Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजलियाकल मियाँ ने काले जादू के नाम पर बुजुर्ग बुद्धू के ऊपर चढ़ा दिए...

लियाकल मियाँ ने काले जादू के नाम पर बुजुर्ग बुद्धू के ऊपर चढ़ा दिए तीन लोग, गई जान, FIR दर्ज

जब गाँव वालों को इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने काला जादू करने वाले लियाकत और उनके साथी को पीटना शुरू कर लिया। हालाँकि थोड़ी देर बाद मौक़े पर पहुँची पुलिस ने उन्हें गाँव वालों के चंगुल से निकाला और.....

पश्चिम बंगाल के अलीपुर द्वार जिले में काले जादू के नाम पर लियाकल मियाँ और उनके साथी मलॉय ने बुद्धू नामक एक बुजुर्ग की जान ले ली। लेकिन मीडिया में इसे इस तरह पेश किया गया कि जैसे इस घटना में कोई हिन्दू तांत्रिक और मन्त्र विधि शामिल हो। पुलिस ने बुद्धू उरांव के बेटे की तहरीर पर दोनों आरोपितों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया। साथ ही बुद्धू का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और मामले में जाँच जारी है।

गौरतलब है कि कई मीडिया रिपोर्ट्स में इस मामले को भाषा के गलत प्रयोग से ट्वीस्ट देते हुए हिंदू तांत्रिक से जोड़कर दिखाया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, बुद्धू उरांव अलीपुर द्वार जिले के बोंचुकुमारी का रहने वाले है। जिन्हें उनकी बीमारी के कारण कुछ समय पहले सिलिगुड़ी के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। हालाँकि, यहाँ से वे पूरी तरह ठीक होकर वह अपने घर आ गए थे। लेकिन अगले ही दिन यानी 29 अक्टूबर को पड़ोसियों के कहने पर शरीर की अशुद्धियाँ दूर कराने के लिए उन्होंने मदारीहाट में लियाकल मियाँ को संपर्क किया।

काले जादू के नाम पर लियाकल और उनके साथी ने बुद्धू से 12 हजार रुपए माँगे। इसमें पहले उन्होंने 5 हजार रूपए टोकन अमॉउंट के रूप में लिया। बाद में अपना काले जादू की प्रक्रिया शुरू की। दोनों ने पहले बुद्धू को पेट के बल लेटने के लिए कहा और पीठ पर पान के पत्तों से मालिश की। थोड़ी देर बाद दोनों उसकी पीठ पर आ खड़े हुए और बुद्धू के बेटे राजेश को भी अपने साथ खड़ा कर लिया।

इस प्रक्रिया को कुछ समय बीता कि लियाकल और उनका तेज आवाज में जादू-टोने के लिए कुछ पढ़ने लगे। तभी बुद्धू भी अपने ऊपर तीन लोगों के वजन को न सहने के कारण कराहने लगा, लेकिन काले जादू के नाम पर चिल्ला रहे दोनों लोगों की आवाजें इतनी तेज थी कि बुजुर्ग की आवाज उन्हें सुनाई नहीं पड़ी। करीब 15 मिनट के संघर्ष के बाद उन्होंने दम तोड़ दिया।

जब गाँव वालों को इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने काला जादू करने वाले लियाकत और उनके साथी को पीटना शुरू कर लिया। हालाँकि थोड़ी देर बाद मौक़े पर पहुँची पुलिस ने उन्हें गाँव वालों के चंगुल से निकाला और उनको गिरफ्तार कर लिया गया।

अब फिलहाल लियाकल और मलॉय दोनों पर हत्या के आरोप में मामला दर्ज कर लिया गया है और मामले में आगे की जाँच जारी है। पुलिस ने कहा है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजह का मालूम चल पाएगा, तब तक वे अपनी जाँच में जुटे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe