Friday, January 21, 2022
Homeदेश-समाजछत्तीसगढ़: लगातार कई दिनों तक भूखे-प्यासे कमरे में बंद रखा, 10 गायों की मौत

छत्तीसगढ़: लगातार कई दिनों तक भूखे-प्यासे कमरे में बंद रखा, 10 गायों की मौत

9 अगस्त को आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा एक गोशाला में जहरीला चारा खाने से तकरीबन 100 गायों की मौत हो गई थी।

छत्तीसगढ़ के राजनांदगाँव जिले के बरबसपुर गाँव में काँजी हाउस में 10 गायें मृत अवस्था में पाई गई। इन गायों को कमरे के अंदर बंद कर दिया गया था। मंगलवार (अगस्त 20, 2019) को एक अधिकारी ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ की गायों की मौत दम घुटने की वजह से हुई है।

पुलिस का कहना है कि सरपंच की शिकायत मिलने के बाद मामले की जाँच शुरू कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक, दो दिनों पहले गाँव के ही अज्ञात व्यक्ति द्वारा गायों को काँजी हाउस में लाकर रखा गया था, लेकिन उसने गायों को काँजी हाउस के खुले स्थान में रखने की बजाय काँजी हाउस के अंदर बने छोटे से कमरे में घुसाकर गेट लगा दिया था। गायों के लिए कमरे में हवा आने की कोई जगह नहीं थी। गाय लगातार कई दिन तक बिना हवा और चारे-पानी के एक छोटे से कमरे में बंद रही और 10 गायों की मौत हो गई।

एसएसपी यूबीएस चौहान ने बताया कि उन्हें सरपंच से शिकायत मिली थी कि वह अपने साथ काँजी हाउस की चाबी रखता था। एक व्यक्ति ने उससे चाबी माँगी थी, लेकिन उन्होंने उसे नहीं दी। बाद में उन्हें पता चला कि कुछ गायों की एक कमरे के अंदर मौत हो गई है।

गौरतलब है कि, शुक्रवार (अगस्त 9, 2019) को आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा के बाहरी क्षेत्र में चलाए जा रहे प्राइवेट गोशाला में जहरीला चारा खाने से तकरीबन 100 गायों की मौत हो गई। डॉक्टरों द्वारा की गई शुरुआती जाँच व पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद सामने आया कि गायों के चारे में जहर मिला कर उन्हें खिला दिया गया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिजाब के लिए लड़कियों का प्रदर्शन राजनीति, शिक्षा का केंद्र मजहबी जगह नहीं’: बुर्के को मौलिक अधिकार बताने पर भड़के कर्नाटक के शिक्षा मंत्री

कर्नाटक के उडुपी के कॉलेज में हिजाब पहनने पर अड़ी छात्राओं को इस्लामिक संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया अपना समर्थन दे रहा है।

‘मेरी पत्नी को मौलानाओं ने मारपीट कर घर से निकाल दिया, जिहादी उसकी हत्या भी कर सकते हैं’: जितेंद्र त्यागी (वसीम रिजवी) ने जेल...

जितेंद्र त्यागी उर्फ वसीम रिजवी ने आरोप लगाया है कि उनके परिवार को तंग किया जा रहा है और कुछ जिहादी उनकी पत्नी की हत्या करना चाहते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,584FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe