Wednesday, September 28, 2022
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीदुनिया के 'सबसे अमीर' इंसान ने भारत में खोली कंपनी, बेंगलुरु में रजिस्टर हुई...

दुनिया के ‘सबसे अमीर’ इंसान ने भारत में खोली कंपनी, बेंगलुरु में रजिस्टर हुई TESLA

अमेरिका की मशहूर इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने भारत में ऑफिस खोल दिया है। भारत में कंपनी की ईकाई बेंगलुरु में होगी। यहाँ वह अपना न केवल रिचर्स एंड डेवलेपमेंट यूनिट खोलेगी बल्कि मैन्युफैक्चरिंग का भी काम करेगी।

अमेरिका की मशहूर इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने भारत आने का निर्णय ले लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक भारत में कंपनी की ईकाई बेंगलुरु में होगी। यहाँ वह अपना न केवल रिचर्स एंड डेवलेपमेंट (R&D) यूनिट खोलेगी बल्कि मैन्युफैक्चरिंग का भी काम करेगी।

टेस्ला मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से इस यूनिट को पंजीकृत किया गया है। इसे 8 जनवरी को शामिल किया गया है। कंपनी ने यहाँ अपने निदेशकों को भी चुन लिया है। इनके नाम वैभव तनेजा, वेंकटरांगम श्रीराम, और डेविड जॉन फेंस्टीन हैं।

बता दें कि दिसंबर 2020 में एक ट्विटर यूजर के ट्वीट का जवाब देते हुए टेस्ला प्रमुख एलोन मस्क (Elon Musk) ने कहा था कि टेस्ला भारत में 2020 तक भले ही न हो लेकिन ये 2021 में जरूर वहाँ होगी। इससे पहले कंपनी ने 2020 में यह पुष्टि की थी कि कंपनी भारत में लॉन्च ऑपरेशन करना चाहती है।

वहीं, इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में टेस्ला के बारे में बात करते हुए, केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (MSME) मंत्री नितिन गडकरी ने भी कहा था कि कंपनी 2021 की शुरुआत तक भारत में अपना परिचालन शुरू कर देगी।

उन्होंने यह भी कहा था कि टेस्ला द्वारा भारत में परिचालन शुरू करने के बाद विनिर्माण के दृष्टिकोण से इसके बारे में बात करना बेहतर होगा। जैव-ईंधन, इथेनॉल, मेथनॉल, जैव-सीएनजी, जैव-डीजल, आदि के क्षेत्र में बहुत सारे शोध चल रहे हैं, जो भारत में प्रमुख ब्रांडों को लाएँगे।

उन्होंने बताया था कि अमेरिकी ऑटो प्रमुख टेस्ला की अगले साल (वर्तमान वर्ष 2021) से भारत में अपनी कारों के लिए इसकी वितरण सुविधा (बिक्री केंद्र) होगी और माँग को देखते हुए वह यहाँ विनिर्माण (manufacturing ) स्थापित करने पर ध्यान देंगे। उनका कहना था कि भारत में अगले 5 वर्षों में दुनिया में सबसे बड़ा ईवी (इलेक्ट्रिक वाहन) निर्माता बनने की क्षमता है।

भारतीय क्षमता पर बात करते हुए उन्होंने यह भी कहा था कि केंद्र का इरादा 2030 तक, निजी कारों के लिए 30 प्रतिशत, वाणिज्यिक कारों के लिए 70 प्रतिशत, बसों के लिए 40 प्रतिशत, और दो और तीन-पहिया वाहनों के लिए 80 प्रतिशत विभिन्न प्रोत्साहन प्रदान करके इलेक्ट्रिक वाहन बिक्री करने का है, जिससे भारत में EV (इलेक्ट्रिक व्हेकिल) बाजार के विकास की संभावना होगी।

आपको बता दें कि एलोन मस्क अमेजन वाले जेफ बेजोस को पछाड़ते हुए दुनिया के सबसे धनी आदमी बन गए थे। हालाँकि 1-2 दिन के भीतर ही फिर से बेजोस दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन बैठे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ब्रह्मांड के केंद्र’ में भारत माता की समृद्धि के लिए RSS प्रमुख मोहन भागवत ने की प्रार्थना, मेघालय के इसी जगह पर है ‘स्वर्णिम...

सेंग खासी एक सामाजिक-सांस्कृतिक और धार्मिक संगठन है जिसका गठन 23 नवंबर, 1899 को 16 युवकों ने खासी संस्कृति व परंपरा के संरक्षण हेतु किया था।

अब पलटा लेस्टर हिंसा के लिए हिन्दुओं को जिम्मेदार ठहराने वाला BBC, फिर भी जारी रखी मुस्लिम भीड़ को बचाने की कोशिश: नहीं ला...

बीबीसी ने अपनी पिछली रिपोर्टों के लिए कोई माफी नहीं माँगी है, जिसमें उसने हिंदुओं पर झूठा आरोप लगाया था कि हिंसा के लिए वे जिम्मेदार हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,688FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe