Saturday, May 25, 2024
Homeदेश-समाजमौलाना इरशाद रशीद को गुजरात पुलिस ने किया पानीपत से गिरफ्तार: सोमनाथ में गजनवी...

मौलाना इरशाद रशीद को गुजरात पुलिस ने किया पानीपत से गिरफ्तार: सोमनाथ में गजनवी को इस्लाम का गौरव बताने पर कार्रवाई

मौलाना को इसकी जानकारी हो गई थी, उसे गिरफ्तार करने गुजरात पुलिस पानीपत आ रही है। इसके चलते उसने अपना मोबाइल बंद कर लिया था और घर से भाग निकला था। हालाँकि, गुजरात पुलिस की टीम ने पूरी रात उसकी तलाश की और आखिरकार उसे उसके एक परिचित के घर से गिरफ्तार कर लिया।

सोमनाथ मंदिर के पास खड़े होकर उसे लूटने वाले महमूद गजनवी को इस्‍लाम का नेक बंदा बताने वाला वीडियो बनाकर उसे वायरल करने वाले इरशाद रशीद को हरियाणा के पानीपत से गिरफ्तार कर लिया गया है। वायरल वीडियो में वह कहता है कि आज गजनवी को चोर लुटेरा कहा जाता है लेकिन वह इस्‍लाम का गौरव है।

गुजरात के गीर सोमनाथ जिले में स्थित ऐतिहासिक सोमनाथ मंदिर से करीब आधे किलोमीटर दूर खड़े होकर मौलाना इरशाद रसीद ने एक वीडियो बनाकर वायरल किया जिससे हिंदू धर्म के लोगों की भावनाएँ आहत हुई। सोमनाथ ट्रस्‍ट के प्रबंधक विजय सिंह चावडा ने इस संबंध में पुलिस को एक शिकायत दर्ज कराई जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपित को हरियाणा के पानीपत से गिरफ्तार कर लिया है। 

बताया जा रहा है कि आरोपित इरशाद रशीद पानीपत के कुटानी रोड पर स्थित मदरसे का टीचर है। वहीं, उसके कुछ परिचितों का कहना है कि मौलाना अक्सर व्हाट्सएप और फेसबुक पर वह इस तरह की आपत्तिजनक कंटेंट अपलोड करता रहता है। इससे पहले भी वह कई बार ऐसी भड़काऊ हरकतें कर चुका है, कई लोगों ने उसे समझाने की कोशिश भी की, लेकिन वह नहीं माना।

बता दें कि इरशाद 2016 से ‘जमाते आदिला हिंद’ नाम से एक इस्लामी यूट्यूब चैनल चला रहा है। कट्टरपंथी इस्लामवादी अतीत में कई बार हिंदुओं के खिलाफ जहर उगलने और सांप्रदायिक विद्वेष भड़काने के लिए अपने इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर चुका है। महमूद गजनवी के महिमामंडन वाला इरशाद रशीद का वीडियो वायरल होने के बाद कई सोशल मीडिया यूजर्स ने नाराजगी जताई थी और कट्टरपंथी इस्लामवादी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की माँग की थी।

मौलाना का नंबर उसके यूट्यूब चैनल से मिला और फिर मोबाइल नंबर ट्रेस करते हुए गुजरात पुलिस की एक विशेष टीम हरियाणा के पानीपत पहुँची। मौलाना को इसकी जानकारी हो गई थी, उसे गिरफ्तार करने गुजरात पुलिस पानीपत आ रही है। इसके चलते उसने अपना मोबाइल बंद कर लिया था और घर से भाग निकला था। हालाँकि, गुजरात पुलिस की टीम ने पूरी रात उसकी तलाश की और आखिरकार उसे उसके एक परिचित के घर से गिरफ्तार कर लिया

हालाँकि पुलिस ने अधिकारिक रूप से इसकी पुष्टि नहीं की है। मौलाना रशीद ने पुलिस में शिकायत होने के बाद एक और वीडियो जारी कर माफी माँगते हुए कहा कि उसने यह वीडियो ऐसे ही बना लिया था। किसी की भावना को आहत करने का उसका उद्देश्‍य नहीं था।

इरशाद रशीद ने अपने वीडियो मैसेज में कहा, “मेरा इरादा भारतीयों या मेरे गुजराती भाइयों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाना या हिंदू पूजा स्थल का अपमान करना नहीं था। चाहे मंदिर हो, मस्जिद हो या चर्च हो, यह सभी हमारे पूजा स्थल हैं। मेरा इरादा मंदिर का अपमान करने या किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाने का नहीं था।”

यह वही समुद्र है जो पाकिस्‍तान को भारत से जोड़ता है

गौरतलब है कि मौलाना इरशाद का जो वीडियो वायरल हुआ है, उसमें वह समुद्र किनारे खड़े होकर हाथ के इशारे से सोमनाथ मंदिर की ओर इशारा करते हुए यह कहते हुए नजर आता है कि यह वही सोमनाथ मंदिर है जिसे महमूद गजनवी व मुहम्‍मद कासिम ने फतह किया था।

कासिम ने अपने सेना के साथ इसी सागर को पार कर भारत को जीत लिया था। वह यह भी बताता है कि यह वही समुद्र है जो पाकिस्‍तान को भारत से जोड़ता है। गजनवी को इस्‍लाम का नाम रोशन करने वाला तथा इतिहास में एक गौरवशाली महान पुरुष बताते हुए इरशाद आगे कहता है कि इनके इतिहास को पढ़ना व पढ़ाना चाहिए। पुलिस ने उसकी पहचान कर ली थी तथा अब खबर है कि उसे हरियाणा के पानीपत से दबोच लिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

‘घेरलू खान मार्केट की बिक्री कम हो गई है, इसीलिए अंतरराष्ट्रीय खान मार्केट मदद करने आया है’: विदेश मंत्री S जयशंकर का भारत विरोधी...

केंद्रीय विदेश मंत्री S जयशंकर ने कहा है कि ये 'खान मार्केट' बहुत बड़ा है, इसका एक वैश्विक वर्जन भी है जिसे अब 'इंटरनेशनल खान मार्केट' कह सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -