अशद, फ़कीर, जमाल सहित 4 बांग्लादेशी धर दबोचे गए: रुपयों के बदले देते थे फेक सऊदी रियाल

ये सभी आरोपित बांग्लादेश की राजधानी ढाका के नजदीक स्थित गोपालगंज के निवासी हैं। उनके पास से कई सिम कार्ड, मोबाइल फोन और फेक सऊदी रियाल के नोट मिले हैं।

असम के सिल्चर में सुरक्षा बलों ने 4 बांग्लादेशी नागरिकों को धर दबोचा, जो मनी लॉन्ड्रिंग करने में लगे हुए थे। उनके पास से फेक सऊदी रियाल भी जब्त किए गए हैं। असम पुलिस ने यह कार्रवाई रविवार (सितम्बर 8, 2019) को की। पुलिस को उनके बारे में सूचना एक ऐसे व्यक्ति को मिली, जो ख़ुद उनकी ठगी का शिकार हो चुका था।

गिरफ्तार होने वालों के नाम रिपोन खान, मोहम्मद अशद, सुमन फ़क़ीर और जमाल मुंशी है। मोहम्मद कबीर नामक व्यक्ति भागने में सफल रहा। ये सभी आरोपित स्थानीय लोगों को भारतीय करेंसी के बदले सऊदी की फेक करेंसी देने का लालच दिया करते थे। ये लोग पिछले एक महीने से इस अपराध को अंजाम दे रहे थे।

इन आरोपितों के पास बोनाफाइड बांग्लादेशी पासपोर्ट थे और ये सभी त्रिपुरा होते हुए असम में घुसे थे। एक पीड़ित के अनुसार, आरोपितों ने उससे संपर्क कर के 2 लाख भारतीय मुद्रा के बदले 1 लाख सऊदी करेंसी देने का वादा किया। इसकी क़ीमत लगभग 19 लाख रुपए हो जाती है और इसीलिए ऐसा ऑफर ठुकराना मुश्किल होता है, पीड़ित ने ‘नार्थ ईस्ट नाउ’ को बताया

‘नार्थ ईस्ट नाउ’ की ख़बर का वीडियो
- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ये सभी आरोपित बांग्लादेश की राजधानी ढाका के नजदीक स्थित गोपालगंज के निवासी हैं। उनके पास से कई सिम कार्ड, मोबाइल फोन और फेक सऊदी रियाल के नोट मिले हैं। सिल्चर सदर थाना की पुलिस इन सभी आरोपितों से पूछताछ कर रही है। पुलिस यह पता लगाने में जुटी है कि इस अपराध में कौन-कौन लोग शामिल हैं और यह कहाँ तक फैला है?

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गोटाभाया राजपक्षे
श्रीलंका में मुस्लिम संगठनों के आरोपों के बीच बौद्ध राष्ट्र्वादी गोटाभाया की जीत अहम है। इससे पता चलता है कि द्वीपीय देश अभी ईस्टर बम ब्लास्ट को भूला नहीं है और राइट विंग की तरफ़ उनका झुकाव पहले से काफ़ी ज्यादा बढ़ा है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,382फैंसलाइक करें
22,948फॉलोवर्सफॉलो करें
120,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: