Wednesday, June 12, 2024
Homeविविध विषयअन्य10वीं पास लेकिन सैलरी 1 लाख 37 हजार रुपए: 10000 लोगों को मिलेगी नौकरी,...

10वीं पास लेकिन सैलरी 1 लाख 37 हजार रुपए: 10000 लोगों को मिलेगी नौकरी, हरियाणा कौशल रोजगार निगम ने निकाला विज्ञापन

20 दिसंबर 2023 तक आवेदन करने की आखिरी तारीख। योग्यता 10वीं पास। सैलरी 1.37 लाख रुपए/महीने। कम से कम 3 साल का अनुभव। हरियाणा सरकार 10000 लोगों को दे रही नौकरी।

अगर आप 10वीं पास हैं लेकिन नौकरी 1 लाख से ज्यादा रुपए वाली चाहिए तो अभी बढ़िया मौका है आपके पास। हरियाणा राज्य की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी हरियाणा कौशल रोजगार निगम (Haryana Kaushal Rojgar Nigam, एचकेआरएन) ने इज़रायल के लिए 10,000 कुशल मजदूरों की भर्ती के लिए एक विज्ञापन निकाला है। 20 दिसंबर 2023 तक इसके लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख है।

इन भर्तियों के लिए एचकेआरएन के निकाले गए विज्ञापन के मुताबिक इजरायल में नौकरी के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता दसवीं कक्षा पास होना है। इसके साथ ही उम्र में भी अच्छी खासी रियायत देते हुए वहाँ भेजे जाने वाले मजदूरों की उम्र 25 से 54 साल रखी गई है। अनुभव की बात करें तो मजदूर को कम से कम 3 साल का अनुभव मांगा गया है।

हर महीने की तनख्वाह 6100 न्यू इजरायली शेकेल NIS (इजरायली मुद्रा) है। यह भारत के रुपए के हिसाब से 1.37 लाख रुपए बैठती है। इजरायल में नौकरी की चाह रखने वाले मजदूरी के उम्मीदवारों को निर्माण योजनाओं यानी कंस्ट्रक्शन प्लान को पढ़ने की अच्छी जानकारी होना जरूरी है। इसके साथ ही उम्मीदवारों को इसके लिए औद्योगिक भवन फार्मवर्क, लकड़ी फार्मवर्क, सिरेमिक टाइलिंग, पलस्तर के काम और लोहे को मोड़ने का अनुभव भी होना चाहिए।

दरअसल इजरायल में 7 अक्टूबर 2023 को इस्लामिक आतंकवादी संगठन हमास ने हमला कर दिया था। इसके बाद यहूदी मुल्क इजरायल गाजा में इन आंतकियों के खात्मे के लिए जोरदार कार्रवाई कर रहा है। हमास के साथ युद्ध में इजरायल के निर्माण सेक्टर में मजदूरों की भारी कमी हो गई है। इसे देखते हुए ही हरियाणा वहाँ 10,000 मजदूर भेजने जा रहा है।

गौरतलब है कि इजरायल ने भारत से तत्काल 1,00,000 श्रमिकों की माँग की थी। वॉइस ऑफ अमेरिका की रिपोर्ट के मुताबिक इजरायल की कंस्ट्रक्शन से जुड़ी कंपनियों ने सरकार से 1,00,000 भारतीय श्रमिकों की भर्ती करने की मंजूरी मांगी थी।

इजरायल में चल रहे युद्ध के कारण लगभग 90,000 फिलिस्तीनियों के वर्क परमिट रद्द होने से वहाँ श्रमिकों की भारी कमी हो गई है। दिलचस्प बात यह है कि विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन के इस बारे में राज्यसभा को सूचित करने के ठीक एक दिन बाद हरियाणा सरकार ये यह कदम उठाया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -