Thursday, June 20, 2024
Homeविविध विषयअन्यकोरोना की चपेट में आए BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली, साल में दूसरी बार पहुँचे...

कोरोना की चपेट में आए BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली, साल में दूसरी बार पहुँचे अस्पताल

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, "सौरव को कल रात वुडलैंड्स नर्सिंग होम ले जाया गया। उन्हें दवा दी गई और फिलहाल उनकी हालत स्थिर है।" अब आगे उनका ब्लड सैंपल ओमिक्रोन वैरिएंट टेस्ट करने के लिए भेजा जाएगा।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान व वर्तमान में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली सोमवार (27 दिसंबर 2021) को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अस्पताल में भर्ती हुए हैं। ये जानकारी न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से देते हुए बताया कि गांगुली की हालत स्थिर है।

रिपोर्ट बताती है कि बीसीसीआई अध्यक्ष कोविड के हल्के लक्षणों से पीड़ित थे। उन्होंने आरटीपीसीआर टेस्ट कराया तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद एहतियात के तौर पर सोमवार को देर रात उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

सूत्रों ने बताया, “उन्हें कल रात वुडलैंड्स नर्सिंग होम ले जाया गया। उन्हें दवा दी गई और फिलहाल उनकी हालत स्थिर है।” अब आगे उनका ब्लड सैंपल ओमिक्रोन वैरिएंट टेस्ट करने के लिए भेजा जाएगा। अस्पताल की एमडी व सीईओ डॉ रुपाली बासु ने बताया कि उन्हें मोनोक्लोनल एंटी-बॉडी कॉकटेल थेरेपी दी गई है और वर्तमान में वो स्थिर हैं।

24 दिसंबर को सौरव गांगुली ने बांग्ला सुपरस्टार और टीएमसी सांसद देव की नई फिल्म ‘टॉनिक’ के प्रीमियर को अटेंड किया था। वहाँ उन्हें नुसरत जहां, यश दासगुप्ता, बाबुल सुप्रियो, टीएमसी विधायक मदन मित्रा और अन्य जैसी हस्तियों के साथ देखा गया था।

मालूम हो कि इस वर्ष में ये दूसरी बार है जब सौरव गांगुली को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। इससे पहले वो वुड्सलैंड अस्पताल में ही दिल का दौरा पड़ने के बाद भर्ती हुए थे। बाद में उन्हें राइट कोरोनरी एंजियोप्लास्टी कराने के बाद छुट्टी दे दी गई। हालाँकि 20 दिन बाद उनके दोबारा दर्द शुरू हुआ और फिर उनकी एंजियोप्लास्टी हुई।

गौरतलब है कि इस समय देश में ओमिक्रोन वेरिएंट के कुछ 578 मामले आ गए हैं। दिल्ली में ये गिनती 142 है, महाराष्ट्र में 141। वहीं कोरोना केसों की बात करें तो मात्र 24 घंटे में 6 हजार से ज्यदा कोविड केस आए हैं। इसी के साथ देश में कोविड के सक्रिय केस 75 हजार पार पहुँच गए हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -