कॉन्ग्रेस विधायक की गाड़ी ने बाइक को मारी टक्कड़, 3 वर्षीय बच्ची की मौत, माता-पिता अस्पताल में भर्ती

मुलुगु पुलिस ने धारा 304A के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इसके अलावा धारा 337 के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। विधायक की गाड़ी को ज़ब्त कर लिया गया है और आगे की कार्रवाई के लिए जाँच की जा रही है।

तेलंगाना से एक बहुत ही दुःखद ख़बर आई है। राज्य के कॉन्ग्रेस विधायक की गाड़ी द्वारा बाइक को टक्कर मारने के कारण न सिर्फ़ एक तीन वर्षीय बच्ची की मृत्यु हो गई बल्कि उसके माता-पिता भी गंभीर रूप में घायल हो गए। ये घटना मुलुगु ज़िले के जीडीवागु इलाक़े की है। कॉन्ग्रेस विधायक दनसरी अनुसूया उर्फ़ सीताक्का की गाड़ी ने एक बाइक को टक्कर मार दी। दोनों ही गाड़ियाँ अपोजिट दिशा से आ रही थी, जिसके बाद उनमें टक्कर हुई। बाइक को के. अरुण नामक व्यक्ति चला रहे थे। उनके साथ उनकी पत्नी विजया और 3 साल की बेटी श्रवंती उनके साथ बाइक पर उपस्थित थे।

बच्ची श्रवंती की सिर में गंभीर चोट लगने के कारण मृत्य हो गई, वहीं उसके माता-पिता गंभीर रूप से घायल होकर नज़दीकी सरकारी अस्पताल में भर्ती हैं। बच्ची को उसके माता-पिता नज़दीकी आँगनबाड़ी केंद्र में दाखिल कराने जा रहे थे। विधायक ने बाद में डैमेज कण्ट्रोल करने के लिए बच्ची के माता-पिता से मिलकर अफ़सोस ज़ाहिर किया और वित्तीय मदद देने का आश्वासन भी दिया। विधायक ने कहा, “यह एक बहुत ही दुःखद दुर्घटना है, जहाँ एक बच्ची को इसका शिकार बनना पड़ा। दुःख की इस घड़ी में मैं उसके माता-पिता के साथ खड़ी हूँ।

इधर मुलुगु पुलिस ने धारा 304A के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इसके अलावा धारा 337 के तहत भी मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार, विधायक की गाड़ी को ज़ब्त कर लिया गया है और आगे की कार्रवाई के लिए जाँच की जा रही है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अगस्त 2018 में भी इसी तरह की घटना हुई थी, जब कन्दुकुर के विधायक पोथुला रामाराव की गाड़ी से टकरा कर 2 लोगों की मौत हो गई थी। ये दुर्घटना विजयवाड़ा एयरपोर्ट के नज़दीक स्थित केसरपल्ली जंक्शन पर हुई थी। विधायक की गाड़ियों द्वारा आंध्र और तेलंगाना में इस तरह की दुर्घटनाओं में तेज़ी आना अच्छा संकेत नहीं है। कुछ महीनों पहले तेलुगु सुपरस्टार जूनियर एनटीआर के पिता और पूर्व मंत्री नंदामुरी हरिकृष्णा की भी एक कार दुर्घटना के दौरान मृत्यु हो गई थी। दुर्घटना के समय उनकी कार काफ़ी तेज़ गति से जा रही थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू विरोध प्रदर्शन
छात्रों की संख्या लगभग 8,000 है। कुल ख़र्च 556 करोड़ है। कैलकुलेट करने पर पता चलता है कि जेएनयू हर एक छात्र पर सालाना 6.95 लाख रुपए ख़र्च करता है। क्या इसके कुछ सार्थक परिणाम निकल कर आते हैं? ये जानने के लिए रिसर्च और प्लेसमेंट के आँकड़ों पर गौर कीजिए।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,891फैंसलाइक करें
23,419फॉलोवर्सफॉलो करें
122,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: