Monday, June 17, 2024
Homeविविध विषयअन्यचीन-अमेरिका पीछे, दुनिया में सबसे आगे भारत: IMF का इकोनॉमी को लेकर अनुमान, कहा-...

चीन-अमेरिका पीछे, दुनिया में सबसे आगे भारत: IMF का इकोनॉमी को लेकर अनुमान, कहा- वैक्सीनेशन का दिख रहा असर

आईएमएफ की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता गोपीनाथ ने भारत के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने अर्थव्यवस्था में आए उछाल को कोरोना वैक्सीनेशन से जोड़ा और कहा कि भारत में कोविड वैक्सीनशन बहुत तेजी से हुआ है, जिससे अर्थव्यवस्था को रिकवर करने में मदद मिली है।

वैश्विक कोरोना संकट से भारत की अर्थव्यवस्था उबरती दिख रही है। वैक्सीनेशन अभियान का भी सकारात्मक असर हो रहा है। इसे देखते हुए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने अनुमान व्यक्त किया है कि भारत की जीडीपी चालू वित्त वर्ष में 9.5 और अगले वित्त वर्ष में 8.5 फीसदी की गति के साथ आगे बढ़ेगी, जो कि दुनिया में सबसे तेज रहेगी।

वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट जारी करते हुए आईएमएफ ने कहा है कि इस साल विश्व भर की अर्थव्यवस्था का ग्रोथ 5.9 और अगले साल यह 4.9 फीसदी रहेगा। इसके अलट भारत की अर्थव्यवस्था कहीं अधिक तेजी के साथ बढ़ेगी। जुलाई में कोरोना का हवाला देते हुए वैश्विक एजेंसी ने भारत की जीडीपी वृद्धि का अनुमान पिछले 12.5% ​​से घटाकर 9.5% कर दिया था।

साभार: ट्विटर

इसको लेकर आईएमएफ की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता गोपीनाथ ने भारत के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने अर्थव्यवस्था में आए उछाल को कोरोना वैक्सीनेशन से जोड़ा और कहा कि भारत में कोविड वैक्सीनशन बहुत तेजी से हुआ है, जिससे अर्थव्यवस्था को रिकवर करने में मदद मिली है।

आईएमएफ के मुताबिक, इस साल अमेरिकी अर्थव्यवस्था 6 फीसदी की तेजी से आगे बढ़ रही है जो कि अगले 5.2 फीसदी रह सकती है। चालू वित्त वर्ष में 8 फीसदी की तेजी से आगे बढ़ रही चीनी अर्थव्यवस्था 2022 में घटकर 5.6 प्रतिशत पर रह सकती है।

रिपोर्ट के मुताबिक आईएमएफ ने कहा है कि पिछले साल कोरोना संकट के कारण भारत की आर्थिक ग्रोथ घटकर माइनस 7.3 पर आ गई थी, जिसके इस साल सुधर कर 9.5 फीसदी तक रहने का अनुमान है। यह दुनियाभर में सबसे ज्यादा है। भारत के बाद स्पेन आर्थिक सुधार के मामले में दूसरे स्थान पर है, जबकि इससे पहले पिछले साल यह 10.8 फीसदी पर थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -