Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजपिस्तौल के साथ बना रहा था TikTok वीडियो, सर में गोली लगने से गई...

पिस्तौल के साथ बना रहा था TikTok वीडियो, सर में गोली लगने से गई 18 साल के युवक की जान

....कुछ देर बाद जब गोली चलने की आवाज़ आई तो केशव की माँ सावित्री और परिवार के लोग दौड़कर कमरे में पहुँचे। वहाँ का नज़ारा देखकर सभी दंग रह गए। केशव खून से लथपथ ज़मीन पर पड़ा था। उसके सर में गोली लगी थी।

बरेली में TikTok वीडियो के लिए बन्दूक इस्तेमाल करना एक 18 साल के युवक के लिए महँगा पड़ गया। पुलिस के अनुसार, केशव नाम के इस युवक की मौत वीडियो बनाते समय बन्दूक चल जाने से हो गई। यह घटना
हाफिज़गंज, बरेली के मुड़िया भीकमपुर गाँव की है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, हाफिज़गंज थाना क्षेत्र के गाँव मुड़िया भीकमपुर निवासी फौजी वीरेंद्र कुमार के 18 वर्षीय पुत्र केशव ने अपनी माँ सावित्री से टिकटॉक वीडियो बनाने के लिए जिद कर के रिवॉल्वर माँगी। केशव की माँ ने जब मना किया तो उसने जिद पकड़ ली। आखिर में मजबूरन उसकी माँ ने अलमारी में रखी रिवॉल्वर उसे दे दी। 

कुछ देर बाद जब गोली चलने की आवाज़ आई तो केशव की माँ सावित्री और परिवार के लोग दौड़कर कमरे में पहुँचे। वहाँ का नज़ारा देखकर सभी दंग रह गए। केशव खून से लथपथ ज़मीन पर पड़ा था। उसके सर में गोली लगी थी। ये देखकर घरवाले केशव को अस्पताल ले गए जहाँ उसे मृत घोषित कर दिया गया।

केशव एक सैन्यकर्मी का बेटा था। उसके पिता वीरेंद्र अभी रूड़की में कार्यरत हैं। वर्तमान में वह इंटरमीडियट की पढ़ाई कर रहा था। केशव की माँ सावित्री ने बताया कि उनके बेटे ने ज़िद करके टिकटॉक वीडियो बनाने के लिए रिवॉल्वर अलमारी से निकलवाई थी, लेकिन उनको यह नहीं पता था कि वो लोडेड है। केशव की माँ ने बताया कि उसके अंदर टिकटॉक वीडियो के लिए पागलपन था और वो रोज अलग-अलग वीडियो बनाकर उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्ट किया करता था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काटेंगे-मारेंगे और दिखाएँगे भी… फिर करेंगे जिम्मेदारी की घोषणा: आखिर क्यों पाकिस्तानी कानून को दिल में बसा लिया निहंग सिखों ने?

क्या यह महज संयोग है कि पाकिस्तान की तरह 'किसान' आंदोलन की जगह पर भी हुई हत्या का कारण तथाकथित तौर पर ईशनिंदा है?

डीजल डाल कर जला दिया दलित लखबीर का शव, चेहरा तक नहीं देखने दिया परिजनों को: ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

डीजल डाल कर मोबाइल की रोशनी में दलित लखबीर सिंह के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शव से पॉलीथिन नहीं हटाया गया। परिजन चेहरा तक न देख पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe