Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाज'अम्फान' ने बंगाल, ओडिशा और बांग्लादेश में बरपाया कहर, 24 की मौत, राहत कार्य...

‘अम्फान’ ने बंगाल, ओडिशा और बांग्लादेश में बरपाया कहर, 24 की मौत, राहत कार्य जारी

चक्रवाती तूफान 'अम्फान' फिलहाल पूरी तरह से शांत हो गया है। अम्फान के शांत होते ही एनडीआरआफ की टीमें राहत कार्य में जुट गई हैं। पश्चिम बंगाल में पाँच और ओडिशा से करीब डेढ़ लाख लोगों को एनडीआरआफ की टीमों ने सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया है।

बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ ने 190 किलोमीटर की रफ्तार से पश्चिम बंगाल, ओडिशा और बांग्लादेश में जमकर कहर बरपाया। इसकी चपेट में आने से 24 लोगों के मारे जाने की खबर है। इनमें 12 लोग बांग्लादेश, 10 पश्चिम बंगाल और 2 ओडिशा के हैं।

जानकारी के मुताबिक ज्यादातर मौतें दीवारों के गिरने, पानी में डूबने और पेड़ों के गिरने और उनकी चपेट में आने से हुई है। इसका असर पश्चिम बंगाल के कोलकाता और हावड़ा में चारों ओर तबाही के रूप में देखा जा रहा है। हावड़ा में एक स्कूल भवन की छत उड़ गई और नारियल के पेड़ व बिजली के खंभे बड़ी संख्या में तूफान की चपेट में आ गए।

राहत की बात यह है कि चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ फिलहाल पूरी तरह से शांत हो गया है। अम्फान के शांत होते ही एनडीआरआफ की टीमें राहत कार्य में जुट गई हैं। पश्चिम बंगाल में पाँच और ओडिशा से करीब डेढ़ लाख लोगों को एनडीआरआफ की टीमों ने सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा दिए गए एक बयान के मुताबिक फिलहाल तूफान से राज्य को हुए नुकसान का आकलन करना मुश्किल है। उन्होंने बताया कि संचार पूरी तरह से बाधित हो गया है। क्षति की सीमा का पूरी तरह से आकलन करने में तीन-चार दिन लग सकते हैं।

पड़ोसी देश बांग्लादेश की बात करें तो अम्फान ने लाखों लोगों को बेघर कर दिया है। विद्युत मंत्रालय द्वारा जारी बयान के मुताबिक कम से कम एक लाख लोग बिजली की समस्या से जूझ रहे हैं। तटीय इलाकों के सैकड़ों गाँव पानी में डूब गए हैं। यहाँ तक कि करीब एक दर्जन से अधिक बाढ़ सुरक्षा के बाँध टूट गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (21 मई 2020) को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार प्रभावित लोगों की मदद के लिए हरसंभव प्रयास करेगी। चक्रवात अम्फान की तबाही के दृश्य पश्चिम बंगाल में देखे जा रहे हैं। इस चुनौतीपूर्ण समय में पूरा देश पश्चिम बंगाल के साथ एकजुटता के साथ खड़ा है। प्रभावित लोगों की मदद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

आपकों बता दें कि बुधवार (20 मई 2020) की रात 2:30 बजे आया चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच जमीन से टकराया था। 18 मई को गृह मंत्रालय ने अम्फान तूफ़ान (Amphan Cyclone) को लेकर चेतावनी जारी की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe