Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजजयपुर के कॉलेज में बुर्के में आई छात्राएँ, MP में परीक्षा देने आ गई...

जयपुर के कॉलेज में बुर्के में आई छात्राएँ, MP में परीक्षा देने आ गई बुर्का में… लुधियाना में मुस्लिम महिलाओं का मार्च

लुधियाना हिजाब के समर्थन में बुर्का पहनकर मार्च निकाला। ये मार्च सिविल अस्पताल रोड से ब्राउन रोड, सुभानी बिल्डिंग, जामा मस्जिद और जेल रोड होते हुए निकाला गया। इससे पहले जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मोहम्मद उस्मान लुधियानवी ने अल्लाह-हू-अकबर वाली मुस्कान खान का समर्थन किया था।

कर्नाटक (Karnataka) के उडुपी के प्री यूनिवर्सिटी कॉलेज से शुरू हुआ हिजाब विवाद (Hijab Controversy) राजस्थान (Rajasthan), मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और पंजाब (Punjab) तक जा पहुँचा है। मुस्लिम महिलाएँ हिजाब के समर्थन के नाम पर माहौल खराब करने की कोशिश करती नजर आ रही हैं। मुस्लिम छात्राएँ हिजाब और बुर्का पहनकर लगातार शैक्षणिक संस्थानों में आ रही हैं और हर जगह इसका विरोध भी जारी है। कहीं, कॉलेज प्रबंधन ने इन मुस्लिमों को यूनिफॉर्म पहनने की हिदायत दे रहा है तो कहीं चेतावनी दी जा रही है।

राजस्थान: ड्रेस पहनकर आने को कहा तो आराजकतत्वों को बुलाकर नारेबाजी

राजस्थान (Rajasthan) में जयपुर के चाकसू स्थित कस्तूरी देवी कॉलेज में कुछ मुस्लिम छात्राएँ हिजाब और बुर्के (Hijab) में पहुँच गईं। इसके बाद कॉलेज प्रबंधन ने सख्ती दिखाते हुए उन्हें कॉलेज में घुसने से रोक दिया। साथ ही यूनिफॉर्म का पालन करने की नसीहत भी दी। जिसके बाद ये मुस्लिम छात्राएँ अपने-अपने घरों से परिजनों को बुलाकर लाईं और कॉलेज मैनेजमेंट के खिलाफ जमकर नारेबाजी कीं। इस बीच मामले को बढ़ता देख कॉलेज प्रबंधन ने कॉलेज के मुख्य गेट को बंद कर दिया।

कर्नाटक के मुस्लिम छात्राओं की ही भाषा बोलते हुए मुस्लिम छात्राओं ने कहा कि संविधान के तहत किसी भी तरह के पहनावे की छूट दी गई है, लेकिन साम्प्रदायिक लोग बेवजह हमें परेशान कर रहे हैं।

अचानक से बुर्के में आने लगीं मुस्लिम छात्राएँ

इस मुद्दे पर कॉलेज के सहायक निदेशक सुमित शर्मा का कहना है कि कुछ दिनों से मुस्लिम छात्राएँ कॉलेज के यूनिफॉर्म की जगह बुर्का और हिजाब पहनकर क्लास में आ रही हैं। इन छात्राओं को लगातार ड्रेस कोड का पालन करने के लिए समझाया जा रहा था, लेकिन ये कॉलेज के निर्देशों को अनदेखा कर रही थीं। इसी कारण से मजबूरन ये एक्शन लेना पड़ा।

मध्य प्रदेश: बुर्के में परीक्षा देने पहुँची छात्रा

दूसरा मामला मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना जिले का है। यहाँ के एक डिग्री कॉलेज में एमकॉम थर्ड सेमेस्टर की परीक्षाएँ चल रही हैं। इस बीच एक मुस्लिम छात्रा बुर्का पहनकर परीक्षा देने के लिए पहुँच गई, जिसका बाकी के छात्रों ने जमकर विरोध किया। विरोध के बीच कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य शिवेश सिंह ने छात्रा को परीक्षा देने से पहले रोक लिया और उससे प्रवेश पत्र पर ही ये लिखवा लिया कि अब से वह कॉलेज की यूनिफॉर्म में ही परीक्षा देने आएगी, अन्यथा उसे अंदर नहीं घुसने दिया जाएगा। इस पर छात्रा भी राजी हो गई है। इसके बाद उसे परीक्षा देने की अनुमति दी गई।

इस घटना का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कॉलेज का कहना है कि सभी छात्रों को पहले से ही ड्रेस कोड का पालन करने के आदेश दिए गए हैं। उसी में सभी को आना होगा।

लुधियाना में बुर्का मार्च

कर्नाटक में हिजाब विवाद के बीच पंजाब की मुस्लिम महिलाओं ने शनिवार (12 फरवरी 2022) लुधियाना हिजाब के समर्थन में बुर्का पहनकर मार्च निकाला। ये मार्च सिविल अस्पताल रोड से ब्राउन रोड, सुभानी बिल्डिंग, जामा मस्जिद और जेल रोड होते हुए निकाला गया। इससे पहले जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मोहम्मद उस्मान लुधियानवी ने अल्लाह-हू-अकबर वाली मुस्कान खान का समर्थन किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -