Thursday, June 13, 2024
Homeविविध विषयअन्य'मन की बात' के 100वें एपिसोड से पहले PM मोदी ने 84 जिलों को...

‘मन की बात’ के 100वें एपिसोड से पहले PM मोदी ने 84 जिलों को दी सौगात, 91 FM ट्रांसमीटर्स का उद्घाटन: कहा- यह जुड़ाव रेडियो से ही संभव

"कुछ दिन बाद मैं रेडियो पर मन की बात का 100वाँ एपिसोड करने जा रहा हूँ। मन की बात का ये अनुभव, देशवासियों से इस तरह का भावनात्मक जुड़ाव केवल रेडियो से ही संभव था। मैं इसके जरिए देशवासियों के सामर्थ्य और सामूहिक कर्तव्यशक्ति से जुड़ा रहा।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (28 अप्रैल 2023) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 91 एफएम ट्रांसमीटर्स का उद्धाटन किया। इससे 18 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों के 84 जिलों को लाभ होगा। प्रधानमंत्री ने रेडियो संपर्क को यह विस्तार ऐसे समय में दिया है, जब ‘मन की बात’ के 100वें एपिसोड का प्रसारण आने वाले रविवार यानी 30 अप्रैल 2023 को होना है।

‘मन की बात’ की बात प्रधानमंत्री मोदी का मासिक रेडियो कार्यक्रम है। ट्रांसमीटर्स का उद्धाटन करने के बाद उन्होंने कहा कि रेडियो और FM से उनका रिश्ता एक श्रोता और होस्ट दोनों का है। बीते वर्षों में देश में तकनीक की जो क्रांति हुई है, उसने रेडियो और विशेषकर FM को नए अवतार में गढ़ा है। इंटरनेट के कारण रेडियो पिछड़ा नहीं है, बल्कि ऑनलाइन FM और पॉडकास्ट के जरिए इनोवेटिव तरीकों से सामने आया है। यानी डिजिटल इंडिया ने रेडियो को नए श्रोता भी दिए हैं और नई सोच भी दी है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “कुछ दिन बाद मैं रेडियो पर मन की बात का 100वाँ एपिसोड करने जा रहा हूँ। मन की बात का ये अनुभव, देशवासियों से इस तरह का भावनात्मक जुड़ाव केवल रेडियो से ही संभव था। मैं इसके जरिए देशवासियों के सामर्थ्य और सामूहिक कर्तव्यशक्ति से जुड़ा रहा। भारत अपने सामर्थ्य को पूरा इस्तेमाल कर पाए इसके लिए जरूरी है कि किसी भी भारतीय के पास अवसरों की कमी न हो। आधुनिक तकनीक तो सभी के लिए सुगम और अफोर्डेबल बनाना, इसका एक बड़ा माध्यम है।”

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि लद्दाख के न्योमा गाँव में दुनिया का सबसे ऊँचा ट्रांसमीटर लगाया गया है। यह एक रिकॉर्ड की तरह है। न्योमा गाँव 4100 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

बता दें कि देश के सुदूर और सीमावर्ती इलाकों में रेडियो संपर्क को विस्तार देने के लिए यह कदम उठाया गया है। नए ट्रांसमीटर में कुछ ऐसे भी हैं जो सीमावर्ती इलाकों में कनेक्टिविटी बढ़ाने के उद्देश्य से स्थापित किए गए हैं। इन ट्रांसमीटर के शुरू होने से अब देश में FM का दायरा 35000 वर्ग किलोमीटर बढ़ गया है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, नए FM ट्रांसमीटर बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, नागालैंड, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश, केरल, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, लद्दाख और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के 84 जिलों में स्थापित किए गए हैं। इससे 2 करोड़ लोगों को फायदा होगा। ये ट्रांसमीटर 100 वॉट की क्षमता वाले हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़की हिंदू, सहेली मुस्लिम… कॉलेज में कहा, ‘इस्लाम सबसे अच्छा, छोड़ दो सनातन, अमीर कश्मीरी से कराऊँगी निकाह’: देहरादून के लॉ कॉलेज में The...

थर्ड ईयर की हिंदू लड़की पर 'इस्लाम' का बखान कर धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित किया गया और न मानने पर उसकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी गई।

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -