Friday, May 31, 2024
Homeदेश-समाजग्राम प्रधानी चुनाव का झगड़ा मेरठ-बागपत हाइवे पर: सड़क पर चूने की लकीर खींची,...

ग्राम प्रधानी चुनाव का झगड़ा मेरठ-बागपत हाइवे पर: सड़क पर चूने की लकीर खींची, फिर इमरान और जमालुद्दीन गुट के बीच जंग

लड़ाई सड़क पर चूने की लाइन खींचकर लड़ी गई। पहले दोनों पक्षों ने एक-दूसरे को चुनौती दी कि अगर दम हो तो वे लाइन पार कर दिखाए। इसके बाद सब लोग अपना जोर दिखाने के लिए लाइन पार करके हमला करने लगे।

उत्तर प्रदेश के मेरठ-बागपत हाइवे पर दो पक्षों का आपसी मामला उस समय बवाल में तब्दील हो गया, जब दोनों पक्ष के लोग चूने की एक लाइन खींचकर एक-दूसरे पर पथराव करने लगे। पूरी घटना में एक युवती समेत 12 लोग घायल हुए हैं, जबकि उपद्रव के चलते हाइवे 1 घंटे तक बंद रहा।

टाइम्स नाऊ द्वारा जारी वीडियो में आप देख सकते हैं कि सड़क पर चूने की एक लकीर खींची गई है और लोग बिल्डिंग पर खड़े होकर व सड़कों पर निकलकर एक-दूसरे पर पत्थरबाजी कर रहे हैं। सड़कों पर जगह-जगह पत्थर बिखरे देखे जा सकते हैं। वहीं, लोगों के हाथों में लाठियाँ भी साफ दिख रही हैं।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, ये मामला ग्राम प्रधानी के चुनाव में डौला निवासी इमरान नामक प्रत्याशी को मिली हार से जुड़ा हुआ है। चुनावों में हारने के बाद इरफान का अपने ही गाँव के जमालुद्दीन के परिवार से विवाद चल रहा है। दो दिन पूर्व दोनों पक्षों में झगड़ा हो गया था। इसमें इरफान पक्ष का युवक फारुख घायल हो गया था। 

इसी को लेकर शुक्रवार (2 जुलाई 2021) को इरफान के मकान पर पंचायत हो रही थी, लेकिन मामला सुलझने की बजाय दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। देखते-ही-देखते पूरा मामला झगड़े में बदल गया। दोनों पक्षों के बीच पथराव, लाठी-डंडे व धारदार हथियार चले और फायरिंग हुई। स्थिति देख भगदड़ मच गई। पथराव के दौरान हाइवे के दोनों ओर वाहनों की लाइन लग गई।

ये सारी लड़ाई सड़क पर चूने की लाइन खींचकर लड़ी गई। पहले दोनों पक्षों ने एक-दूसरे को चुनौती दी कि अगर दम हो तो वे लाइन पार कर दिखाए। इसके बाद सब लोग अपना जोर दिखाने के लिए लाइन पार करके हमला करने लगे। मौके पर पहुँच पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद हालात पर काबू पाया। जाँच में सड़क से एक कारतूस का खोखा बरामद हुआ है।

घटना में इरफान, उसका बेटा फिरोज, बेटी अफरोजी और सोनी के अलावा सोनू, रहीसुद्दीन व दूसरे पक्ष से जमालुद्दीन व अन्य लोग घायल हुए हैं। घायलों का इलाज चल रहा है। वहीं, इस दौरान वाहनों के क्षतिग्रस्त होने की भी सूचना है। सर्कल ऑफिसर अनुज मिश्रा ने झगड़े की पुष्टि करते हुए मामले में जाँच के बाद कार्रवाई करने को कहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -