Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजकिशन भरवाड मर्डर केस: 2 संदिग्ध गिरफ्तार-हिंदू संगठनों ने किया बंद का आह्वान, फेसबुक...

किशन भरवाड मर्डर केस: 2 संदिग्ध गिरफ्तार-हिंदू संगठनों ने किया बंद का आह्वान, फेसबुक पोस्ट से नाराज थे कट्टरपंथी-सरेराह मारी थी गोली

प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक मोढवाड़ा मोड़ पर किशन पर पहली गोली चलाई गई जिसमें वो बच गया। इसके बाद उस पर दोबारा हमला किया गया। इसके फलस्वरूप किशन की मौत मौके पर ही हो गई थी।

गुजरात के अहमदाबाद में 25 जनवरी 2022 (मंगलवार) को हुए किशन भरवाड नाम के युवक की हत्या (Murder) केस में पुलिस ने 2 संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। इसकी जानकारी गुजरात के गृहमंत्री हर्ष सांघवी ने दी है। उन्होंने किशन के परिवार को जल्द ही न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है। ये गिरफ्तारी 27 जनवरी (गुरुवार) को की गई। बताया जाता है कि किशन ने सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो पोस्ट अपलोड की थी। इसके बाद से इस्लामी कट्टरपंथी (Radical Islam) उसके खिलाफ थे। इस मामले में 5 पर केस दर्ज हुआ है। बाकियों की तलाश की जा रही है।

गृहमंत्री ने यह भी कहा कि पुलिस इस मामले के खुलासे के लिए लगातार काम कर रही है। वहीं दूसरी तरफ इस घटना के विरोध में हिन्दू संगठनों ने धंधुका बंद का ऐलान किया है। धंधुका तहसील क्षेत्र में हुए इस हत्याकांड की प्रतिक्रिया अन्य शहरों में भी देखने को मिल रही है। बोटाद जिले के रणपुर में भी बंद का आह्वान कर प्रदर्शन किया गया है। विश्व हिन्दू परिषद् (VHP) के इस आह्वान को स्थानीय लोगों और अन्य हिन्दू संगठनों का पूरा समर्थन भी मिल रहा है। दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखीं। जिलाधिकारी के कार्यालय में इस केस की फास्ट ट्रैक जाँच करने का ज्ञापन भी दिया गया।

अहमदाबाद देहात के पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र सिंह यादव ने कहा, “पुलिस की कई टीमें आरोपितों को पकड़ने के लिए कार्य कर रहीं हैं। अब तक 2 आरोपितों को पकड़ा जा चुका है। दोनों से पूछताछ चल रही है। इस मामले में सभी आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जा रही है।”

गौरतलब है कि किशन की पोस्ट पर कई लोगों ने आपत्ति जताई थी। पुलिस ने भी किशन के खिलाफ एक्शन लिया था। इसके बाद से किशन ने अपनी प्रोफाइल में सेटिंग को प्राइवेट कर दिया था। साथ ही घर से बाहर निकलना बंद कर दिया था। घटना के दिन किशन अपनी बाइक से निकला था।

प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक मोढवाड़ा मोड़ पर किशन पर पहली गोली चलाई गई जिसमें वो बच गया। इसके बाद उस पर दोबारा हमला किया गया। इसके फलस्वरूप किशन की मौत मौके पर ही हो गई थी। बताया गया कि आरोपित किशन का पीछा कर रहे थे। पुलिस ने शक जताया था कि शायद विवादित पोस्ट के चलते ही किशन की हत्या हुई हो।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

शराब घोटाले में जेल में ही बंद रहेंगे दिल्ली के CM केजरीवाल, हाई कोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक: निचली अदालत के फैसले पर...

हाई कोर्ट ने कहा कि निचली अदालत ने मामले के पूरे कागजों पर जोर नहीं दिया जो कि पूरी तरह से अनुचित है और दिखाता है कि अदालत ने मामले के सबूतों पर पूरा दिमाग नहीं लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -