Tuesday, September 28, 2021
Homeविविध विषयअन्यदाँत काट घायल किया... दर्द से कराहते रवि कुमार दहिया ने फिर भी फाइनल...

दाँत काट घायल किया… दर्द से कराहते रवि कुमार दहिया ने फिर भी फाइनल में बनाई जगह – देखें वीडियो

यह घटना उस दौरान हुई, जब रवि दहिया नूरिस्लाम से 9-2 से आगे चल रहे थे। इसी दौरान रवि के दाँव में फँसे विरोधी पहलवान ने उनको दाँत काट (खेल नियमों के विरुद्ध) लिया, जिससे वो दर्द के कारण चीख रहे थे। बावजूद उन्होंने जीत कर ही दम लिया।

जापान में चल रहे टोक्यो ओलंपिक 2021 में बुधवार (4 अगस्त 2021) का दिन भारत के लिए कई मायनों में खास रहा। भारतीय रेसलर रवि कुमार दहिया ने बुधवार को ओलंपिक कुश्ती के सेमीफाइनल में कजाखिस्तान के रेसलर नूरिस्लाम सनायेव को पटखनी दे कुश्ती के फाइनल में पहुँच गए। इस दौरान विरोधी रेसलर ने उनकी बाँह पर कसकर दाँत से काट लिया, जिससे उनकी बाँह पर गहरे निशान पड़ गए।

तमाम तकलीफों के बावजूद रवि दहिया ने देश के लिए मेडल पक्का करके ही दम लिया। उन्होंने 57 किलोग्राम भारवर्ग में कजाखिस्तान के पहलवान नूरिस्लाम को हराकर गोल्ड या सिल्वर मेडल तो पक्का कर ही लिया है। अब फाइनल में उनका मुकाबला रसियन ओलंपिक कमिटी के पहलवान जौर रिजवानोविच उगवे के खिलाफ होगा। अगर रवि उसे हरा देते हैं तो वे गोल्ड मेडल हासिल कर लेंगे।

बहरहाल, सेमीफाइनल रवि दहिया के साथ कजाखिस्तान के पहलवान के दुर्व्यवहार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह से विरोधी पहलवान ने नियमों के विरुद्ध जाकर इंडियन रेसलर को बुरी तरह से काटा।

ओलंपिक में यह घटना उस दौरान हुई जब रवि दहिया नूरिस्लाम से 9-2 से आगे चल रहे थे। इसी दौरान रवि के दाँव में फँसे विरोधी पहलवान ने खुद को बचाने के लिए भारतीय पहलवान को दाँत काट लिया, जिससे वो दर्द के कारण चीख रहे थे। बावजूद इसके उन्होंने जीत कर ही दम लिया।

कजाख पहलवान के इस व्यवहार को लेकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी सवाल उठाया है। उन्होंने ट्वीट किया, “यह अनुचित है। हमारे #RaviDahiya के खेल स्पिरिट को चोट नहीं पहुँचा सका। इसलिए कजाक के हारे हुए नूरिस्लाम ने उसका हाथ काट दिया। शर्मनाक! ग़ज़ब रवि आपने सीना चौड़ा कर दिया।”

गौरतलब है कि बुधवार को ही 23 वर्षीय भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना बोरगेहेन ने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक प्राप्त किया था। उन्होंने वीमेंस वेल्टरवेट (69 किलोग्राम) वर्ग में ये ख़िताब हासिल किया था। हालाँकि, सेमीफाइनल के दौरान तुर्की की बुसेनज सुरमैनेली से हार का सामना करना पड़ा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe