Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजकॉलर ट्यून पर अब नहीं सुनाई देंगे अमिताभ बच्चन: जानिए किसकी आवाज पड़ेगी अब...

कॉलर ट्यून पर अब नहीं सुनाई देंगे अमिताभ बच्चन: जानिए किसकी आवाज पड़ेगी अब कॉल करते समय कानों में

अब से आपको फोन कॉल करते समय 'दो गज दूरी मास्क है जरूरी' अमिताभ की आवाज वाली यह कॉलर ट्यून नहीं सुननी पड़ेगी। 15 जनवरी, 2021 यानी कल से अमिताभ की जगह एक महिला आर्टिस्ट की आवाज में लोगों को कॉलर ट्यून सुनाई देगी।

अब से आपको फोन कॉल करते समय ‘दो गज दूरी मास्क है जरूरी’ अमिताभ की आवाज वाली यह कॉलर ट्यून नहीं सुननी पड़ेगी। 15 जनवरी, 2021 यानी कल से अमिताभ की जगह एक महिला आर्टिस्ट की आवाज में लोगों को कॉलर ट्यून सुनाई देगी।

बता दें कि हाल ही में अमिताभ बच्चन की आवाज वाली कॉलर ट्यून हटाने के लिए कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई थी, जिसमें वह कोरोना के प्रति सतर्कता बरतने का संदेश देते थे। कॉलर ट्यून में वह कहते थे:

“हमारा देश और पूरा विश्व आज कोविड-19 की चुनौती का सामना कर रहा है। कोविड-19 अभी खत्म नहीं हुआ है, ऐसे में हमारा फर्ज है कि हम सतर्क रहें। इसलिए जब तक दवाई नहीं, तब तक कोई ढिलाई नहीं। कोरोना से बचाव के लिए जरूरी है, नियमित रूप हाथ धोना, मास्क पहनना और आपस में उचित दूरी बनाए रखना। याद रखिए दो गज दूरी, मास्क है जरूरी। खाँसी बुखार या साँस लेने में कठिनाई होने पर हेल्पलाइन नंबर 1075 पर संपर्क करें।”

कहा जा रहा अब नए कॉलर ट्यून में वॉयस ओवर आर्टिस्ट जसलीन भल्ला वैक्सीन की तैयारियों और इसे लेकर फैल रही अफवाहों को रोकने के लिए लोगों को जागरूक करेंगी। अब से कॉलर ट्यून में लोगों को टीके को लेकर जागरूक किया जाएगा और संदेश दिया जाएगा कि वो किसी भी तरह की अफवाह में न आएँ। अमिताभ बच्चन की आवाज में कॉलर ट्यून से पहले आप जसलीन भल्ला की आवाज में कोरोना की कॉलर ट्यून सुनते थे।

बता दें कि देश में 16 जनवरी से कोरोना वायरस से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी और प्रत्येक टीकाकरण केंद्र पर एक सत्र में हर दिन अधिकतम 100 लोगों को टीके दिए जाएँगे।

गौरतलब है कि दिल्ली उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका (PIL) दायर की गई थी, जिसमें बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन की आवाज़ को कोरोनो वायरस के खिलाफ सावधानियों और बचाव का संदेश देने वाली कॉलर ट्यून से हटाने का अनुरोध किया गया था। याचिका में इसे हटाने का आधार यह बनाया गया कि अमिताभ बच्चन स्वयं, परिवार के कुछ सदस्यों के साथ, वायरस से संक्रमित थे।

इस PIL के अनुसार, कोरोना के संक्रमण के खतरों से सावधानी के बारे में बताने वाली इस कॉलर ट्यून में अमिताभ बच्चन की जगह उन कोरोना वॉरियर्स की आवाज शामिल करने की बात कही गई है, जिन्होंने संक्रमण के कारण जारी लॉकडाउन के दौरान लोगों की सेवा की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,869FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe