Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजहिस्ट्रीशीटर इरफ़ान ने किया नवविवाहिता शोभा का अपहरण, सदमे में पिता की हार्ट अटैक...

हिस्ट्रीशीटर इरफ़ान ने किया नवविवाहिता शोभा का अपहरण, सदमे में पिता की हार्ट अटैक से मौत

ट्विटर पर इस मामले में कहा जा रहा है कि कॉन्ग्रेस ने पूरा प्रदेश अपराधियों को सौंप दिया है। 5 दिन हो चुके हैं इस घटना को, लेकिन पुलिस ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया। यूजर्स इस मामले में नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से हस्तक्षेप करने की माँग कर रहे हैं।

राजस्थान में 5 पाँच दिन पहले मोनू पठान (इरफान) नाम के हिस्ट्री शीटर ने बंदूक की नोक पर नवविवाहित शोभा का अपहरण किया था। जिसके मद्देनजर शोभा के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी, लेकिन कार्रवाई करने की बजाय पुलिस मामले में लापरवाही दिखाती रही। अपहरण के पाँचवे दिन तक पुलिस की टाल-मटोली से परेशान पिता को जब अपहर्ताओं ने मामले को वापस लेने की धमकी दी, तो वह सदमें में आ गए, और दिल का दौरा पड़ने से शनिवार (जून 29, 2019) सुबह उनकी मौत हो गई।

खबरों के अनुसार परिजनों का कहना है कि पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करने के सदमें को वह सह नहीं सके। उन्हें निजी अस्पताल भी ले जाया गया, लेकिन उन्हें वहाँ मृत घोषित कर दिया गया। डॉक्टरों ने साइलेंट हार्ट अटैक को उनकी मौत का कारण बताया है, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट अभी नहीं आई है।

नवलकिशोर (शोभा के पिता) की मौत की खबर सुनते ही उनके परिजन, दोस्त और सामाजिक संगठन सुबह 9 बजे एमबीएस के पोस्टमार्टम रूम पहुँच गए और वहाँ बहुत हंगामा किया। शोभा को ढूँढने और आरोपित की गिरफ्तारी की माँग पर उन्होंने नवलकिशोर के शव को उठाने से भी इंंकार कर दिया।

परिजनों ने इस दौरान परिवार के लिए 50 लाख रुपए (कुछ खबरों के अनुसार) की सहायता और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की माँग की। उन्होंने आईजी के दफ्तर के सामने सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिसके बाद नयापुरा डीएसपी ऑफिस में पुलिस प्रशासन व मृतक के परिजनों के बीच करीब दोनों घंटे तक बातचीत हुई, लेकिन इस बातचीत का कोई निष्कर्ष नहीं निकला और प्रदर्शन जारी रहा। फिर, प्रशासन ने जब परिजनों की कुछ माँगों पर सहमति जताई तब जाकर मामला शांत हुआ।

बता दें परिजनों के प्रदर्शन में भाजपा सांसद संदीप शर्मा उनका पूरा साथ दे रहे हैं। उन्होंने कहा है कि अगर 24 घंटे में बदमाशों को नहीं पकड़ा गया तो वह आंदोलन करेंगे। इस मामले के बाद से ही प्रदेश के लोग प्रशासन से नाराज है। ट्विटर पर इस मामले में कहा जा रहा है कि कॉन्ग्रेस ने पूरा प्रदेश अपराधियों को सौंप दिया है। 5 दिन हो चुके हैं इस घटना को, लेकिन पुलिस ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया। यूजर्स इस मामले में नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से हस्तक्षेप करने की माँग कर रहे हैं।

वहीं, टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक एएसपी ने आश्वासन दिया है आरोपित को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस ने लड़की को बचाने और आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए 4-5 लोगों की टीम को अनुमानित जगह पर भेजा गया है, साथ ही मोनू पठान (इरफान) के घरवालों और दोस्तों से पूछताछ जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -