोड़ रुपए के लेन-देन में नियमों के उल्लंघन करने का आरोप है।

मानवाधिकार के नाम पर कश्मीर मामले में ग्लोबल कैंपेन शुरू करने का आह्वान करने वाली ब्रिटेन आधारित एनजीओ एमनेस्टी इंटरनेशनल को प्रवर्तन निदेशालय ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एमनेस्टी इंटरनेशनल को यह नोटिस विदेशी मुद्रा प्रबंधन कानून (फेमा) के तहत जाँच पूरी होने के बाद जारी किया गया है

जानकारी के मुताबिक एमनेस्टी पर विदेशी मुद्रा कानून (फेमा) के तहत 51.72 करोड़ रुपए के लेन-देन में नियमों के उल्लंघन करने का आरोप है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अधिकारियों का कहना है कि फेमा के न्याय निर्णय प्राधिकरण (विशेष निदेशक स्तर का अधिकारी) द्वारा पिछले महीने यह नोटिस जारी किया गया। यह नोटिस देश में नागरिक व सामाजिक गतिविधियों के लिए 51.72 करोड़ रुपए की उधारी और ऋण से संबंधित है। इसमें एनमेस्टी पर आरोप है कि उसने अपने मूल निकाय एमनेस्टी इंटरनेशनल (ब्रिटेन) से सेवा निर्यात के नाम पर यह राशि हासिल की।

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से यह संगठन जाँच एजेंसियों की रडार पर रहा है। जिसके चलते पिछले साल अक्टूबर महीने में ईडी ने विदेशी चंदा नियमन कानून (एफसीआरए) के उल्लंघन के आरोपों में संगठन के बंगलुरु कार्यालय में भी छापेमारी की थी। और अब इसी मामले में विशेष निदेशक द्वारा मेसर्स एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल की करतूतों का काला चिट्ठा जानने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं-
1. एमनेस्टी इंडिया जैसे डकैत विदेशी एनजीओ दूसरे देशों को अपने बाप की खेती क्यों समझते हैं
2.मानवाधिकार की आड़ में कश्मीर पर आवाज उठाने वाले Amnesty के काले करतूतों का कच्चा चिट्ठा

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर में नमाज गंगा-जमुनी तहजीब, कर्नाटक के बीदर में पारंपरिक दशहरा पूजा मस्जिद-मुस्लिमों पर हमला: इस्लामी प्रलाप कब तक भोगते रहेंगे हिंदू

कर्नाटक के बीदर में दशहरा पूजा की जो परिपाटी निजाम काल से चल रही है, उस पर इस्लामी प्रलाप चल रहा है। इसके दबाव में पुलिस ने 9 हिंदुओं पर एफआईआर की है।

राजस्थान में छाया बिजली संकट: 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 बंद, प्रदेश में बचा है सिर्फ 4 दिन का कोयला

राजस्थान में बिजली संकट का खतरा बढ़ता जा रहा है। कोयले की आपूर्ति न होने के कारण प्रदेश में 23 थर्मल स्टेशनों में से 11 ने बिजली उत्पादन करना बंद कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,757FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe