Thursday, September 23, 2021
Homeदेश-समाजअसम के कोकराझार में 3 बैंक डकैतों का एनकाउंटर, CM सरमा ने कहा राज्य...

असम के कोकराझार में 3 बैंक डकैतों का एनकाउंटर, CM सरमा ने कहा राज्य को अपराध मुक्त बना कर रहेंगे

सीएम सरमा ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, ''असम को अपराध मुक्त बनाना है और हत्या, बलात्कार एवं लूट को राज्य से खत्म करना है। हम तब तक काम करते रहेंगे जब तक लक्ष्य प्राप्त नहीं कर लेते।''

असम के कोकराझार जिले में पुलिस ने एनकाउंटर में 3 बैंक डकैतों को मार गिराया है। बैंक में डकैती डालने जा रहे इन अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी थी, जिसके बाद पुलिस को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने घटना पर कहा कि असम को अपराध मुक्त बनाया जाएगा।

असम पुलिस को कोकराझार जिले के भोटगाँव में इलाहबाद बैंक में डाली जाने वाली डकैती की गुप्त सूचना मिली थी, जिस पर पुलिस ने भोटगाँव के पास चेंगमारी में रविवार (22 अगस्त 2021) को तड़के ढाई बजे इन डकैतों को घेर लिया। पुलिस से घिरने के बाद डकैतों ने आत्मसमर्पण करने की जगह पुलिस पर ही फायरिंग शुरू कर दी, जिस पर पुलिस को जवाबी कार्रवाई करते हुए डकैतों पर गोलियाँ चलनी पड़ी। इस एनकाउंटर में तीन डकैत घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया और वहाँ उनकी मौत हो गई। असम के डीजीपी से मिली जानकारी के अनुसार, इन डकैतों के पास से वाहन, गैस कटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, 2 पिस्टल और अन्य उपकरण बरामद हुए हैं। इस एनकाउंटर के बाद 3 अन्य डकैतों की तलाश की जा रही है।

सीएम सरमा ने पुलिस कार्रवाई की प्रशंसा करते हुए कहा कि डकैतों के एक गैंग को कोकराझार में पुलिस द्वारा मार गिराया गया, जिससे एक बड़ी बैंक डकैती टल गई। सीएम सरमा ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, ”असम को अपराध मुक्त बनाना है और हत्या, बलात्कार एवं लूट को राज्य से खत्म करना है। हम तब तक काम करते रहेंगे जब तक लक्ष्य प्राप्त नहीं कर लेते।” इससे पहले तालिबान के समर्थन में सोशल मीडिया में पोस्ट करने पर 14 लोगों की गिरफ्तारी पर भी उन्होंने कहा था कि असम पुलिस को बिना किसी भय के कार्रवाई करने के लिए निर्देशित किया गया है।

ज्ञात हो कि सोशल मीडिया पर तालिबान के समर्थन में पोस्ट करने पर शुक्रवार (20 अगस्त 2021) की रात 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, गिरफ्तार लोगों में मौलाना भी शामिल हैं। इसके अलावा, नदीम अख्तर लश्कर नाम के एक मेडिकल स्टूडेंट और बरपेटा से मजीदुल इस्लाम और फारुख हुसैन खान को गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार किए गए लोगों पर UAPA, IT एक्ट और सीआरपीसी की विभिन्न धाराएँ लगाई गईं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe