Wednesday, August 4, 2021
Homeविविध विषयअन्य'शिव छत्रपति' के नाम पर सिर्फ अवॉर्ड... महाराष्ट्र के 'BEST' खिलाड़ियों को नौकरी नहीं...

‘शिव छत्रपति’ के नाम पर सिर्फ अवॉर्ड… महाराष्ट्र के ‘BEST’ खिलाड़ियों को नौकरी नहीं दे रही ठाकरे सरकार

महाराष्ट्र में शिवसेना की सरकार, राजनीति भी घूमा-फिरा कर शिवाजी के आस-पास ही। लेकिन सिर्फ नाम के लिए! वरना इसी नाम पर आधारित अवॉर्ड जीत चुके अपने BEST खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी के लिए क्यों भटका रही है ठाकरे सरकार?

महाराष्ट्र में ठाकरे की सरकार है। इनकी पार्टी का नाम है शिवसेना। राजनीति भी घूमा-फिरा कर शिवाजी, छत्रपति और मराठा-मराठी के आस-पास ही रहती है। लेकिन सिर्फ नाम के लिए! वरना इसी नाम पर आधारित अवॉर्ड जीत चुके खिलाड़ी एक अदद सरकारी नौकरी के लिए भटक नहीं रहे होते।

100 से ज्यादा खिलाड़ी अपने पुरस्कार महाराष्ट्र सरकार को लौटाने वाले हैं। अलग-अलग वर्षों में ये खिलाड़ी देश-प्रदेश का नाम रौशन करके ‘शिव छत्रपति अवॉर्ड (Shiv Chhatrapati Award)’ जीत चुके हैं। अपने-अपने क्षेत्र के इन धुरंधर खिलाड़ियों को अवॉर्ड के साथ सरकारी नौकरी भी देने का वादा सरकार ने किया था। अब जब खिलाड़ी नौकरी माँग रहे हैं, तो सरकार इस माँग को नजरअंदाज कर रही है।

24 फरवरी को दिन तय किया गया है। इस दिन ‘शिव छत्रपति अवॉर्ड’ पाए 103 खिलाड़ी मुंबई पहुँचेंगे। सरकार को अपने-अपने पुरस्कार और प्रमाणपत्र लौटाने के लिए। खिलाड़ियों ने महाराष्ट्र सरकार को शिव जंयती से पहले इस संबंध में फैसला लेने का अनुरोध किया था। 19 फरवरी को शिव जंयती है। ठाकरे सरकार अगर फैसला लेने से चूकती है, तो उनकी खोखली राजनीति एक बार फिर जगजाहिर होगी।

सरकारी नौकरी के अभाव में ‘शिव छत्रपति अवॉर्ड’ पाए कई खिलाड़ियों को किसानी, पेंटिंग और छोटे-मोटे काम कर पेट पालना पड़ रहा है। सोशल मीडिया के माध्यम से विभिन्न जगहों के ये खिलाड़ी आपसे में संवाद किए और सरकार से नौकरी की माँग की। बार-बार नजरअंदाज किए जाने के बाद अब इन लोगों ने अवॉर्ड लौटाने का फैसला किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

ईसाई बने तो नहीं ले सकते SC वर्ग के लिए चलाई जा रही केंद्र की योजनाओं का फायदा: संसद में मोदी सरकार

रिपोर्ट्स बताती हैं कि आंध्र प्रदेश में ईसाई धर्म में कन्वर्ट होने वाले 80 प्रतिशत लोग SC वर्ग से आते हैं, जो सभी तरह की योजनाओं का लाभ उठाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe