Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजRSS से जुड़ने पर हिंदू धर्म को समझने का मौका मिला, जाने लगे मंदिर:...

RSS से जुड़ने पर हिंदू धर्म को समझने का मौका मिला, जाने लगे मंदिर: प्रयागराज के प्रोफेसर एहसान अहमद ने की घर वापसी, कहलाएँगे अनिल पंडित

एहसान अहमद काफी समय से हिन्दू धर्म से प्रभावित थे। वो बजरंग बली के भक्त हैं और अक्सर मंदिर में जाकर पूजा अर्चना करते थे। एहसान ने एक हिन्दू लड़की से शादी भी की है। उनकी पत्नी उत्तर प्रदेश के ही बलिया जिले के एक इंटर कॉलेज में लेक्चरर हैं। उन्होंने हिंदू रीति-रिवाज से शादी की है।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में एक मुस्लिम प्रोफेसर ने घर वापसी की है। घर वापसी करने वाले असिस्टेंट प्रोफेसर का नाम एहसान अहमद है। अब वे अनिल पंडित के नाम से जाने जाएँगे। एहसान अहमद CMP डिग्री कॉलेज में अंग्रेजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर तैनात हैं। वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़े रहे हैं।

घर वापसी करने के बाद प्रोफेसर एहसान अहमद ने एक हिन्दू महिला से शादी की है। उनकी पत्नी भी इंटर कॉलेज में लेक्चरर हैं। फिलहाल एहसान अहमद गुरुवार (14 मार्च 2024) से अपनी घर वापसी के सरकारी कागजात बनवाने में व्यस्त हैं। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को अपने मतांतरण का आवेदन दिया है।

अपने आवेदन में प्रोफेसर एहसान अहमद ने लिखा है कि साल 2020 में वो राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़े थे। इस दौरान उन्हें हिन्दू धर्म के बारे में काफी कुछ समझने को मिला था। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व में उन्हें बहुत सी खूबियाँ दिखीं और इन्हीं खूबियों की वजह से उन्होंने अपनी मर्जी से घर वापसी का निर्णय लिया है।

प्रशासनिक अधिकारियों को दिए गए प्रार्थना पत्र में एहसान अहमद ने आगे बताया है कि उन्होंने पूरी तरह से सोच-समझ कर बिना किसी दबाव के घर वापसी का निर्णय लिया है। साथ ही उन्होंने अपना नाम एहसान अहमद से अनिल पंडित रखे जाने की भी जानकारी दी है। सर्टिफिकेट जारी होने के बाद एहसान अहमद अनिल पंडित के नाम से जाने जाएँगे।

प्रयागराज की एडीएम प्रशासन पूजा मिश्रा ने बताया कि एहसान अहमद के घर वापसी के कागजात और आवेदन प्राप्त हुए हैं। सभी दस्तावेजों की जाँच की जा रही है। जाँच के बाद जल्द ही एहसान अहमद को मतांतरण का प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाएगा। इसके बाद वे अपने कागजातों में नाम बदलवा सकेंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रोफेसर एहसान अहमद ने अपनी पढ़ाई इलाहाबाद विश्वविद्यालय से की है। यहाँ से उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन और पीएचडी किया है। पीएचजी के बाद उन्होंने विश्वविद्यालय में कुछ दिन पढ़ाने का भी काम किया। फिर वे इलाहाबाद डिग्री कॉलेज में लेक्चरर की तौर पर नियुक्त हो गए।

एहसान अहमद काफी समय से हिन्दू धर्म से प्रभावित थे। वो बजरंग बली के भक्त हैं और अक्सर मंदिर में जाकर पूजा अर्चना करते थे। एहसान ने एक हिन्दू लड़की से शादी भी की है। उनकी पत्नी उत्तर प्रदेश के ही बलिया जिले के एक इंटर कॉलेज में लेक्चरर हैं। उन्होंने हिंदू रीति-रिवाज से शादी की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -