Wednesday, June 12, 2024
Homeविविध विषयअन्य70% अप्रूवल के साथ PM मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, अमेरिकी राष्ट्रपति जो...

70% अप्रूवल के साथ PM मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को सिर्फ 44%

पीएम मोदी के बाद मैक्सिकन राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्राडोर 66 फीसदी रेटिंग के साथ दूसरे नंबर पर हैं। इसके बाद इटली के प्रधानमंत्री मारियो द्रागी तीसरे नंबर पर हैं।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बार फिर से दुनिया का सबसे लोकप्रिय नेता चुना गया है। अमेरिकी कंपनी ‘द मॉर्निंग कंसल्ट’ की ओर से जारी ग्लोबल लीडर अप्रूवल रेटिंग में पीएम मोदी 70 फीसदी अप्रूवल के साथ टॉप पर हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दुनिया के 13 राष्ट्र प्रमुखों की लिस्ट में पीएम मोदी ने अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ते हुए पहला स्थान हासिल किया है। इस रेटिंग में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन छठे पायदान पर हैं।

पीएम मोदी के बाद मैक्सिकन राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज ओब्राडोर 66 फीसदी रेटिंग के साथ दूसरे नंबर पर हैं। इसके बाद इटली के प्रधानमंत्री मारियो द्रागी 58 फीसदी रेटिंग के साथ तीसरे नंबर पर, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल 54 फीसदी के साथ चौथे नंबर पर और ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन 47 फीसदी के साथ पाँचवें नंबर पर हैं।

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन 44 फीसदी के साथ छठे स्थान पर हैं। कनाडा के जस्टिन ट्रूडो 43 फीसदी के साथ सातवें स्थान पर, फुमियो किशिदा 42 फीसदी के साथ आठवें स्थान पर, मून जे-इन 41 फीसदी के साथ नौवें स्थान पर और ब्रिटिश प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन 40 फीसदी के साथ दसवें स्थान पर हैं। वहीं, पेड्रो सांचेज 37 फीसदी के साथ 11वें, इमैनुएल मैक्रों 36 फीसदी के साथ 12वें, जायर बोल्सोनारो 35 फीसदी के साथ 13वें स्थान पर हैं।

बता दें कि मॉर्निंग कंसल्ट एक पॉलिटिकल इंटेलिजेंस रेटिंग कंपनी है। यह ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इटली, जापान, मैक्सिको, दक्षिण कोरिया, स्पेन, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका में सरकारी नेताओं की रेटिंग को ट्रैक करती है। यह कंपनी 13 देशों के डेटा को साप्ताहिक आधार पर अपडेट करती है।

इस साल अप्रैल-मई में कोरोना की दूसरी लहर के कारण पीएम मोदी की रेटिंग में गिरावट दर्ज की गई थी। अप्रैल के बाद से जुलाई तक पीएम मोदी की अप्रूवल रेटिंग 70% से नीचे रही है, लेकिन अगस्त 2021 से फिर यह रेटिंग 70% से ऊपर बनी हुई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जोशीमठ को मिली पौराणिक ‘ज्योतिर्मठ’ पहचान, कोश्याकुटोली बना श्री कैंची धाम : केंद्र की मंजूरी के बाद उत्तराखंड सरकार ने बदले 2 जगहों के...

ज्तोतिर्मठ आदि गुरु शंकराचार्य की तपोस्‍थली रही है। माना जाता है कि वो यहाँ आठवीं शताब्दी में आए थे और अमर कल्‍पवृक्ष के नीचे तपस्‍या के बाद उन्‍हें दिव्‍य ज्ञान ज्‍योति की प्राप्ति हुई थी।

नाबालिग औलाद ने ही अपने इमाम अब्बा का किया सिर तन से जुदा: कट्टर इस्लामी-वामी मचा रहे ‘मुस्लिम टारगेट किलिंग’ का शोर, पुलिस जाँच...

जिसे वामी-इस्लामी हैंडल घोषित करना चाहते थे टारगेट किलिंग, शामली में मस्जिद के उस इमाम का सिर उनके ही नाबालिग बेटे ने किया था तन से जुदा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -