Tuesday, October 27, 2020
Home विविध विषय विज्ञान और प्रौद्योगिकी दक्षिण एशिया, बांग्लादेश के लोगों में कोरोना का अधिक खतरा: निएंडरथल के साथ यौन...

दक्षिण एशिया, बांग्लादेश के लोगों में कोरोना का अधिक खतरा: निएंडरथल के साथ यौन संबंध रखने वाले प्राचीन मनुष्यों का मिला डीएनए

अब तक हुए अनुसंधान में यह बात सामने आई है कि इस वायरस का महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक खतरा है और युवा लोगों की तुलना में बूढ़े लोगों को अत्यधिक खतरा होता है। जोखिम की स्थिति पर उनके प्रभाव के बारे में जानने के लिए अब सामाजिक परिस्थितियों और यहाँ तक ​​कि रक्त के प्रकारों का अध्ययन किया जा रहा है।

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक नए अध्ययन में पता चला है कि 60,000 साल पहले निएंडरथल मानवों के जीनोम में गंभीर कोरोना वायरस पाया गया है। शोधकर्ताओं के अनुसार, 60,000 साल पहले हुआ इंटरब्रैडिंग प्रभाव आज भी असरकारी है। उन्होंने पता लगाया कि जीनोम का एक विशेष खंड, जोकि क्रोमोसोम 3 पर छह जीनों तक फैलने वाला है, कोरोना वायरस के चलते गंभीर बीमारी की वजह हो सकता है।

यह अध्ययन अस्पताल में भर्ती 3,199 कोरोना रोगियों और कण्ट्रोल रोगियों के आँकड़ों के आधार पर किया गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि पूरे मानव इतिहास में विशेष रूप से यह जीनोम खंड बड़े पैमाने पर विरासत में मिला है। इसके अलावा अध्ययन से यह भी पता चला है कि 63 प्रतिशत बांग्लादेशियों में इसकी कम से कम एक कॉपी पाई जाती है।

49.4 किलोबेसेस (kilobases) आकार का यह जीनोम सेगमेंट हालाँकि दुनिया के अन्य हिस्सों में उतना नहीं पाया जाता है जितना एशिया, खासकर बांग्लादेश में पाया जाता है। यह केवल आठ प्रतिशत यूरोपीय और चार प्रतिशत पूर्वी एशियाई लोगों में पाया जाता है। दिलचस्प बात यह है कि यह विशेष जीन अफ्रीकियों में मौजूद नहीं है।

शोधकर्ता यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि कोरोना वायरस कुछ लोगों के लिए दूसरों की तुलना में अधिक खतरनाक क्यों है? नए आँकड़ों से पता चलता है कि इस बीमारी और क्रोमोसोम 3 खंड के बीच एक मजबूत संबंध है। जिन लोगों में इन जीनों की दो प्रतियाँ पाई जाती हैं, वे उन लोगों की तुलना में गंभीर बीमारी से तीन गुना अधिक पीड़ित होते हैं, जिनमें यह नहीं पाया जाता है।

क्रोमोसोम 3 निएंडरथल से आधुनिक मनुष्यों के तक गया

स्वीडन में कारोलिंस्का इंस्टीट्यूट के एक आनुवंशिकीविद् ह्यूगो ज़ेबर्ग, जो प्रकाशित होने जा रहे अध्ययन में सह-लेखक हैं, के मुताबिक करीब 60,000 साल पहले यूरोप, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में आधुनिक मानवों के कुछ पूर्वज बसे थे। इन लोगों ने निएंडरथल का सामना किया और उनके साथ संबंध बनाए। निएंडरथल डीएनए के रूप में हमारे जीन पूल में प्रवेश किया और यह पीढ़ियों तक फैलता गया, जबकि निएंडरथल विलुप्त हो गए।

हालाँकि, निएंडरथल जीन आधुनिक मनुष्यों के लिए हानिकारक साबित हुए और लोगों के स्वास्थ्य पर बोझ बन गए, साथ ही इससे बच्चे पैदा करना भी कठिन हो गया। परिणामस्वरूप विकास के चलते निएंडरथल जीन विलुप्त होने लगे और हमारे जीन पूल से भी गायब होने लगे, लेकिन कुछ जीन एक विकासवादी बढ़त बनाते हुए काफी सामान्य हो गए हैं। वैज्ञानिक अनुमान लगाते हैं कि इसने कुछ विशेष क्षेत्रों में वायरस के खिलाफ एक बेहतर प्रतिरक्षा प्रदान की है।

मई में जर्मनी के लीपज़िग में मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट के डॉ ज़ेबर्ग और उनके सह-लेखक डॉ पाबो और डॉ जेनेट केलो को पता चला कि कम से कम एक-तिहाई यूरोपीय महिलाओं में निएंडरथल हार्मोन रिसेप्टर है। यह बढ़ी हुई प्रजनन क्षमता और कम गर्भपात से जुड़ा हुआ है।

जब डॉ ज़ेबर्ग ने निएंडरथल जीनोम के एक ऑनलाइन डेटाबेस में क्रोमोसोम 3 को देखा, तो उन्होंने पाया कि जो संस्करण लोगों में गंभीर कोरोना वायरस के जोखिम को बढ़ाता है। वही संस्करण उन निएंडरथल में पाया जाता है, जो 50,000 साल पहले क्रोएशिया में रहते थे।

अब तक हुए अनुसंधान में यह बात सामने आई है कि इस वायरस का महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक खतरा है और युवा लोगों की तुलना में बूढ़े लोगों को अत्यधिक खतरा होता है। जोखिम की स्थिति पर उनके प्रभाव के बारे में जानने के लिए अब सामाजिक परिस्थितियों और यहाँ तक ​​कि रक्त के प्रकारों का अध्ययन किया जा रहा है।

वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह भी संभव है कि निएंडरथल का जीनोम खंड, जिसने हजारों साल पहले वायरस से प्रतिरक्षा प्रदान की थी, अब नए कोरोना वायरस के खिलाफ ‘ओवररिएक्शन’ शुरू कर रहा है।

यह बात भी सामने आई है कि कोरोना वायरस के जिन गंभीर मामलों में फेफड़ों के नुकसान के साथ बढ़ी हुई सूजन भी मिलती है, यह कुछ व्यक्तियों में उत्तेजित प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया के कारण होते हैं। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि यूनाइटेड किंगडम में कोरोना वायरस के कारण बांग्लादेशी वंश के लोगों में अधिक मृत्यु दर दर्ज की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

15000 स्क्वायर किलोमीटर जंगल भी बढ़े और आदिवासी तरक्की के रास्ते में विकास के पार्टनर भी: प्रकाश जावड़ेकर

"बदलाव हम हर साल एफलिएशन में करते हैं। वो 1100 शिक्षक के सुझाव पर आधारित हैं। वो इतने सार्थक हैं कि 900 पेज का बदलाव हुआ, लेकिन..."

‘बिहार में LJP वोटकटुआ का काम करेगी, इससे परिणाम पर कोई असर नहीं पड़ेगा’- प्रकाश जावड़ेकर

"बिहार में भाजपा समर्थक सवाल उठा रहे कि वहाँ पर भाजपा अकेले चुनाव क्यों नहीं लड़ती? क्या इस मुद्दे पर केंद्रीय नेतृत्व में बातचीत होती है?"

‘OTT प्लेटफॉर्म सेल्फ-रेग्युलेशन की अच्छी व्यवस्था करे, फेक न्यूज पर PIB अच्छा कर रही है’ – प्रकाश जावड़ेकर

“इसके अच्छे और बुरे दोनों तरह के नतीजे आ रहे हैं। इसलिए हमने OTT प्लेटफॉर्म को कहा है कि वो सेल्फ-रेग्युलेशन की अच्छी व्यवस्था करें।"

370 हटने के बाद लद्दाख का पहला चुनाव, BJP ने मारी बाजी: 26 में 15 सीटों पर जीत, AAP को जीरो

लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिलने के बाद यह पहला चुनाव था। लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद (LAHDC) के चुनाव में...

माँ-बाप दाेनों रहे CM फिर भी पास नहीं कर पाए मैट्रिक: तेजस्वी पर योगी आदित्यनाथ की टीम ने यूँ कसा तंज

“ये है तेजस्वी यादव की सभाओं में भीड़ का सच। गुस्साए लोगों ने कहा, 500 रुपए देकर 5 साल राज करना चाहता है तेजस्वी। वोट मोदी को ही देंगे...”

गोहत्या: 18 घटनाएँ, जहाँ रंगेहाथ पकड़े गए 87 गौ-तस्कर, जिनसे मिले कुल 2604 गौवंश अवशेष

उच्च न्यायालय ने निर्दोष व्यक्तियों को फँसाने के लिए उत्तर प्रदेश गोहत्या निरोधक कानून के प्रावधानों के लगातार दुरुपयोग पर चिंता व्यक्त की।

प्रचलित ख़बरें

जब रावण ने पत्थर पर लिटा कर अपनी बहू का ही बलात्कार किया… वो श्राप जो हमेशा उसके साथ रहा

जानिए वाल्मीकि रामायण की उस कहानी के बारे में, जो 'रावण ने सीता को छुआ तक नहीं' वाले नैरेटिव को ध्वस्त करती है। रावण विद्वान था, संगीत का ज्ञानी था और शिवभक्त था। लेकिन, उसने स्त्रियों को कभी सम्मान नहीं दिया और उन्हें उपभोग की वस्तु समझा।

ससुर-नौकर से Sex करती है ब्राह्मण परिवार की बहू: ‘Mirzapur 2’ में श्रीकृष्ण की कथाएँ हैं ‘फ़िल्मी बातें’

यूपी-बिहार के युवाओं से लेकर महिलाओं तक का चित्रण ऐसा किया गया है, जैसे वो दोयम दर्जे के नागरिक हों। वेश्याएँ 'विधवाओं के गेटअप' में आती हैं और कपड़े उतार कर नाचती हैं।

एक ही रात में 3 अलग-अलग जगह लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करने वाला लालू का 2 बेटा: अब मिलेगी बिहार की गद्दी?

आज से लगभग 13 साल पहले ऐसा समय भी आया था, जब राजद सुप्रीमो लालू यादव के दोनों बेटों तेज प्रताप और तेजस्वी यादव पर छेड़खानी के आरोप लगे थे।

IAS अधिकारी ने जबरन हवन करवाकर पंडितों को पढ़ाया ‘समानता का पाठ’, लोगों ने पूछा- मस्जिद में मौलवियों को भी ज्ञान देंगी?

क्या पंडितों को 'समानता का पाठ' पढ़ाने वाले IAS अधिकारी मौलवियों को ये पाठ पढ़ाएँगे? चर्चों में जाकर पादिरयों द्वारा यौन शोषण की आई कई खबरों का जिक्र करते हुए ज्ञान देंगे?

मंदिर तोड़ कर मूर्ति तोड़ी… नवरात्र की पूजा नहीं होने दी: मेवात की घटना, पुलिस ने कहा – ‘सिर्फ मूर्ति चोरी हुई है’

2016 में भी ऐसी ही घटना घटी थी। तब लोगों ने समझौता कर लिया था और मुस्लिम समुदाय ने हिंदुओं के सामने घटना का खेद प्रकट किया था

नवरात्र में ‘हिंदू देवी’ की गोद में शराब और हाथ में गाँजा, फोटोग्राफर डिया जॉन ने कहा – ‘महिला आजादी दिखाना था मकसद’

“महिलाओं को देवी माना जाता है लेकिन उनके साथ किस तरह का व्यवहार किया जाता है? उनके व्यक्तित्व को निर्वस्त्र किया जाता है।"
- विज्ञापन -

15000 स्क्वायर किलोमीटर जंगल भी बढ़े और आदिवासी तरक्की के रास्ते में विकास के पार्टनर भी: प्रकाश जावड़ेकर

"बदलाव हम हर साल एफलिएशन में करते हैं। वो 1100 शिक्षक के सुझाव पर आधारित हैं। वो इतने सार्थक हैं कि 900 पेज का बदलाव हुआ, लेकिन..."

पैगंबर मुहम्मद के कार्टूनों का सार्वजानिक प्रदर्शन, फ्रांस के एम्बेसेडर को पाकिस्तान ने भेजा समन

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने इस मुद्दे पर कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति का बयान बेहद गैर ज़िम्मेदाराना था और ऐसे बयान से सिर्फ आग को हवा मिलेगी।

राहुल बन नाबालिग लड़की से की दोस्ती, रेप के बाद बताया – ‘मैं साजिद हूँ, शादी करनी है तो धर्म बदलो’

आरोपित ने खुद ही पीड़िता को बताया कि उसका नाम राहुल नहीं बल्कि साजिद है। साजिद ने पीड़िता से यह भी कहा कि अगर शादी करनी है तो...

‘बिहार में LJP वोटकटुआ का काम करेगी, इससे परिणाम पर कोई असर नहीं पड़ेगा’- प्रकाश जावड़ेकर

"बिहार में भाजपा समर्थक सवाल उठा रहे कि वहाँ पर भाजपा अकेले चुनाव क्यों नहीं लड़ती? क्या इस मुद्दे पर केंद्रीय नेतृत्व में बातचीत होती है?"

ताजमहल में फहराया भगवा झंडा, गंगा जल छिड़क कर किया शिव चालीसा का पाठ

ताजमहल परिसर में दाखिल होते ही उन्होंने वहाँ पर गंगा जल का छिड़काव किया और भगवा झंडा फहराया। शिव चालीसा का पाठ भी किया गया।

24 घंटे में रिपब्लिक TV के दिल्ली-नोएडा के पत्रकारों को मुंबई के पुलिस थाने में हाजिर होने का आदेश

अर्नब गोस्वामी ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह और महाराष्ट्र की उद्धव सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि नाइंसाफी की इस लड़ाई में...

‘OTT प्लेटफॉर्म सेल्फ-रेग्युलेशन की अच्छी व्यवस्था करे, फेक न्यूज पर PIB अच्छा कर रही है’ – प्रकाश जावड़ेकर

“इसके अच्छे और बुरे दोनों तरह के नतीजे आ रहे हैं। इसलिए हमने OTT प्लेटफॉर्म को कहा है कि वो सेल्फ-रेग्युलेशन की अच्छी व्यवस्था करें।"

370 हटने के बाद लद्दाख का पहला चुनाव, BJP ने मारी बाजी: 26 में 15 सीटों पर जीत, AAP को जीरो

लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिलने के बाद यह पहला चुनाव था। लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद (LAHDC) के चुनाव में...

माँ-बाप दाेनों रहे CM फिर भी पास नहीं कर पाए मैट्रिक: तेजस्वी पर योगी आदित्यनाथ की टीम ने यूँ कसा तंज

“ये है तेजस्वी यादव की सभाओं में भीड़ का सच। गुस्साए लोगों ने कहा, 500 रुपए देकर 5 साल राज करना चाहता है तेजस्वी। वोट मोदी को ही देंगे...”

गोहत्या: 18 घटनाएँ, जहाँ रंगेहाथ पकड़े गए 87 गौ-तस्कर, जिनसे मिले कुल 2604 गौवंश अवशेष

उच्च न्यायालय ने निर्दोष व्यक्तियों को फँसाने के लिए उत्तर प्रदेश गोहत्या निरोधक कानून के प्रावधानों के लगातार दुरुपयोग पर चिंता व्यक्त की।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
79,314FollowersFollow
338,000SubscribersSubscribe