Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजमाता सीता को बताया 'वेश्या', कनपटी पर बंदूक रख माँगा 'जजिया': AMU में होली...

माता सीता को बताया ‘वेश्या’, कनपटी पर बंदूक रख माँगा ‘जजिया’: AMU में होली खेलने पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटे गए हिंदू छात्र

पीड़िता छात्रों ने बताया कि वो होली खेलने एएमयू के इंजीनियरिंग कैंपस में गए थे, तभी वहाँ पर मुस्लिम समुदाय के कई छात्र आ गए और पिटाई शुरू दी। वीडियो में हिंदू छात्रों को भागकर अपनी जान बचाते देखा जा सकता है।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में गुरुवार (21 मार्च 2024) को होली खेलने के दौरान बवाल हो गया। इस दौरान कुछ अन्य छात्रों ने होली खेलने वाले छात्रों को पीटा। घटना की एक वीडियो भी सामने आई है। इसमें लड़कों को दौड़ाकर पीटते देखा जा सकता है।

पीड़ित छात्रों ने बताया कि वो होली खेलने एएमयू के इंजीनियरिंग कैंपस में गए थे, तभी वहाँ पर मुस्लिम समुदाय के कई छात्र भीड़ में आ गए और पिटाई शुरू दी। वीडियो में हिंदू छात्रों को भागकर अपनी जान बचाते देखा जा सकता है। मामले के संबंध में FIR हो गई है। केस को आईपीसी की छारा 147, 148, 149, 153-ए, 386 , 323, 504 के तहत दर्ज किया गया है।

सिविल लाइंस थाने में पीड़ित छात्रों के पक्ष में खड़े लोगों ने माँग की है कि उनपर हमला करने वाले आरोपितों को सजा दी जाए। पीड़ितों ने पुलिस से कहा है कि अगर उन्हें पीटने वालों पर कोई एक्शन नहीं लिया गया तो वो आत्मदाह कर लेंगे। पुलिस ने भी छात्रों को शांत कराते हुए पूरी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

ऑपइंडिया के पास घटना के बाद कराई गई एफआईआर मौजूद है। इसमें आदित्य प्रताप सिंह नाम के युवक ने अपनी शिकायत दी है। उन्होंने बताया कि घटना 21 मार्च को दोपहर ढाई बजे की है। सभी हिंदू छात्र जाकिर हुसैन कॉलेज ऑफ इंजिनियरिंग एंड टेक्नॉलिजी के पार्क में मौजूद थे। तभी वहाँ मुस्लिम छात्र मिसवा, जाकीउर्ररहमान, जैद शेरबानी, शाहरुख सबरी, शोएब कुरैशी, अहमद मुस्तफा, अफ्फान शेरबानी, सहवान खान, फैसल त्यागी, अरसान सिद्दकी अपने हाथों में अवैध पिस्टल, तमंचा व लाठी डंडे के साथ पार्क में आ गए।

इस दौरान इन लोगों ने हिंदुओं को और उनके देवी-देवताओं को गंदी-गंदी गाली बकी। एफआईआऱ के अनुसार इन लोगों ने कहा- “वे$या सीता की औलादों को आज सबक सिखा देते हैं।” हिंदुओं ने विरोध किया तो उनकी कनपटी पर पिस्टल रख दी और कहा कि तुम हिंदुओं को अगर होली खेलनी है तो हमें 1000 रुपए प्रति माह दिया करो।

इसके बाद उन्हें निकालकर 750 रुपए दिए गए लेकिन तब भी नामजदों द्वारा उन्हें बुरी तरह पीटा गया। शिकायतकर्ता का कहना है कि घटना में हिंदुओं ने बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाई और जो उनके साथ हुआ उससे उनकी भावनाएँ आहत हुई हैं साथ ही काफी अंदरुनी चोटें आई हैं इसलिए इस मामले में केस दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि पुलिस का इस मामले में कहना है कि उन्हें AMU में दो पक्षों में झड़प की सूचना मिली थी। इसके बाद वहाँ तत्काल पुलिस टीम पहुँची। शांति-व्यवस्था बहाल कराई गई। फिर मामला दर्ज करके वैधानिक कार्रवाई चल रही है। कोई चोटिल नहीं हुआ है। इलाके में सब ठीक है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जूलियन असांजे इज फ्री… विकिलीक्स के फाउंडर को 175 साल की होती जेल पर 5 साल में ही छूटे: जानिए कैसे अमेरिका को हिलाया,...

विकिलीक्स फाउंडर जूलियन असांजे ने अमेरिका के साथ एक डील कर ली है, इसके बाद उन्हें इंग्लैंड की एक जेल से छोड़ दिया गया है।

‘जिन्होंने इमरजेंसी लगाई वे संविधान के लिए न दिखाएँ प्यार’: कॉन्ग्रेस को PM मोदी ने दिखाया आईना, आपातकाल की 50वीं बरसी पर देश मना...

इमरजेंसी की 50वीं बरसी पर पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को याद दिलाया कि कैसे उस समय लोगों से उनके अधिकार छीने गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -