Saturday, March 6, 2021
Home देश-समाज अलीगढ़: पुलिस पर हमला कर गोतस्करों को छुड़ा ले गई भीड़, रुकसाना और शबाना...

अलीगढ़: पुलिस पर हमला कर गोतस्करों को छुड़ा ले गई भीड़, रुकसाना और शबाना गिरफ्तार

पिछले दिनों शहर के भुजपुरा इलाके में गोकशी की एक घटना हुई थी, जिसमें मुस्तकीम और रूसी पुत्र मुन्ना का नाम सामने आया था, तभी से अलीगढ़ पुलिस दोनों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में गोतस्करों को दबोचने वाली पुलिस टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया। हमलावरों ने दारोगा की वर्दी फाड़ दी और आरोपितों को छुड़ा लिया। इस घटना के सिलसिले में दो महिलाएँ गिरफ्तार की गई हैं।

गुरुवार (14 मई, 2020) दोपहर गोतस्करों को गिरफ्तार करने पहुँची पुलिस टीम पर हमला किया गया। भीड़ पुलिस की पकड़ से आरोपितों को छुड़ा ले गई। इसके बाद भारी संख्या में पहुँची पुलिस फोर्स ने हालत को सँभाला और मौके से दो महिलाओं को गिरफ्तार किया।

अमर उजाला की खबर के मुताबिक अलीगढ़ शहर के सासनी गेट थाना क्षेत्र के कासिम नगर इलाके में दारोगा हरेन्द्र सिंह, सिपाही बृजमोहन और ईश्वर दयाल गोकशी के आरोप में वांछित चल रहे दो आरोपितों को गिरफ्तार करने के लिए पहुँची थी। कासिम बाबा मस्जिद के पास से दोनों आरोपितों को पुलिस ने दबोच लिया।

दैनिक जागरण के अलीगढ़ संस्करण में प्रकाशित संबंधित खबर

इसकी जानकारी जैसे ही आसपास के लोगों को हुई उन्होंने इसका विरोध करते हुए पुलिस के साथ कहासुनी शुरू कर दी। दारोगा ने लोगों को समझाने की कोशिश की, लेकिन कहासुनी के बीच ही कुछ महिलाओं ने पुलिस के साथ हाथापाई करते हुए उनकी वर्दी को फाड़ दिया और हँगामा शुरू कर दिया। इतना ही नहीं हमलावर भीड़ में शामिल महिलाओं ने एक कॉन्स्टेबल के हाथ को काट लिया और इसी का फायदा उठाकर आरोपित पुलिस की पकड़ से भाग निकले।

पुलिस पर हमले की जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया और कुछ ही देर में थाना प्रभारी जावेद खां बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुँचे। लेकिन इससे पहले गोतस्करी के आरोपित मौके से फरार हो चुके थे।

आपको बता दें कि पिछले दिनों शहर के भुजपुरा इलाके में गोकशी की एक घटना हुई थी, जिसमें मुस्तकीम और रूसी पुत्र मुन्ना का नाम सामने आया था, तभी से अलीगढ़ पुलिस दोनों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी। थाना सासनी गेट इंस्पेक्टर जावेद खां के मुताबिक पुलिस पर हमला करने वालों में शामिल दो महिलाओं रुकसार और शबाना को गिरफ्तार कर लिया है।

आपको बता दें कि अलीगढ़ के भुजपुरा क्षेत्र में मौजूद सब्जी मंडी में पिछले महीने 22 अप्रैल को लॉकडाउन के दौरान समय अवधि पूरी होने पर पुलिस की एक छोटी टीम दुकानें बंद कराने पहुँची थी। इसी बीच अचानक से दुकानदारों ने भीड़ के साथ मिलकर पुलिस टीम पर ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया। इसमें एक पुलिसकर्मी घायल हुआ था और लेपर्ड बाइक में तोड़फोड़ की गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मनसुख हिरेन का शव लेने से परिजनों का इनकार, कहा- पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक हो, मौत का कारण बताएँ: रिपोर्ट

मनसुख हिरेन का शव लेने से परिजनों ने इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट सार्वजनिक किए जाने के बाद ही वे शव लेंगे।

राकेश टिकैत से सवाल पूछने पर ‘किसानों’ ने युवती को धमकाया, किसी ने नाम पूछा तो किसी ने छीन ली माइक: देखें वीडियो

नए कृषि कानूनों को लेकर मोदी सरकार का विरोध करने के लिए धनसा राजमार्ग पर डेरा डाले तथाकथित किसानों ने एक युवा महिला के सवाल करने पर इस कदर तिलमिला गए कि कोई उसका नाम पूछने लगा तो किसी ने माइक ही छीन ली।

‘वे पेरिस वाले बँगले की चाभी खोज रहे थे, क्योंकि गर्मी की छुट्टियाँ आने वाली हैं’: IT रेड के बाद तापसी ने कहा- अब...

आयकर छापों पर चुप्पी तोड़ते हुए तापसी पन्नू ने बताया है कि मुख्य रूप से तीन चीजों की खोज की गई।

ओडिशा के टाइगर रिजर्व में आग पशु तस्करों की चाल या प्रकृति का कोहराम? BJP नेता ने कहा- असम से सीखें

सिमिलिपाल का नाम 'सिमुल' से आया है, जिसका अर्थ है सिल्क कॉटन के वृक्ष। ये एक राष्ट्रीय अभयारण्य और टाइगर रिजर्व है।

माँ-बाप-भाई एक-एक कर मर गए, अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होने दिया: 20 साल विष्णु को किस जुर्म की सजा?

20 साल जेल में बिताने के बाद बरी किए गए विष्णु तिवारी के मामले में NHRC ने स्वत: संज्ञान लिया है।

मनसुख हिरेन की लाश, 5 रुमाल और मुंबई पुलिस का ‘तावड़े’: पेंच कई, ‘एंटीलिया’ के बाहर मिली थी विस्फोटक लदी कार

मनसुख हिरेन की लाश मिलने के बाद पुलिस ने इसे आत्महत्या बताया था। लेकिन, कई सवाल अनसुलझे हैं। सवाल उठ रहे कहीं कोई साजिश तो नहीं?

प्रचलित ख़बरें

माँ-बाप-भाई एक-एक कर मर गए, अंतिम संस्कार में शामिल नहीं होने दिया: 20 साल विष्णु को किस जुर्म की सजा?

20 साल जेल में बिताने के बाद बरी किए गए विष्णु तिवारी के मामले में NHRC ने स्वत: संज्ञान लिया है।

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

16 महीने तक मौलवी ‘रोशन’ ने चेलों के साथ किया गैंगरेप: बेटे की कुर्बानी और 3 करोड़ के सोने से महिला का टूटा भ्रम

मौलवी पर आरोप है कि 16 माह तक इसने और इसके चेले ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। उससे 45 लाख रुपए लूटे और उसके 10 साल के बेटे को...

‘मैं 25 की हूँ पर कभी सेक्स नहीं किया’: योग शिक्षिका से रेप की आरोपित LGBT एक्टिविस्ट ने खुद को बताया था असमर्थ

LGBT एक्टिविस्ट दिव्या दुरेजा पर हाल ही में एक योग शिक्षिका ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिव्या ने एक टेड टॉक के पेनिट्रेटिव सेक्स में असमर्थ बताया था।

‘जाकर मर, मौत की वीडियो भेज दियो’ – 70 मिनट की रिकॉर्डिंग, आत्महत्या से ठीक पहले आरिफ ने आयशा को ऐसे किया था मजबूर

अहमदाबाद पुलिस ने आयशा और आरिफ के बीच हुई बातचीत की कॉल रिकॉर्ड्स को एक्सेस किया। नदी में कूदने से पहले आरिफ से...

फोन कॉल, ISIS कनेक्शन और परफ्यूम की बोतल में थर्मामीटर का पारा: तिहाड़ में हिंदू आरोपितों को मारने की साजिश

तिहाड़ में हिंदू आरोपितों को मारने की साजिश के ISIS लिंक भी सामने आए हैं। पढ़िए, कैसे रची गई प्लानिंग।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,955FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe