Monday, June 17, 2024
Homeविविध विषयअन्यपाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद रिजवान गया अमेरिका, शामिल होना था एजुकेशन प्रोग्राम में… सड़क पर...

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद रिजवान गया अमेरिका, शामिल होना था एजुकेशन प्रोग्राम में… सड़क पर गाड़ी रोक पढ़ने लगा नमाज

मोहम्मद रिजवान ने इससे पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के दौरान बीच मैदान में नमाज पढ़ा था। और अब जबकि गया था एजुकेशन प्रोग्राम में शामिल होने... लेकिन सड़क पर गाड़ी रोक पढ़ने लगा नमाज।

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान बाबर आजम और विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान अमेरिका में हैं। दोनों वहाँ हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के एजुकेशन प्रोग्राम में शामिल होने के लिए गए हैं। इस बीच मोहम्मद रिजवान का एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में वह सड़क पर नमाज पढ़ते दिखाई दे रहे हैं।

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद रिजवान का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि वीडियो अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर का है। वायरल वीडियो में रिजवान की कार सड़क के एक ओर खड़ी दिखाई दे रही है। वहीं, दूसरी ओर मोहम्मद रिजवान सड़क पर कपड़ा बिछाकर नमाज पढ़ते नजर आ रहे हैं। बता दें कि मोहम्मद रिजवान इससे पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के दौरान बीच मैदान में नमाज पढ़ते नजर आ चुके हैं।

सड़क पर नमाज पढ़ना: भारत में आम, मुस्लिम देशों में गैर कानूनी

भारत में इस तरह की घटनाएँ आम हो चुकीं हैं। यहाँ आए दिन मुस्लिम सड़कों पर नमाज पढ़ते नजर आते हैं। खासतौर से शुक्रवार के दिन तो नमाजियों की भीड़ सड़क पर बैठ जाती है। इसके चलते लोगों को जाम का भी सामना करना पड़ता है। यहाँ तक कि रेलवे स्टेशन और ट्रेन की पटरियों के बीच में भी नमाज पढ़ने की घटनाएँ सामने आ चुकी हैं। 

भारत में मुस्लिम भले ही धार्मिक स्वतंत्रता के नाम पर सरेआम नमाज पढ़ते दिखाई देते हैं लेकिन कई इस्लामिक देशों में खुले में नमाज पढ़ना गैर कानूनी है। सऊदी अरब की ही बात करें तो वहाँ गाड़ी रोककर नमाज पढ़ने को कानून का उल्लंघन माना जाता है। इसी तरह यूएई के दुबई शहर में सड़क पर नमाज पढ़ने पर करीब 8800 रुपए का जुर्माना लगाया जाता है। वहीं, यूरोपीय देश फ्रांस में भी सड़क पर नमाज पढ़ना पूरी तरह प्रतिबंधित है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -