Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'भारत के कण-कण और जन-जन का मैं पुजारी': अयोध्या में स्टेशन और एयरपोर्ट के...

‘भारत के कण-कण और जन-जन का मैं पुजारी’: अयोध्या में स्टेशन और एयरपोर्ट के लोकार्पण के बाद बोले PM मोदी, ₹16000 करोड़ की योजनाओं की सौगात

पीएम मोदी ने अयोध्या में महर्षि वाल्मीकि इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण कर दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि ये उनका सौभाग्य है कि वो रामलला के मंदिर निर्माण के साक्षी बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की इन परियोजनाओं से अयोध्या धाम और आसपास के पूरे इलाके की सूरत बदल जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में रेलवे स्टेशन के लोकार्पण और अमृत भारत एवं वंदे भारत ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई। इस दौरान पीएम मोदी ने रामपथ पर 15 किलोमीटर लंबा रोड शो भी किया। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निषाद समुदाय से जुड़े रविंद्र के घर गए और फिर उज्ज्वला योजना की लाभार्थी महिला के घर जाकर चाय पी। इसके बाद वे स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर चौक पहुँचे।

वहाँ से वापस आकर पीएम मोदी ने अयोध्या के महर्षि वाल्मीकि इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण किया। इस दौरान पीएम मोदी ने हजारों करोड़ की परियोजनाओं का भी लोकार्पण किया। पीएम मोदी ने कहा कि ये उनका सौभाग्य है कि वो रामलला के मंदिर निर्माण के साक्षी बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की इन परियोजनाओं से अयोध्या धाम और आसपास के पूरे इलाके की सूरत बदल जाएगी।

पीएम मोदी ने एयरपोर्ट का उद्घाटन करने के बाद लोगों को संबोधित भी किया। पीएम मोदी ने कहा, “आज पूरी दुनिया उत्सुकता के साथ 22 जनवरी के ऐतिहासिक क्षण का इंतजार कर रही है। ऐसे में अयोध्यावासियों में ये उत्साह… ये उमंग बहुत स्वाभाविक है। भारत की मिट्टी के कण-कण और भारत के जन-जन का मैं पुजारी हूँ। मैं भी आपकी तरह उतना ही उत्सुक हूँ।”

हिंदुओं के लिए प्रसिद्ध मोक्षदायिनी सप्तपुरी में से सातवीं अयोध्यापुरी में प्रधानमंत्री ने कहा, “हम सभी का ये उत्साह ये उमंग थोड़ी देर पहले अयोध्या की सड़कों पर भी पूरी तरह नजर आ रहा है। ऐसा लगता था, कि पूरी अयोध्या नगरी ही सड़क पर उतर आई है। इस प्यार, इस आशीर्वाद के लिए मैं आप सभी का हृदय से आभार व्यक्त करता हूँ।” इसके बाद पीएम मोदी ने लोगों से ‘सियावर रामचंद्र की जय’ के जयकारे भी लगवाए।

पीएम मोदी ने कहा, “देश के इतिहास में 30 दिसंबर की ये तारीख बहुत ही ऐतिहासिक रही है। आज के ही दिन 1943 में नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने अंडमान में झंडा फहराकर भारत की आजादी का जयघोष किया था। आजादी के आंदोलन से जुड़े ऐसे पावन दिवस पर आज हम आजादी के अमृत काल के संकल्प को आगे बढ़ा रहे हैं। विकसित भारत के अभियान को आगे बढ़ाने के लिए अयोध्या धाम से उर्जा मिल रही है।”

अयोध्या और उसके आसपास की परियोजनाओं को लेकर पीएम ने कहा, “आज 15 हजार करोड़ रुपए से अधिक की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास हुआ है। ये कार्य अयोध्यावासियों के अथक परिश्रम का परिणाम है। दुनिया में कोई भी देश हो, अगर उसे विकास की नई ऊँचाई पर पहुँचना है तो उसे अपने विरासत को सँभालना ही होगा। हमारी विरासत हमें प्रेरणा देती है, हमें सही मार्ग दिखाती है, इसलिए आज का भारत पुरातन और नूतन दोनों को आत्मसात करते हुए आगे बढ़ रहा है।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “एक समय था, जब इसी अयोध्या में रामलला टेंट में विराजमान थे, आज पक्का घर सिर्फ रामलला को ही नहीं, बल्कि पक्का घर देश के 4 करोड़ गरीबों को भी मिला है। आज भारत अपने तीर्थों को भी सँवार रहा है। वहीं, डिजिटल टेक्नोलॉजी की दुनिया में भी हमारा देश छाया हुआ है।” आज भारत काशी विश्वनाथ धाम के पुनर्निर्माण के साथ ही देश में 30 हजार से ज्यादा पंचायत भवन भी बनवा रहा है।”

उन्होंने कहा, “सिर्फ केदारनाथ का ही पुनर्निर्माण नहीं हुआ, 300 से ज्यादा मेडिकल कॉलेज भी बने हैं। सिर्फ महाकाल लोक ही विकसित नहीं हुआ, बल्कि हर घर पानी भी पहुँच रहा है। हम सूरज-चाँद को नाप रहे हैं तो भारत की कलाकृतियों को वापस भी ला रहे हैं। आज यहाँ प्रगति का उत्सव है तो कुछ दिन बाद परंपरा का उत्सव भी होगा। आज तकनीकी दिख रही है तो कुछ दिनों बाद अध्यात्म और विरासत भी दिखेगी। यही मेल भारत को 21वीं सदी में सबसे आगे ले जाएगी।”

पीएम मोदी ने कहा, “प्राचीन काल में अयोध्या नगरी कैसी थी, इसका वर्णन महर्षि वाल्मीकि ने विस्तार से किया है।” उन्होंने श्लोक सुनाकर बताया, “वाल्मीकि जी ने बताया है कि महान अयोध्यापुरी धन-धान्य, समृद्धि और आनंद से भरी थी। अयोध्या में विज्ञान और वैराग्य तो था ही, वैभव भी शिखर पर था। अयोध्या नगरी की उसी पुरातन पहचान को हमें आधुनिकता से जोड़कर वापस लाना है। आने वाले समय में अयोध्या नगरी अवध क्षेत्र ही नहीं, बल्कि पूरे यूपी के विकास को दिशा देने वाली है।”

उन्होंने आगे कहा, “अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर बनने के बाद यहाँ आने वाले लोगों की संख्या में भारी बढ़ोतरी होगी। इसको ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार अयोध्या में विकास कार्य करा रही है। आज अयोध्या में हाईवे चौड़े हो रहे हैं, नए पुल बन रहे हैं, नई सड़कें बन रही हैं। यातायात के साधनों को सुधारा जा रहा है। अयोध्या में बनने जा रही नई टाउनशिप लोगों के जीवन को आसान बनाएगी। विकास के कार्यों से लोगों के लिए रोजगार और स्वरोजगार के अवसर भी बनेंगे। इससे सभी की आय बढ़ेगी।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “आज मुझे अयोध्या धाम एयरपोर्ट और अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का लोकार्पण करने का सौभाग्य मिला। मुझे खुशी है कि अयोध्या एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि के नाम पर रखा गया है। महर्षि वाल्मीकि ने हमें रामायण के माध्यम से प्रभु राम से परिचित कराया। त्रिकालदर्शी महर्षि वाल्मीकि के नाम पर अयोध्या धाम एयरपोर्ट का नाम रखा गया है, जो हर यात्री को धन्य करेगा। महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण वो ज्ञानमार्ग है, जो हमें प्रभु श्रीराम से जोड़ती है।”

उन्होंने कहा, “आधुनिक एयरपोर्ट हमें दिव्य, भव्य, नव्य राममंदिर से जोड़ेगा। ये एयरपोर्ट हर साल 10 लाख यात्रियों की क्षमता वाला है। दूसरा चरण पूरा होने के बाद हर साल 60 लाख यात्रियों की सुविधा इस एयरपोर्ट पर होगी। इसी तरह से अभी रेलवे स्टेशन पर हर रोज 10-15 हजार की क्षमता है। काम पूरा होने पर हर दिन 60 हजार से ज्यादा लोग आ जा सकेंगे। इसी के साथ रामपथ, भक्तिपथ, श्रीराम जन्मभूमि पथ का भी लोकार्पण किया गया है।”

विकास कार्यों में बारे में बताते हुए पीएम ने कहा, “अयोध्या में मेडिकल कॉलेज से लेकर हर सुविधा विकसित की जा रही है। सरयू को प्रदूषण से बचाने के लिए जलशोधन केंद्र बनाया जा रहा है। प्राचीन कुंडों का उद्धार किया जा रहा है। अयोध्या धाम की धरती से अमृत भारत ट्रेन की शुरुआत हुई है। वंदे भारत, नमो भारत और अमृत भारत की ये त्रिशक्ति भारतीय रेलवे का कायाकल्प करने वाली है। इसकी पहली अमृत भारत ट्रेन अयोध्या से गुजर रही है।”

उन्होंने कहा, “दरभंगा से आने वाली ये ट्रेन बिहारवासियों के लिए भगवान रामलला के दर्शन को सुलभ बनाएगी। इससे गरीब परिवारों को भी मदद मिलेगी। ये ट्रेन कम आय वाले वर्गों के लिए भी आरामदायक सफर उपलब्ध कराएगी। गरीब के जीवन की भी गरिमा है, इसी ध्येय के साथ इन ट्रेनों को डिजाइन किया गया है।” पीएम मोदी ने कहा कि विकास और विरासत को जोड़ने में वंदे भारत ट्रेन अहम भूमिका निभा रही है। देश की पहली वंदे भारत ट्रेन काशी से चली थी और आज देश की पहली अमृत भारत ट्रेन अयोध्या से चल रही है।

अयोध्या हवाई अड्डे की खासियत

पीएम मोदी ने जिस अत्याधुनिक हवाई अड्डे का उद्घाटन किया, उसके पहले चरण को 1450 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से विकसित किया गया है। हवाई अड्डे के टर्मिनल भवन का क्षेत्रफल 6500 वर्गमीटर का है, जो सालाना लगभग 10 लाख यात्रियों की सेवा के लिए सुसज्जित है। टर्मिनल भवन का अगला हिस्सा अयोध्या के श्रीराम मंदिर की वास्तुकला को दर्शाता है। टर्मिनल भवन के अंदरूनी हिस्सों को भगवान श्रीराम के जीवन को दर्शाने वाली स्थानीय कला, पेंटिंग और भित्तिचित्रों से सजाया गया है।

अयोध्या हवाई अड्डे का टर्मिनल भवन विभिन्न सुविधाओं से सुसज्जित है, जैसे इन्सुलेशन छत प्रणाली, एलईडी प्रकाश व्यवस्था, वर्षा जल संचयन, फव्वारे के साथ भूनिर्माण, जल उपचार संयंत्र, सीवेज उपचार संयंत्र, सौर ऊर्जा संयंत्र तथा ऐसी कई अन्य सुविधाएँ प्रदान की गई हैं। ये सभी सुविधा गृह 5 स्टार रेटिंग के अनुरूप हैं। इस हवाई अड्डे से क्षेत्र में कनेक्टिविटी में सुधार होगा, जिससे पर्यटन, व्यावसायिक गतिविधियों और रोजगार के अवसरों को बढ़ावा मिलेगा।

प्रधानमंत्री ने किया इन परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास

पीएम मोदी ने सुबह अयोध्या एयरपोर्ट के गेट नंबर 3 से रामपथ पर 15 किलोमीटर लंबा रोड शो किया। इसके बाद पीएम मोदी ने अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का लोकार्पण किया। उस उन्होंने नई अमृत भारत ट्रेनों और वंदे भारत ट्रेनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। उन्होंने अयोध्या से ही पूरे राज्य में फैली 15,700 करोड़ रुपए से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया।

इनमें अयोध्या और उसके आसपास के क्षेत्रों के विकास के लिए लगभग 11,100 करोड़ रुपए की परियोजनाएँ और पूरे यूपी में अन्य परियोजनाओं से संबंधित लगभग 4600 करोड़ रुपए की परियोजनाएँ शामिल हैं। पीएम की परिकल्‍पना अयोध्या में आधुनिक विश्वस्तरीय संचरना का विकास, कनेक्टिविटी में सुधार और शहर के समृद्ध इतिहास एवं विरासत के अनुरूप सुविधाओं का कायाकल्‍प करना है।

पीएम की इस परिकल्‍पना को साकार रूप देने के लिए शहर में एक नए हवाई अड्डे, नए पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन, नव पुनर्विकसित चौड़ी और सौन्‍दर्यपूर्ण सड़कों तथा अन्य नागरिक अवसंरचना का उद्घाटन किया गया। इसके अलावा, कई नई परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी गई, जो अयोध्या और उसके आसपास नागरिक सुविधाओं के सौंदर्यीकरण और सुधार में योगदान देंगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -