Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजएक टीम उनके आगे, एक टीम उनके पीछे... मेवात में हिंदुओं पर हमले का...

एक टीम उनके आगे, एक टीम उनके पीछे… मेवात में हिंदुओं पर हमले का पहले से तैयार था प्लान, सोशल मीडिया से फैलाया गया

हमले से कुछ घंटे पहले मोहम्मद साबिर खान ने फेसबुक लाइव किया था। इस लाइव में उसने सड़क पर गैस सिलेंडर रखकर सरकार, मोनू मानेसर, और बजरंग दल को धमकी दी थी। उसने बताया था कि कैसे गैस सिलेंडर से विस्फोट कर हिंदुओं को निशाना बनाया जा सकता है।

हरियाणा के मेवात के नूहं जिले में सोमवार (31 जुलाई, 2023) को हिंदुओं की जलाभिषेक यात्रा पर मुस्लिम भीड़ ने हमला किया। पथराव, आगजनी और गोलीबारी की। विहिप ने कहा है कि इस हिंसा की कई दिनों से तैयारी चल रही थी। राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने भी इस हिंसा को पूर्व नियोजित साजिश करार दिया है। सोशल मीडिया में भी इस्लामी कट्टरपंथियों के ऐसे पोस्ट भरे पड़े हैं जिनसे पता चलता है कि हमले का प्लान पहले से रेडी था। सोशल साइट्स की मदद से इन्हें यात्रा से पहले फैलाकर हिंदुओं पर हमले के लिए उकसाया गया।

हमले से कुछ घंटे पहले मोहम्मद साबिर खान ने फेसबुक लाइव किया था। इस लाइव में उसने सड़क पर गैस सिलेंडर रखकर सरकार, मोनू मानेसर, और बजरंग दल को धमकी दी थी। उसने बताया था कि कैसे गैस सिलेंडर से विस्फोट कर हिंदुओं को निशाना बनाया जा सकता है।

एक अन्य पोस्ट में साबिर ने कहा था कि जितने भी लोग आ जाएँ, उनसे ज्यादा लोग तैयार रहो। किसी से कुछ मत कहो। एक टीम उनके आगे और एक उनके पीछे। उनको बीच में रहने दो। इसका मतलब साफ है कि कई टीमें बनाकर तैयारी की जा रही थी। दोनों तरह मुस्लिमों की भीड़ और बीच में हिंदुओं को रखकर खून-खराबे की प्लानिंग की गई थी।

अज़हर इसाब रानिया ने लिखा था, “मेरा सभी मेवात वासियों से निवेदन है वो 31 जुलाई को मेवात में गाड़ी (डंफर) अपने लिए नहीं मेवात की इज्ज़त के लिए चलाएँ।” मतलब साफ है कि मुस्लिम वाहन चालकों को भी हिंदुओं पर हमले की साजिश में शामिल होने के लिए उकसाया गया था।

एहसान अदबारया ने फेसबुक पर लिखा था, “अल्लाह हू अकबर… 31 जुलाई दिन सोमवार को देखते हैं।” इस पोस्ट में उसने आगे लिखा था, “तारीख-ए-फिरोजशाह तुगलक में मेव जाति का उल्लेख किया गया है। इसमें बताया गया है कि मेवातियों के डर से दिल्ली के चारों तरफ के दरवाजे बंद थे। हम तैयार हैं।” इस पोस्ट से ऐसा लगता है कि मेवात में मुस्लिमों की भीड़ हिंदुओं को घेरकर उन्हें खत्म करने की प्लानिंग में थी। दिल्ली के चारों तरफ के दरवाजे बंद होने का मतलब शायद बाहर भागने के रास्ते बंद करने और बाहर से किसी प्रकार की आने वाली सहायता को रोक देने से था।

अरबाज खान दहंगल ने मेवात के रास्ते में हिंदू संगठन के काफिले का वीडियो शेयर किया था। साथ में उसने कैप्शन में लिखा था, “नूहं मेवात नल्हड़ बजरंग दल गुंडागर्दी।” इस वीडियो के जरिए अरबाज खान अपने साथियों को हिंदूओं की लोकेशन भेज रहा था।

अरबाज खान दहंगल ने भी मोनू मानेसर का वीडियो शेयर कर धमकी दी थी। उसने लिखा था कि इसका स्वागत नहीं करोगे मेवाती भाई। इसका वेट करना भूल गए।

इसी तरह कुछ अन्य पोस्ट देखने से आपको इस्लामवादियों के ‘ईमान’ का अंदाजा हो जाएगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -