Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजअलीगढ़ की रिहाना ने फर्रुखाबाद के विकास संग देवी मंदिर में लिए फेरे, फिर...

अलीगढ़ की रिहाना ने फर्रुखाबाद के विकास संग देवी मंदिर में लिए फेरे, फिर परिवार से बचाने की गुहार लगाते थाने पहुँची

लड़की का परिवार इस शादी से नाखुश है। लेकिन लड़के परिवार ने बहू को सहर्ष स्वीकार किया। मुँह दिखाई के लिए गाँव में निमंत्रण भी दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में एक प्रेमी जोड़े ने मंदिर में शादी रचा ली। अलीगढ़ की रिहाना ने कई वर्षों के प्रेम-प्रसंग के बाद विकास राजपूत संग फेरे लिए। इसके बाद परिवार से जान का खतरा बता थाने पहुँची और पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई है। पुलिस ने ​पहले रिहाना के परिजनों से संपर्क किया और फिर उसे विकास के साथ घर भेज दिया।

विकास और रिहाना के बीच की प्रेम नोएडा की एक बल्ब फैक्ट्री में काम करते पनपा। अब दोनों ने शादी कर ली है। शादी के बाद रिहाना ने अपना नाम बदलकर रेनू रख लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, नोएडा की बल्ब बनाने वाली फैक्ट्री में काम करते दोनों में नजदीकियाँ बढ़ी। तीन-चार साल तक दोनों रिलेशन में रहे। अब घसिया चिलौली स्थित बड़ी देवी मंदिर में दोनों ने शादी की है। इस दौरान दोनों के परिवार का कोई भी मौजूद नहीं था। बता दें कि रिहाना (अब रेनू) अलीगढ़ के लोधा थाना क्षेत्र की रहने वाली है औऱ विकास फर्रुखाबाद के कायमगंज स्थित सलेमपुर टिलियाँ गाँव का रहने वाला है।

पति के साथ रिहाना बुधवार (8 सितंबर 2021) को तहसील पहुँची औऱ वहाँ स्थानीय हिंजाम नेता प्रदीप सक्सेना की मदद से शादी का रजिस्ट्रेशन करवाया।इसके बाद दोनों थाने गए और वहाँ एसआई नीतू को अपने बालिग होने के सबूत पेश किया। इस बीच एसआई नीतू ने लोधा पुलिस से संपर्क कर लड़की के परिजनों से बात की। परिजनों ने कहा कि वो घर से चली गई इसलिए वे भी उसे भूल गए हैं। अब उनका उससे कोई लेना-देना नहीं है। इसके बाद पुलिस ने युवती को विकास के साथ जाने दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की का परिवार तो इस शादी से नाखुश है, लेकिन लड़के परिवार ने बहू को सहर्ष स्वीकार किया। मुँह दिखाई के लिए गाँव में निमंत्रण भी दिया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज योगेश है, कल हरीश था: अलवर में 2 साल पहले भी हुई थी दलित की मॉब लिंचिंग, अंधे पिता ने कर ली थी...

आज जब राजस्थान के अलवर में योगेश जाटव नाम के दलित युवक की मॉब लिंचिंग की खबर सुर्ख़ियों में है, मुस्लिम भीड़ द्वारा 2 साल पहले हरीश जाटव की हत्या को भी याद कीजिए।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालत में मौत: पंखे से लटकता मिला शव, बरामद हुआ सुसाइड नोट

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। महंत का शव बाघमबरी मठ में सोमवार को फाँसी के फंदे से लटकता मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,474FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe