Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजउज्जैन में महाकाल की सवारी पर छत से थूका, वे तीनों नाबालिग हैं इसलिए...

उज्जैन में महाकाल की सवारी पर छत से थूका, वे तीनों नाबालिग हैं इसलिए हम उनका नाम और मजहब नहीं बता सकते: वीडियो वायरल होने के बाद गिरफ्तारी

उज्जैन के एडिशनल एसपी आकाश भूरिया ने मीडिया को बताया कि पुलिस ने तीन नाबालिगों के खिलाफ IPC की धारा 295 A ,153 A, 296 व 505 के तहत FIR दर्ज की गई है। तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मध्य प्रदेश के उज्जैन में हिंदुओं की एक धार्मिक यात्रा पर थूकने की घटना सामने आई है। तीनों आरोपित नाबालिग हैं इसलिए हम उनका नाम और मजहब नहीं बता सके। तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमें एक घर की छत से कुछ लोग थूकते दिख रहे हैं। घटना के विरोध में हिन्दू संगठनों ने नाराजगी जताते हुए आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है। जिस घर से हिन्दुओं पर थूका गया था उसके कागजातों की भी जाँच की जा रही है। घटना सोमवार (17 जुलाई 2023) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला उज्जैन के थानाक्षेत्र खारा कुँआ का है। सोमवार को यहाँ भगवान महाकाल की सवारी निकली थी, जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए थे। यह सवारी शाम लगभग 6:30 पर टंकी चौराहे पर थी। देखने के लिए लोग सड़क के दोनों तरफ छतों पर जमा थे। इस दौरान एक लड़का नीचे मुँह कर थूकता नजर आया। उसके साथ 2 अन्य लोग भी खड़े दिखाई पड़े। यात्रा में शामिल किसी श्रद्धालु ने इस हरकत का वीडियो बना लिया। वायरल वीडियो में मुँह में पानी भर कर नीचे थूकने जैसी हरकत दिखाई दे रही है।

कुछ ही देर में यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद हिन्दू संगठन के लोग थाने पहुँचे। रात लगभग 9 बजे खारा कुँआ थाने के बाहर आरोपितों की गिरफ्तारी और कड़ी कार्रवाई की माँग को लेकर लोग जमा हो गए। उज्जैन के एडिशनल एसपी आकाश भूरिया ने मीडिया को बताया कि पुलिस ने तीन नाबालिगों के खिलाफ IPC की धारा 295 A ,153 A, 296 व 505 के तहत FIR दर्ज की गई है। तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद समुदाय विशेष के लोग भी थाने पहुँचे। उन्होंने पुलिस के आगे अपना पक्ष रखा।

बताया जा रहा है कि जिस घर से श्रद्धालुओं पर थूकने की हरकत की गई है उसके कागजातों की भी जाँच करवाई जा रही है। संतोषजनक न पाए जाने पर अवैध निर्माण पर कार्रवाई की भी संभावना है। पुलिस इस बात का भी पता लगा रही है कि कहीं तीनों आरोपितों का पिछला कोई आपराधिक रिकॉर्ड तो नहीं है। बताते चलें कि जिस जगह हिन्दू श्रद्धालुओं पर थूकने की घटना हुई है, वहीं से कुछ ही दूर पर साल 2020 में राम मंदिर के लिए धन संग्रह कर रहे हिन्दू संगठन के लोगों पर हमला हुआ था। तब प्रशासन ने आरोपितों के मकानों पर बुलडोजर चलवाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -