Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाजपालघर में बरामद हुआ 21018 किलो बीफ, तमिलनाडु से महाराष्ट्र में हो रही थी...

पालघर में बरामद हुआ 21018 किलो बीफ, तमिलनाडु से महाराष्ट्र में हो रही थी सप्लाई: दो गिरफ्तार

सितंबर में पुलिस ने लगभग 100 टन अवैध बीफ और भैंस का मांस जब्त किया था। इसी महीने की 27 तारीख को दूसरा मामला सामने आया था। महाराष्ट्र के कलवा में 8,000 किलोग्राम गोमांस जब्त किया गया था।

महाराष्ट्र पुलिस ने पालघर के कासा इलाके से शनिवार (4 दिसंबर 2021) को 21,018 किलोग्राम बीफ जब्त किया, जिसकी कीमत 20.6 लाख रुपए बताई जा रही है। इसके अलावा पुलिस ने बीफ को एक कंटेनर ट्रक में तमिलनाडु से ठाणे ले जा रहे 37 वर्षीय कोलिंचिनाथ राजेंद्र वनियार और 36 वर्षीय रंजीत कुमार गणेशन को भी गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपित तमिलनाडु के अरियालुर के रहने वाले हैं।

वरिष्ठ निरीक्षक अजय वसावे ने एक बयान में कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर जिला ग्रामीण पुलिस ने पालघर में मुंबई-अहमदाबाद राजमार्ग पर घोल गाँव में जाल बिछाया और एक कंटेनर ट्रक को रोका। जब इसकी जाँच की गई तो पुलिस ने पाया कि तमिलनाडु से बीफ महाराष्ट्र में ले जाया जा रहा था। अधिकारी ने कहा कि ट्रांसपोर्टरों ने खेप के बारे में फर्जी बयान दिया था और भागने की कोशिश की थी, लेकिन वे पकड़े गए।

अधिकारी ने आगे बताया कि कंटेनर ट्रक के मालिक आरोपित कोलिंचिनाथ राजेंद्र वनियार (37), रंजीत कुमार गणेशन (36) के अलावा मामले से जुड़े अन्य लोगों पर भारतीय दंड संहिता, पशु क्रूरता अधिनियम और महाराष्ट्र पशु संरक्षण अधिनियम से संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बता दें कि इस साल सितंबर में इस तरह की दो घटनाएँ सामने आई थीं। पहली घटना 6 सितंबर को दर्ज की गई थी, जिसमें मुंबई के एक एनजीओ की शिकायत के आधार पर पुलिस ने लगभग 100 टन अवैध बीफ और भैंस का मांस जब्त किया था। इसी महीने की 27 तारीख को दूसरा मामला सामने आया था। महाराष्ट्र के कलवा में 8,000 किलोग्राम गोमांस जब्त किया गया था। मामले में रईस अहमद सलाम कुरैशी और अब्दुल अहमद नसीम खान नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोहिणी आचार्य के पहुँचने के बाद शुरू हुई हिंसा, पूर्व CM का बॉडीगार्ड लेकर घूम रही थीं: बिहार पुलिस ने दर्ज की 7 FIR,...

राबड़ी आवास पर उपस्थित बॉडीगार्ड और पुलिसकर्मियों से पूरे मामले में पूछताछ की इस दौरान विशेष अधिकारी मौजूद रहे।

मी लॉर्ड! भीड़ का चेहरा भी होता है, मजहब भी होता है… यदि यह सच नहीं तो ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारों के साथ ‘काफिरों’ पर...

राजस्थान हाईकोर्ट के जज फरजंद अली 18 मुस्लिमों को जमानत दे देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि चारभुजा नाथ की यात्रा पर इस्लामी मजहबी स्थल के सामने हमला करने वालों का कोई मजहब नहीं था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -