Friday, September 17, 2021
Homeदेश-समाजअलीगढ़ काण्ड: शाहिस्ता के दुपट्टे में बाँध फ्रीज़ में रखा, कूड़े के ढेर में...

अलीगढ़ काण्ड: शाहिस्ता के दुपट्टे में बाँध फ्रीज़ में रखा, कूड़े के ढेर में फेंक दिया… SIT जाँच में खुलासा

ढाई साल की बच्ची की हत्या गला घोंटकर की गई थी और फिर बच्ची के शव को जिस दुपट्टे से लपेटा गया था वो ज़ाहिद की पत्नी शाहिस्ता का था। इस मामले में अब तक 4 आरोपितों को गिरफ़्तार कर लिया गया है।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की बेरहमी से हत्या के मामले में SIT जाँच में कई बड़े ख़ुलासे हुए हैं। इस मामले में आरोपित मोहम्मद ज़ाहिद और मोहम्मद असलम ने यह बात क़बूल कर ली कि उन्होंने मासूम बच्ची की हत्या उसके परिवार से बदला लेने के लिए की थी। ख़बर के अनुसार, इस बात का ख़ुलासा हुआ है कि इस हत्याकांड में ज़ाहिद के छोटे भाई मेहंदी और ज़ाहिद की पत्नी शाहिस्ता (सबुस्ता) ने भी हत्या को अंजाम देने के लिए ज़ाहिद और असलम की मदद की थी। दोनों को भी गिरफ़्तार कर लिया गया है।

आरोपितों से हुई पूछताछ के बारे में पुलिस ने बताया कि बच्ची की लाश असलम के घर में भूसे में रखी गई थी। लेकिन, पुलिस को अंदेशा है कि लाश को नमी वाली जगह पर या फ्रिज़ में रखा गया था। ढाई साल की बच्ची की हत्या गला घोंटकर की गई थी और फिर बच्ची के शव को जिस दुपट्टे से लपेटा गया था वो ज़ाहिद की पत्नी शाहिस्ता का था।

SIT की जाँच में इस बात का भी ख़ुलासा हुआ कि बच्ची के साथ दरिंदगी करने वाला मोहम्मद ज़ाहिद पक्का जुआरी है इसलिए उसके दोस्त उसे सट्टा किंग बुलाते हैं। असलम के बारे में पता चला है कि इससे पहले भी वो कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। उसने अपने ही रिश्तेदार की बच्ची का बलात्कार किया था जिसके लिए उसे साल 2014 में गिरफ़्तार भी किया गया था। दूसरा मामला, दिल्ली के गोकुलपुरी का है जब उस पर 2017 में छेड़छाड़ और अपहरण का मामला दर्ज हुआ था।

मीडिया में आई अन्य ख़बर के अनुसार, पुलिस को घटना स्थल का मुआयना करने के बाद ऐसा लगा जैसे कि बच्ची के शव को फेंकने के बाद फ्रिज़ को साफ़ किया गया हो। पुलिस सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए ज़ाहिद की पत्नी और मेहंदी से पूछताछ में जुटी हुई है। इससे पहले, अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया था, “हम इस मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाने की कोशिश करेंगे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी भी एसिड पदार्थ या बलात्कार का उल्लेख नहीं है। परिवार चाहता है कि आरोपी को कड़ी से कड़ी सज़ा मिले।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,922FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe